गृहशोभा विशेष

आज के दौर में युवाओं में टैटू बनवाने का शौक खास है. ये उनका स्टाइल स्टेटमेंट बन चुका है. हर स्टाइल पसंद यूथ शरीर पर टैटू अवश्य बनवाते हैं, उनका ये शौक बौलीवुड के सितारों को देखकर भी बढ़ा है. वैसे तो टैटू भारत के लिए नया नहीं है, पर समय के साथ-साथ उसमें परिवर्तन जरुर आया है. जिसमें खासकर टैटू का बदलना भी शामिल है.

beauty

तकनीक के इस युग में आज के अधिकतर यूथ हर चीज को तुरंत करना पसंद करते हैं, प्यार, रिश्ता, उसकी गहराई को जताने में जितनी जल्दी वे डूब जाते हैं, उतनी ही जल्दी उसमें से निकल जाने में विश्वास रखते हैं. ऐसे में टैटू पर सबसे अधिक असर दिखाई पड़ता है, क्योंकि प्यार के इजहार के लिए वे अधिकतर टैटू का ही सहारा लेते हैं और जब प्यार टूटता है, टैटू को भी वे मिटा देना पसंद करते हैं. हालांकि ये करना आसान नहीं होता, लेकिन अगर अच्छे टैटू आर्टिस्ट मिले तो परिवर्तन करना मुश्किल भी नहीं होता.

beauty

इस बारें में एलिएंस टैटू के टैटू आर्टिस्ट सनी भानुशाली कहते है कि टैटू का प्रचलन सालों से है पुराने जमाने में महिलाएं अपने पति का नाम और फूल पत्ती से टैटू बनवाती थीं. कुछ महिलाएं कम पढ़ी लिखी होने और कहीं खो जाने के डर से भी पति का नाम अपने हाथ पर लिखवाने के लिए टैटू यानि गोदना बनवाती थीं. उस समय टैटू का इतना मान नहीं था. इतना ही नहीं आज से 10 साल पहले भी टैटू बनाने वाले को ‘ड्रगिस्ट’ समझा जाता था, लेकिन आज मेरे यहां लड़के और लड़कियां बराबर की संख्या में टैटू बनाने का प्रशिक्षण लेने आते हैं, परिवार वाले भी उन्हें भेजते हैं और वे इसे कमाई का एक जरिया भी मान रहे हैं.

beauty

आज की पीढ़ी टैटू को स्टाइल स्टेटमेंट मानने और फैशन में इसकी जगह देने की वजह से इसका बाजार बढ़ा है. लड़के हो या लड़कियां दोनों की संख्या समान होती है. टैटू बनवाकर वे अपने पार्टनर के प्रति प्यार का इजहार करते हैं, पर इसी प्यार में अगर दरार आती है तो वे इसे बदल देना उचित समझते हैं. हर सप्ताह करीब दो से तीन यूथ इसे बदलने आते हैं. ये वे युवा होते हैं, जिन्होंने अपने पार्टनर का नाम का टैटू पहले बनवाया है और जब पार्टनर अलग हो गया हो या उसकी शादी होने वाली हो, तो वे अधिकतर टैटू को जल्दी से बदल देना चाहते हैं. कई बार तो वे शादी के एक दिन पहले आकर भी टैटू को बदलवाते हैं. टैटू के बदलने में यह देखना जरुरी होता है कि जो भी डिजाईन उस समय बनायीं जाय, वह अर्थपूर्ण डिजाईन या चिह्न हो. जो सालों साल उन्हें अच्छा लगे.

अपने अनुभव के बारें में सनी हंसते हुए आगे बताते हैं कि एक लड़की मेरे पास सुहागरात के दिन टैटू बदलवाने आई थी, वह इतनी परेशान थी कि कैसे भी उसे टैटू मिटाना है, मुश्किल था, पर मैंने सही तरीके से टैटू को बदला. उसके हिसाब से अगर उसका पति इसे देख लेगा तो बहुत गड़बड़ हो जाएगी. टैटू को बदलने में भी समय लगता है, क्योंकि उसे सही फोर्मेट में बिठाना पड़ता है, जिसके लिए पहले होमवर्क करना जरुरी होता है. इसे सूखने में 8 घंटे लगते है, मैंने किया ताकि उसका पारिवारिक जीवन सुखी हो. इस तरह मैं कई शादियों को टूटने से बचाता हूं.

beauty

ब्रेक अप टैटू को कवर अप करने के तरीके निम्न है,

  • पहले से बनाये गए टैटू को कवरअप करने के लिए प्रेरणा वादी डिजाईन्स का अधिक सहारा लिया जाता है,
  • लोक साहित्य को लेकर उसमें भावनाओं को मिलाकर दूसरी डिजाईन बनाए जाने पर पुराना टैटू उसमें छिप जाता है और एक नया फ्रेश टैटू उभरकर सामने आता है,
  • ‘ब्लैक आउट टैटू’ जिसे ‘डार्क बौडी आर्ट’ भी कहा जाता है, आज का नया ट्रेंड है, जो अधिकतर पुराने टैटू को छिपाने में कारगर साबित होता है,

ये सही है कि टैटू को बदला जा सकता है, पर इसे करना मुश्किल और खर्चीला भी होता है, ऐसे में मैं प्यार करने या डेटिंग करने वाले यूथ जो मेरे पास आते हैं उनको अधिकतर उनके फीलिंग्स और यादों से जुड़े विषयों पर टैटू बनवाने की सलाह देता हूं, ताकि बाद में उन्हें किसी समस्या का सामना न करना पड़े. मसलन जैसे उनका सपना, उनकी खुशी, उनके साथ बिताएं कुछ यादगार पल आदि.

टैटू बदलना मुश्किल नहीं, पर कुछ बातें हमेशा ध्यान में रखना चाहिए

  • कवरअप केवल एक बार हो सकता है, इसलिए सोच समझकर करवाएं,
  • एक अच्छे टैटू आर्टिस्ट की तलाश करें, उसके काम के बारें में अच्छी खोजबीन करें,
  • वह क्या बनाने वाला है, उससे मिलकर देख लें,
  • हाईजीन को अच्छी तरह परख लें.
आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं