गृहशोभा विशेष

सर्दियों के आते ही महिलाओं की आम समस्या होती है कांतिहीन और शुष्क त्वचा, जिस का खास कारण होता है सूखी हवा. यानी आप के आसपास के वातावरण में नमी की कमी. सूखी हवा आप की त्वचा से नमी को सोख लेती है और उसे कांतिहीन व शुष्क बना देती है.

यहां कुछ ऐसे सरल उपाय बताए जा रहे हैं, जो इन सर्दियों में आप की त्वचा का खयाल रखेंगे और उसे नमी व कांति प्रदान करेंगे-

1  रोजाना कुनकुने पानी में शौवर लें और तौलिए से थपथपा कर त्वचा सुखाएं. त्वचा को रगड़ें नहीं.

2  स्नान के तुरंत बाद जब त्वचा नम हो तब एक क्रीम बेस्ड मौइश्चराइजर अपने पूरे शरीर पर लगाएं. अतिरिक्त सुरक्षा के लिए ‘शी’ बटर या कोकोआयुक्त मौइश्चराइजर का चयन करें.

3  वैसे अपनी त्वचा को नम व कोमल रखने के लिए नहाने के पानी में जैतून या नारियल तेल की कुछ बूंदें डालें.

4  कोमल शौवर जैल इस्तेमाल करें और कठोर व अत्यधिक खुशबूदार साबुन से परहेज करें.

5  त्वचा से मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए कुछ हफ्तों के अंतराल पर एक बार आप को अपनी त्वचा को रगड़ना पड़ सकता है.

6  होंठों को फटने से बचने के लिए नियमित रूप से उन पर लिप बाम लगाती रहें. होंठों को अपनी लार से नम करने की गलती न करें, क्योंकि इस से वे और खराब हो जाएंगे. एक पुराना व घरेलू नुसखा भी है- शहद में कुछ बूंदें जैतून तेल की मिला कर अपने होंठों पर लगाएं और उन्हें आर्द्र बनाए रखें.

7  घर के कामकाज करते वक्त दस्ताने जरूर पहनें. खासकर तब, जब आप डिटर्जैंट आदि का इस्तेमाल कर रही हों. ऐसा कर के आप अपने हाथों को खुरदरा होने से बचा सकेंगी. इस के अलावा, घरेलू काम खत्म करने के बाद दिन में 2-3 बार अपने हाथों पर एक अच्छी हैंड क्रीम लगाएं.

8  सर्दियों के मौसम में एडि़यां आसानी से क्रैक हो जाती हैं. इसलिए मृत त्वचा को निकालने के लिए समयसमय पर ऐक्सफोलिएट इस्तेमाल करें और उस के बाद ऐसी पैट्रोलियम जैली या ग्लिसरीन बेस्ड क्रीम लगाएं, जिस में यूरिया या लैक्टिक ऐसिड मौजूद हो. आप हर रोज रात में फुट क्रीम लगा सकती हैं और ऊपर से सूती मोजे पहन सकती हैं.

9  अपने केशों व शरीर की सप्ताह में एक बार कुनकुने तेल से मालिश करें. इस के लिए आप जैतून या नारियल का तेल इस्तेमाल करें.

10 धूप में निकलने से आधा घंटा पहले अपने चेहरे व हाथों पर सनस्क्रीन लगाएं. यदि आप को ज्यादा वक्त बाहर रहना है, तो 3-4 घंटे बाद फिर सनस्क्रीन लगाएं.

11 सर्दियों में भी खूब पानी पीएं.

12 कठोर पील्स, मास्क, टोनर, ऐस्ट्रिंजैंट या अन्य किसी ऐसे त्वचा अथवा हेयर स्टाइलिंग उत्पाद से परहेज करें जिस में अल्कोहोलिक कंटैंट ज्यादा हो. क्योंकि जब अल्कोहल वाष्प बन कर उड़ता है, तो त्वचा की नमी भी उड़ा ले जाता है.

13 सर्दियों में आप घर की बनी एक और चीज भी इस्तेमाल में ला सकती हैं. ऐवोकैडो को जैतून तेल की कुछ बूंदों या दही में मिश्रित करें, पिसे बादाम मिलाएं और इस मिक्सचर को स्नान से पहले अपने पूरे शरीर पर मलें. 20 मिनट बाद इसे धो लें और उस के बाद नहाएं.

14 यह समझना अत्यावश्यक है कि सस्ते उत्पाद भी उतना ही अच्छा काम कर सकते हैं जितना कि महंगे उत्पाद. अहम बात यह है कि आप की त्वचा उस उत्पाद पर कैसी प्रतिक्रिया देती है और आप को उस के साथ कैसा अनुभव होता है, न कि आप ने कितना पैसा खर्च किया.

15 कम से कम एक बार त्वचा विशेषज्ञ के पास जाना भी एक अच्छा तरीका है. विशेषज्ञ आप की त्वचा की किस्म का विश्लेषण कर के, त्वचा की देखभाल हेतु परामर्श देता है, विकारों को दूर करता है और आप को त्वचा के लिए किस प्रकार के उत्पाद इस्तेमाल करने चाहिए, यह बताता है.

– डा. नितिन एस. वालिया
(वरिष्ठ त्वचा विशेषज्ञ, बीएलके सुपर स्पैशलिटी हौस्पिटल)

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं