गरमी का मौसम आते ही फैशन का रंग बदल जाता है. गरमी से हर कोई परेशान हो जाता है. हर किसी को इस बात की चिंता रहती है कि इन दिनों आखिर क्या पहनें ताकि स्टाइलिश भी दिखें और गरमी भी न लगे.

यह सही है कि गरमी के मौसम में सूती कपड़े खासा आरामदायक होते हैं. ये पसीना सोखते हैं और गरमी से राहत देते हैं.

इस बारे में डिजाइनर श्रुति संचेती कहती हैं कि गरमी के मौसम में सही कपड़ों का चयन करना एक चुनौती होती है, क्योंकि यही वह समय है जब स्कूल की छुट्टियां शुरू होती हैं. लोग बाहर घूमने जाते हैं. ऐसे में गरमी से राहत पाने के लिए सही पोशाक पहनना आवश्यक है. पेश हैं, इस संबंध में कुछ टिप्स:

– धूप को परावर्तित कर गरमी से राहत देने वाले कपड़े पहनें.

– इस मौसम में नैचुरल फैब्रिक यानी कौटन, मलमल, खादी, बौयल के कपड़े सही रहते हैं.

– कपड़ों के बाद रंगों का चयन भी सही करें. ऐक्वा ब्लू, बेज, सफेद, क्रीम, मिंट ग्रीन, सोरबे औरेंज, सौफ्ट पीच आदि रंग के कपड़े मानसिक रूप से भी ठंडक प्रदान करते हैं.

– इस मौसम में काले या डार्क रंग के कपड़े कम पहनें.

– कपड़े अधिक टाइट न पहनें. शरीर से चिपकने वाले कपड़े पहनने पर पसीना तो आता ही है, शरीर से चिपकने पर भद्दे भी दिखते हैं, इसलिए लूज फिटिंग के कपड़े पहनें.

– घूमनेफिरने के लिए बाजू वाले कपड़े ठीक रहते हैं, पर औफिस के लिए हाफ बाजू वाले टौप चुनें ताकि पसीने को आसानी से सोख सकें.

– प्रिंट वाले कपड़ों में डिजिटल प्रिंट, रोटरी प्रिंट आदि पहनें.

– इस मौसम में कैप्री, कुरता, पलाजो पैंट, स्कर्ट आदि जो थोड़ी हवादार हो, पहनें. साड़ी पहनने वाली महिलाएं स्लीवलैस ब्लाउज पहनें.

– जींस के बजाय ट्राउजर पहनें. लिनेन के ट्राउजर काफी आरामदायक होते हैं.

– गरमी के मौसम में मेकअप हलका करें. लिप कलर और आईलाइनर अच्छा रहता है. अधिक

– मेकअप इस समय पसीने से पिघल जाता है और आप की खूबसूरती को खराब कर देता है. सनस्क्रीन अवश्य लगाएं.

– ज्वैलरी भी हलकी पहनें या फिर न ही पहनें. हैट और सनग्लासेज इस मौसम में लगाना ठीक रहता है.

– इस मौसम में बंद शूज या सैंडल्स न पहनें.

– फ्रैश और कूल महसूस करने के लिए हाइजीन का खास खयाल रखें.

गरमी के बाद आता है मौनसून. बारिश की बूंदें गरमी से राहत तो देती हैं पर पहनावा क्या हो, इस पर विचार करना आवश्यक है. डिजाइनर श्रुति कहती हैं कि अगर बारिश में सही वस्त्र पहने जाएं तो इस मौसम का मजा दोगुना हो जाता है. इस मौसम में इन बातों का रखें ध्यान:

– मौनसून में पौलिएस्टर, रेयोन, मिक्स मैन मेड फैब्रिक, लाइक्रा, जौर्जेट आदि अधिक पहनें. ये भीग जाने पर जल्दी सूख जाते हैं और बदन से चिपकते भी नहीं.

– सूती कपड़े, जींस बारिश में कभी न पहनें, क्योंकि ये कपड़े भीग जाने पर जल्दी क्रश हो जाते हैं और सूखने में भी समय लगता है.

– इस मौसम में चटकीले रंग पहनें, क्योंकि बरसात में मौसम डल या ग्रे रहता है. ऐसे में फ्रैश कलर आप के मानसिक स्वास्थ्य को भी ठीक रखते हैं. फ्रैश रैड, बर्न औरेंज, इमरल्ड ग्रीन आदि रंग ताजगी देते हैं.

– बरसात में नीलैंथ कपड़े पहनें. इस से नीचे से कपड़े के गीला होने का डर कम रहता है. कैप्री, मिडी, नीलैंथ पलाजो पैंट या ट्राउजर्स पहनना ठीक रहता है. सफेद और काले रंग के कपडे़ इस मौसम में न पहनें.

– बारिश में वाटरप्रूफ मेकअप करें, जिस में काजल, आईलाइनर अवश्य लगाएं. लिपस्टिक ड्रैस के अनुसार लगाएं. फाउंडेशन वाटरप्रूफ हो, इस का खयाल रखें.

– मौनसून में नमी बालों को उलझा सकती है, इसलिए बालों का जूड़ा या चोटी बना कर रखें और बारिश में भीगने से बचाएं.

– ड्रैस को स्टाइलिश बनाने के लिए कलरफुल जैकेट या विंडशिटर पहनें. छाता अपने परिधान के अनुसार चुनें.

– मौनसून में चमड़े के जूते या सैंडल न पहनें, क्योंकि ये जल्दी गीले होते हैं और फिर सूखने में काफी समय लगता है. आजकल बाजार में कई प्रकार के स्टाइलिश रबड़ के शूज उपलब्ध हैं. उन्हें पहनें. बिना हील वाली चप्पलें, गम बूट्स, जैली शूज आदि पहनें ताकि फिसलने का डर न रहे.

– इस मौसम में फुटवियर को पहनने के बाद घर आ कर धो कर अच्छी तरह सुखा लें

साथ ही पैरों को भी अच्छी तरह धो लें.ताकि किसी प्रकार की त्वचा संबंधी बीमारी न हो.