गृहशोभा विशेष

स्वस्थ और दमकती त्वचा पाने के लिए संतुलित और पौष्टिक आहार बेहद जरूरी है. जो आहार आप की त्वचा के लिए सही होगा वह आप के पूरे स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद साबित होता है. आप अगर नरमकोमल त्वचा पाना चाहती हैं, तो पेश हैं त्वचा विशेषज्ञा द्वारा सुझाए गए आहार से जुड़े कुछ टिप्स:

अधिक मीठे के सेवन से परहेज करें

इस तरह के भोजन में चीनी, चावल, आलू और मीठे से बने पेयपदार्थ शामिल हैं. ये आप की त्वचा के लिए नुकसानदेह साबित होते हैं. इन के सेवन से आप अपनी उम्र से अधिक दिखने लगती हैं. लेकिन यह भी सही है कि आप के शरीर को कार्बोहाइड्रेट्स की भी जरूरत होती है. ऐसे में आप अपने आहार में लो ग्लिसिमिक फल और सब्जियां शामिल कर सकती हैं.

गुड फैट का चयन

गुड फैट स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है. वह आप को ऐंटीऔक्सीडैंट मुहैया कराता है ताकि आप की त्वचा पर उम्र का असर न दिखे. गुड फैट यूथ प्रिजर्विंग ऐंटीऔक्सीडैंट का भी निर्माण करता है. फैटी फिश ओमेगा थ्री फैटी ऐसिड का अच्छा स्रोत है, जो ऐंटीऐजिंग के तौर पर काम करता है और आप को लंबे समय तक जवां रखता है. फैटी ऐसिड से आप अपनी खूबसूरती और त्वचा की रंगत में निखार ला सकती हैं. अगर आप इस का सेवन न करती हों तो अपने डाक्टर की सलाह पर किसी दूसरे ओमेगा सप्लिमैंट का सेवन कर सकती हैं या फिर जैतून के तेल का भी सेवन कर सकती हैं.

त्वचा के लिए फायदेमंद

बैरीज

ये स्वाद और रंग से लबरेज होती हैं. ब्लू बैरीज, स्ट्राबैरी, रसबैरी, क्रैन बैरीज और ब्लैक बैरीज ये तमाम किस्में कैंसर से लड़ने और रोगनिरोधक ऐंटीऔक्सीडैंट से युक्त होती हैं. साथ ही ये त्वचा के प्राकृतिक ऐंटीऔक्सीडैंट को बचाने में भी मदद करती हैं. ऐंटीऔक्सीडैंट से भरपूर इन बैरीज को आप सलाद के तौर पर भी अपने भोजन में शामिल कर सकती हैं.

टमाटर

टमाटरों से हर तरह की त्वचा को फायदा पहुंचता है. इन में विटामिन सी, विटामिन के, विटामिन ए और लाइकोपिन जैसे तत्त्व होने के कारण इन्हें ऐंटीऔक्सीडैंट का पावरहाउस कहा जा सकता है. टमाटरों में मौजूद लाइकोपिन ही उन्हें लाल बनाता है और यही लाइकोपिन त्वचा के लिए कवच का काम करता है. इस से शरीर का सनप्रोटैक्शन फैक्टर बढ़ जाता है, जिस के चलते हमारी त्वचा पर सूर्य की अल्ट्रावायलेट किरणों का असर कम हो जाता है.

हरी सब्जियां

हरी सब्जियां जैसे पालक, ब्रोकली आदि विटामिन से भरपूर होती हैं. आप अपने आहार में जितनी हरी सब्जियां शामिल करेंगी आप को उन का उतना ज्यादा लाभ मिलेगा. इस से आप के चेहरे की रंगत और ताजगी बनी रहेगी.

नट्स

विटामिन ए, विटामिन ई और दूसरे हैल्दी फैट्स की प्रचुर मात्रा में मौजूद होने से अखरोट और ब्राजीलियन नट्स आप की त्वचा के सन डैमेज के खतरे को कम करते हैं और त्वचा से जुड़े दूसरे विषैले पदार्थों से बचाते हैं.

पानी

प्रतिदिन पानी पीने की मात्रा हर व्यक्ति की अलगअलग हो सकती है. लेकिन त्वचा की जरूरत के हिसाब से 1 दिन में 1 व्यक्ति को कम से कम 8 गिलास पानी जरूर पीना चाहिए ताकि शरीर को कोशिकाएं खुश्क न हों और उन तक पोषक तत्त्व आसानी से पहुंच सकें. साथ ही शरीर के विषैले पदार्थ भी आसानी से बाहर निकल सकें.

ग्रीन टी

ग्रीन टी पीना भी त्वचा के लिए काफी फायदेमंद है. यह सन डैमेज से होने वाले नुकसान को कम करती है, साथ ही चेहरे के दागधब्बों को कम करने में भी सहायक होती है और अल्ट्रावायलेट किरणों की वजह से होने वाली जलन को भी रोकती है. इन के अलावा ग्रीन टी में मौजूद पौलीफिनोल्स बढ़ती उम्र के लक्षणों को रोकने में भी सहायक होते हैं, इसलिए आप को लंबे समय तक जवां रखते हैं. अपनी त्वचा की रंगत के बचाव के लिए आप दिन में 2-3 कप ग्रीन टी का सेवन कर सकती हैं.

तरबूज

तरबूजे में पाए जाने वाले सिट्रुलिन जैसे तत्त्व इसे त्वचा के लिए खास बनाते हैं. सिट्रुलिन शरीर में पहुंच कर अर्जिनाइन का निर्माण करते र्हैं और यही अर्जिनाइन आगे चल कर अमोनिया और शरीर के दूसरे टौक्सिंस को दूर करने का काम करते हैं.

अनार

इस फल में काफी मात्रा में ऐंटीऔक्सिडैंट्स पाए जाते हैं, जो शरीर खासकर त्वचा पर अल्ट्रावायलेट किरणों के खतरे को कम करते हैं. अनार के सेवन से त्वचा के रंग को भी बरकरार रखा जा सकता है.

किवीज

किवीज जैसे स्वादिष्ठ फल में संतरे के मुकाबले विटामिन सी दोगुनी मात्रा में पाया जाता है. साथ ही इस में फाइबर, पोटैशियम व विटामिन ई की भी काफी मात्रा होती है.

डार्क चौकलेट

डार्क चौकलेट में ऐंटीऔक्सीडैंट तत्त्व की भरमार होती है. हाल में हुए शोध बताते हैं कि डार्क चौकलेट न सिर्फ दिल और रक्तधमनियों का खयाल रखती है बल्कि यह आप की त्वचा का भी खयाल रखती है.

गाजर

गाजर बीटा कैरोटिन का अच्छा स्रोत है. बीटा कैरोटिन शरीर में जा कर विटामिन ए में तबदील हो जाता है, जो त्वचा की कोशिकाओं के निर्माण और उन के रखरखाव में मदद करता है. साथ ही यह त्वचा को खुश्क होने से भी बचाता है. गाजर का सेवन त्वचा के लिए प्राकृतिक सनक्रीम का भी काम करता है, जिस से त्वचा को 2-4 एसपीएफ फैक्टर मिलता है.

– डा. वरुण कत्याल, स्किन ऐंड वैलनैस ऐक्सपर्ट

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं