गृहशोभा विशेष

सजने संवरने का असली मजा सर्दियों में ही होता है. लेकिन ब्यूटी ऐक्सपर्ट का कहना है कि 80% महिलाओं को इस मौसम में स्किन ड्राइनैस की समस्या हो जाती है, क्योंकि जब तापमान गिरता है, तो त्वचा का मौइश्चराइजर स्तर भी कम हो जाता है. और फिर सर्दियों में रक्तप्रवाह भी धीमा हो जाता है, जिस का असर चेहरे पर सब से ज्यादा नजर आता है. चेहरा बेजान सा लगता है.

नोएडा के ऐंजल ब्यूटीपार्लर की ब्यूटीशियन सीमा अग्रवाल बता रही हैं कि इस मौसम में कैसे अपनी त्वचा की देखभाल कर के अपनी खूबसूरती बरकरार रखी जा सकती है.

त्वचा की देखभाल

चेहरे की बादाम के तेल से अच्छी तरह मालिश करें, लेकिन मालिश दिन में न करें, क्योंकि इस से चेहरे पर डस्ट अधिक चिपक जाएगी.

कामकाजी महिलाओं को घर और बाहर के तापमान के फर्क के कारण अकसर त्वचा की समस्या ज्यादा होती है. इस से बचने के लिए हफ्ते में कम से कम 2 बार क्लींजिंग का प्रयोग और मसाज जरूर करें.

बहुत गरम पानी से मुंह न धोएं. इस से भी नैचुरल औयल खत्म हो जाता है.

सर्दियों में स्किन क्रैक्स की भी परेशानी होती है. इस से बचने के लिए ग्लिसरीन में गुलाबजल और नीबू का रस मिला कर चेहरे पर लगाएं.

सर्दियों में त्वचा की सफाई के लिए मड पैक्स से त्वचा खुश्क हो जाती है, इसलिए जैल पैक ही इस्तेमाल करें.

होंठों पर मलाई, ग्लिसरीन और शहद का प्रयोग करें.

सर्दियों में मेकअप स्टिक्स का इस्तेमाल बिलकुल न करें. हमेशा ग्लौस बेस का ही इस्तेमाल करें. इस के बाद फाउंडेशन का भी सीधा इस्तेमाल न करें. फाउंडेशन में थोड़ी सी क्रीम और 2 बूंदें पानी मिला कर लगाएं.

हथेलियां शुष्क रहती हों तो 1/2 चम्मच चीनी हथेली पर रख कर 3-4 बूंदें नीबू का रस डाल कर दोनों हथेलियों को तब तक रगड़ें जब तक कि चीनी का 1 भी दाना न बचे. 5 मिनट बाद हाथों को सादे पानी से अच्छी तरह धो लें. हथेलियां मुलायम हो जाएंगी.

होंठों का मेकअप

विटामिन ई युक्त लिपस्टिक होंठों को मुलायम बनाने के साथसाथ चमक भी प्रदान करती है.

मौइश्चराइजर युक्त लिपस्टिक होंठों का रूखापन दूर करती है.

अगर होंठों को हाईलाइट करना चाहती हैं, तो लिप कलर डार्क रखें.

8-9 घंटे लगातार लिपस्टिक लगाए रहने से होंठ रूखे हो जाते हैं. इसलिए लिपगार्ड या वैसलीन का प्रयोग नियमित रूप से करें.

यदि सर्दी में होंठ फटते हों तो रात को सोते समय नाभि पर तेल या देशी घी की कुछ बूंदें लगाएं.

कसे नारियल का दूध निकाल कर होंठों पर लगाएं. इस से होंठों का गुलाबीपन और कोमलता कायम रहती है.

केशों की देखभाल

ठंड का मौसम केशों को रूखा और बेजान बना देता है. अत: सर्दियों में केशों की कंडीशनिंग करना बहुत जरूरी है.

हर्बल तेलों का इस्तेमाल सर्दी के मौसम में कम करें, क्योंकि उन में शामिल तत्त्वों की तासीर ठंडी होती है.

सर्दी में केशों को ठंडी हवाओं से बचाएं और बारबार न धोएं.

हफ्ते में 1-2 बार कुनकुने औलिव औयल से मालिश करें. इस से केशों को पोषण मिलेगा और वे चमक उठेंगे.

सिर में तेल अधिक समय लगा कर न छोड़ें.

केशों को सर्दी में खुला न छोड़ें, क्योंकि शुष्क हवा से वे रूखे और बेजान हो जाते हैं.

कैलाश हौस्पिटल, दिल्ली की स्किन स्पैशलिस्ट, डाक्टर सुप्रिया महाजन की सलाह

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं