गृहशोभा विशेष

पपड़ीदार व रूखी त्वचा, कटेफटे होंठ, फटी एडि़यां आदि ऐसी आम समस्याएं हैं, जिन का सामना सर्दियों में सभी को करना पड़ता है. सर्दियों में हम रूमहीटर और ब्लोअर का भी इस्तेमाल करते हैं. इस से हमारी त्वचा का रूखापन बढ़ता है, क्योंकि ये हमारी त्वचा से नमी सोखते हैं, जिस से त्वचा बेजान और पोषणविहीन हो जाती है. इसीलिए हम आप को कुछ टिप्स दे रहे हैं, जिन पर गौर कर आप सर्दी के मौसम में भी पा सकती हैं दमकती त्वचा:

त्वचा में नमी बनाए रखें

त्वचा शरीर का महत्त्वपूर्ण अंग है. इसे कोमल और पोषित बनाए रखने के लिए अतिरिक्त देखभाल की जरूरत होती है. क्रीमयुक्त मौइश्चराइजर, औयल बाथ और नहाते समय विटामिन ई युक्त बौडी वाश का इस्तेमाल करने से त्वचा में नमी बरकरार रहती है.

बौडी लोशन आप घर पर भी बना सकती हैं. औलिव औयल, आमंड औयल और विटामिन के कुछ कैप्सूल्स का ऐक्स्ट्रैक्ट अच्छी तरह मिलाएं. आप का बौडी लोशन तैयार हो गया.

इस मौसम में एक बार सैलून में जा कर फेशियल या बौडी मसाज कराना भी फायदेमंद रहता है. फेशियल के लिए आप रैडिएंस ग्लो फेशियल का चयन कर सकती हैं. इस में भरपूर ऐंटीऔक्सीडैंट्स होते हैं, जो त्वचा में नमी के स्तर को संतुलित रखते हैं. सर्दियों में कोकोआ बटर से बौडी मसाज कराने से बेहतर और कुछ नहीं हो सकता है. कोकोआ बटर त्वचा को कोमल तो बनाता ही है, उसे दागधब्बे और मृत कोशिकाओं से भी मुक्त करता है.

कोमल होंठ

सूखे, पपड़ीदार, कटेफटे होंठों की समस्या से छुटकारा पाने का सब से आसान तरीका है कि अपने हैंडबैग में छोटा सा लिप बाम रखें. प्राकृतिक रूप से होंठों में नमी लाने के लिए नियमित तौर पर नारियल या बादाम तेल लगाएं. इस से सूखे होंठ जल्दी भरते हैं और उन का कालापन भी दूर होता है.

फटी एडि़यां

फटी एडि़यां न केवल बदसूरत दिखती हैं बल्कि उन में दर्द भी होता है. इस की प्रमुख वजह होती है. सर्दियों में परेशानी ज्यादा हो जाती है. फटी एडि़यों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए नियमित तौर पर उन की क्लीनिंग, स्क्रबिंग और मौइश्चराइजिंग जरूरी है. इस के लिए आप सैलून से इंटैंस मौइश्चराइजिंग पैडीक्योर करा सकती हैं.

इंटैंस मौइश्चराइजिंग पैडीक्योर से मांसपेशियों को आराम मिलना है. पैडीक्योर त्वचा में रक्तप्रवाह बढ़ा कर त्वचा को पोषण देता है. इस के अतिरिक्त नियमित रूप से पैट्रोलियम जैली, फुट क्रीम लगाने से भी फटी एडि़यों को आराम मिलता है. इस के अलावा धूल आदि से बचने के लिए मोजे या फिर बंद जूते पहनें.

हाथों, घुटनों और टखनों की देखभाल

अकसर सर्दियों में घुटने और टखने काले पड़ने लगते हैं. उन पर नीबू और शहद रगड़ने से उन का रंग निखरने के साथसाथ उन में नमी बरकरार रखने में मदद मिलती है.

– करपागम
नैशनल स्किन ट्रेनर, नैचुरल्स, ब्यूटी व हेयर सैलून.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं