गृहशोभा विशेष

चौकलेट ने तो सौंदर्य जगत में एक मुकाम पा ही लिया है. अब उस के साथ वाइन भी सुंदरता को बढ़ाने के लिए तैयार है. वाइन थेरैपी में वाइन स्पैशल, वाइन रैप, वाइन बाथ, वाइन स्क्रब जैसे कई तरीके हैं, जिन में रैड वाइन, व्हाइट या रोज वाइन या फिर इन दोनों का ही इस्तेमाल किया जाता है. वाइन के साथ अन्य वनस्पतियों, फूलों व सुगंधित तेलों का अर्क भी इस्तेमाल किया जाता है.

सामान्य रूप से वाइन थेरैपी का इस्तेमाल ऐंटीऐजिंग के रूप में किया जाता है, क्योंकि इस में इस्तेमाल किए जाने वाले काले अंगूर में मुख्य रूप से विटामिन ई, ऐंटोसिनोसाइड्स, पौलीफेनौल, प्रोसियानिडौल्स और ऐंटीऔक्सीडैंट्स जैसे तत्त्व पाए जाते हैं. वाइन ऐंटीसैप्टिक होने के साथ ही त्वचा में आने वाली सूजन और झुर्रियों को भी कम करता है. साथ ही त्वचा नर्म और मुलायम बनती है और त्वचा की डैड स्किन निकालने में भी मदद मिलती है.

वाइन फेशियल

वाइन फेशियल कराने से वाइन में मौजूद ऐंटीऔक्सीडैंट घटक की वजह से त्वचा के टौक्सिंस दूर होते हैं. इस फेशियल से चेहरे की त्वचा में कसाव आता है. त्वचा के टाइप के अनुसार वाइन के अलग-अलग प्रकार फेशियल में इस्तेमाल किए जाते हैं.

रैड वाइन में ऐंटीऐजिंग घटक पाए जाते हैं. व्हाइट वाइन के इस्तेमाल से त्वचा में कसाव आता है, त्वचा के रोमछिद्र साफ होते हैं और मुंहासे भी कम होते हैं. त्वचा संवेदनशील हो तो वाइन में गुलाबजल मिलाएं. रूखी त्वचा के लिए वाइन के साथ बादाम का पेस्ट मिलाएं. तैलीय त्वचा के लिए वाइन के साथ ऐलोवेरा का रस मिला कर लगाने से फेशियल का अच्छा फायदा नजर आता है.

वाइन फेशियल से मिलने वाले दूसरे फायदे ये हैं:

1. वाइन फेशियल से चेहरे में चमक और ग्लो आता है.

2. वाइन फेशियल से तनाव दूर होता है.

3. चेहरे की झुर्रियां जल्द दूर होती हैं.

4. त्वचा को औक्सीजन मिलती है.

रूखी त्वचा के लिए व्हाइट वाइन में स्थित अल्फाहाइड्रौक्सिल ऐसिड्स असरदार साबित होते हैं. इस से त्वचा मुलायम बनती है. तैलीय त्वचा के लिए रैड वाइन फेशियल उपयुक्त साबित होता है. इस में स्थित औषधीय घटक त्वचा की सूजन कम करने में मददगार साबित होते हैं.

घर में आप इस तरह से वाइन फेशियल कर सकती हैं :

– चेहरा अच्छी तरह धो कर मौइश्चराइजर लगाएं. 5-7 मिनट बाद कौटन से चेहरा पोंछ लें.

– चेहरे को 5 मिनट तक स्टीम दें. इस से चेहरे के रोमछिद्र खुल जाते हैं.

– स्टीम देने के बाद वाइन का मिश्रण चेहरे पर लगाएं. उंगलियों के पोरों से हलकेहलके चेहरे की मसाज करें. इस से चेहरे के पेशियों को आराम मिलता है. इस के बाद कौटन से चेहरा पोंछ लें और वाइन फेस मास्क चेहरे पर लगाएं. 10 मिनट बाद कुनकुने पानी से चेहरा धो दें.

फेस मास्क बनाने का तरीका

रूखी त्वचा के लिए : 3 बड़े चम्मच रैड वाइन, 1/2 बड़ा चम्मच ऐलोवेरा जैल और 1 बड़ा चम्मच शहद मिक्स करें. इस में 2 बूंदें लैवेंडर औयल मिला कर चेहरे और गले पर लगाएं. 20 मिनट बाद कुनकुने पानी से चेहरा धो दें.

तैलीय त्वचा के लिए : 3 बड़े चम्मच रैड वाइन का दही और 2 बूंदें टीट्री औयल के साथ मिश्रण तैयार कर लें. फिर चेहरे पर लगा कर 20 मिनट बाद चेहरा धो दें.

वाइन और ऐलोवेरा मास्क : रैड वाइन और ऐलोवेरा जैल मिक्स कर के चेहरे पर लगाएं. 10 मिनट बाद कुनकुने पानी से चेहरा धो दें. इस मास्क से त्वचा को काफी आराम मिलता है.

पोर्ट वाइन और शहद का मास्क : 2-3 बड़े चम्मच पोर्ट वाइन और शहद मिला कर चेहरे पर लगाएं. 1/2 घंटे के बाद कुनकुने पानी से चेहरा धो दें. शहद से चेहरे का टोनअप होता है और पोर्ट वाइन ऐंटीऐजिंग का काम करता है.

अपनी सुंदरता में चार चांद लगाने के लिए वाइन चेहरे पर लगाना भी काफी होता है. लेकिन उसे कभी भी त्वचा पर सीधे न लगाएं, क्योंकि उस में अलकोहल कंटेंट होता है. उस में त्वचा के किस्म के हिसाब से उपयोगी चीजें मिक्स करें, तभी लगाएं.

वाइन से सिरदर्द कम होता है, चेहरे के दाग दूर होते हैं और सुंदरता खिल उठती है. इसलिए बरसात के मौसम में वाइन का लाभ उठाएं. इसे सौंदर्य निखारने के लिए इस्तेमाल करें और अपनी सुंदरता बढ़ाएं.

VIDEO : ब्यूटीफुल गोल्डन कैवियार नेल आर्ट डिजाइंस
ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं