गृहशोभा विशेष

फटे होंठ न केवल तकलीफ देते हैं, बल्कि खूबसूरती में भी बाधक होते हैं. असल में होंठों की त्वचा काफी नाजुक और पतली होती है. इसीलिए जाड़े के दिनों में इन पर शुष्क सर्द हवाओं का असर अधिक होता है. अत: इस मौसम में होंठों की खास देखभाल करनी पड़ती है. डर्मैटोलौजिस्ट व कौस्मैटिक सर्जन डा. माधुरी अग्रवाल कहती हैं कि जाड़े में शुष्कता अधिक होती है. फिर महिलाएं पानी भी कम पीती हैं. रूमहीटर का ज्यादा प्रयोग करती हैं. इस से भी त्वचा रूखी हो जाती है, जिस का सब से अधिक असर होंठों पर पड़ता है. इस के अलावा अधिक मैंथोल वाला टूथपेस्ट भी होंठों को नुकसान पहुंचाता है. स्पाइसी फूड खाने की शौकीनों के होंठ भी अधिक फटते हैं. अत: पेश हैं, लिप केयर से संबंधित कुछ सुझाव:

ज्यादा स्पाइसी फूड खाने से बचें, क्योंकि इस का सब से ज्यादा असर होंठों पर ही पड़ता है.

भोजन में जिंक, मैग्नीशियम, आयरन, कैल्सियम, विटामिन बी12 का होना आवश्यक है और ये सब हरी सब्जियों, मौसमी फलों में अधिक होते हैं. सेब, संतरा, तरबूज आदि का सेवन जरूर करें.

आजकल महिलाएं तरहतरह की लिपस्टिक लगाती हैं. पहले महिलाएं लिपस्टिक कम लगाती थीं. इसीलिए उन के होंठ कम फटते थे. लेकिन आज फैशन का युग है. इस में बिना लिपस्टिक के रहना संभव नहीं. सोशल लाइफ आजकल बदल चुकी है. ऐसे में हमेशा अच्छे ब्रैंड की लिपस्टिक ही लगाएं. मैट लिपस्टिक कम लगाएं. अगर मैट फिनिश के लिए वैसी लिपस्टिक लगाती हैं तो होंठों को पहले मौइश्चराइज करना न भूलें.

लिपस्टिक के गलत चयन से होंठ फटने के अलावा डार्क भी हो जाते हैं.

अगर होंठ फटते हों तो अच्छा लिपबाम जिस में बीज वैक्स, हनी वैक्स हो उसे लगाएं. लिक्विड पैराफिन औयल, औलिव औयल, कोकोनट औयल आदि भी होंठों पर लगा सकती हैं.

रात को हमेशा लिपस्टिक रिमूव कर के ही सोएं. लिप रिमूवर के अलावा कोकोनट औयल या औलिव औयल होंठों पर लगा कर थोड़ी देर बाद डैंप कौटन से पोंछ कर मौइश्चराइजर लगाएं.

सर्दियों में होंठों पर डैड स्किन जमा हो जाती है. ऐसे में कोकोनट या औलिव औयल होंठों पर लगा कर बच्चों के सौफ्ट टूथब्रश को गीला कर हलके हाथ से होंठों पर फेरें. इस से डैड स्किन निकल जाएगी. लैक्मे मेकअप ऐक्सपर्ट कोरीवलिया बताते हैं कि जब होंठ फटते हैं तो महिलाएं अधिकतर उन पर जीभ फेरती रहती हैं. ऐसा करने से वे अधिक फटने लगते हैं. अत: नाजुक होंठों पर हमेशा अच्छे लिप केयर प्रोडक्ट का ही इस्तेमाल करें. लिप केयर प्रोडक्ट केवल होंठों को फटने से ही नहीं बचाता, बल्कि उन्हें प्रदूषण और सूर्य की अल्ट्रावायलेट किरणों से भी सुरक्षा देता है. जिन्हें ब्लौक नोज की शिकायत होती है, उन के भी होंठ जाड़े में अधिक फटते हैं. ऐसे में सोने से पहले होंठों को अच्छी तरह मौइश्चराइज करें. पेट खराब होने से भी होंठ फटते हैं.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं