महिलाएं जूतेचप्पलों और कपड़ों पर तो काफी खर्च करती हैं, मगर लौंजरी पर ज्यादा ध्यान नहीं देती हैं, जिस से कई बार उन्हें परेशानी का भी सामना करना पड़ता है. सही लौंजरी पहननी बहुत जरूरी है ताकि आप फिट रहें.

इस बारे में जीएनसी फिटनैस ऐक्सपर्ट निशरिन पारीख कहती हैं, ‘‘वर्कआउट के समय सही लौंजरी के न होने पर बैक पेन हो सकता है, क्योंकि लगातार वर्कआउट से ब्रैस्ट टिशू खराब होने लगते हैं जिस से उन में लचीलापन आ जाता है. शरीर के लिए सपोर्ट सिस्टम का सही होना बहुत ही जरूरी होता है.’’

चुनें सही ब्रा

लड़कियों से ले कर उम्रदराज महिलाओं तक सभी को अपनी ब्रैस्ट के साइज के हिसाब से सही ब्रा पहननी चाहिए, क्योंकि वर्कआउट का असर पूरे बदन पर पड़ता है. वर्कआउट कई प्रकार के होते हैं जिन में से रनिंग, ऐरोबिक, जुंबा आदि का बदन पर ज्यादा असर रहता है. आजकल हर तरह की ब्रा मार्केट में आराम से मिल जाती है.

  • वर्कआउट के लिए सूती की जगह लाइक्रा ब्रा पहनें.
  • अगर आप मैडिटेशन करती हैं तो लाइट सपोर्ट वाली ब्रा पहने, क्योंकि इस में ज्यादा मूवमैंट नहीं होता.
  • वाक करती हैं तो मीडियम सपोर्ट वाला ब्रा पहनें.
  • अगर स्ट्रौंग वर्कआउट करती हैं तो फुल सपोर्ट वाली ब्रा पहनें.

वर्कआउट के समय स्पोर्ट्स ब्रा पहनना सब से अच्छा रहता है. यह ब्रैस्ट शेप को बनाए रखती है. बहुत अधिक मूवमैंट से ब्रैस्ट के चारों ओर के लिगामैंट खिंच जाते हैं. इस से ब्रैस्ट लटक सकती है. इस स्थिति को सही स्पोर्ट्स ब्रा पहन कर ही रोक सकती हैं.

आप की जरूरत के हिसाब से अलगअलग तरह की ब्रा बाजार में उपलब्ध है जैसे:

योगा ब्रा: यह ब्रा पिलेट्स और मैडिटेशन के लिए सब से अच्छी है. यह सौफ्ट मैटीरियल से बनी होती है. टी शेप की इस ब्रा को पहनना बहुत आरामदायक रहता है.

हाइपर क्लासिक पैडेड स्पोर्ट्स ब्रा: यह आरामदायक ब्रा है, जिस के पैड को भी आप जरूरत के अनुसार निकाल सकती हैं. यह ब्रा कसरत के समय पूरी ब्रैस्ट को फिट रखती है. कार्डियो के समय इसे पहनना अच्छा रहता है.

रेपअप ब्रा: यह ब्रा भी कसरत और पिलेट्स के लिए पहनी जा सकती है. हाईनैक लाइन और डबल लेयर के कपड़े से बनी यह क्रौप टौप ब्रा ब्रैस्ट को पूरी तरह कवर करती है. भले आप की ब्र्रैस्ट कितनी भी बड़ी हो, यह पूरा आराम देती है.

हाइपर स्ट्राइप डबल डेयर ब्रा: यह सुपर सौफ्ट सीमलेस, लाइट वेट और पसीने को सोखने वाली ब्रा है. दोनों तरफ से की होल जैसी बनी होने की वजह से इस में वर्कआउट के समय सांस लेना आसान होता है. इस ब्रा को पहन कर जौगिंग कर सकती हैं.

टेक लेयर ब्रा टौप: स्मूद और फ्लैटरिंग फिट वाली यह ब्रा लो टू मीडियम वर्कआउट के लिए सही होती है. यह भी पसीने को सोख कर बदन को ठंडा रखती है.

रेसर स्पोर्ट्स ब्रा: इसे पहन कर रनिंग कर सकती हैं. इस की सौफ्ट पट्टी और मैटीरियल इतना हलका होता है कि इसे पहनने के 2 मिनट बाद इस के होने का एहसास तक नहीं होता.

अंडरआर्मर इक्लिप्स स्पोर्ट्स ब्रा: यह ब्रा कार्डियो और स्ट्रौंग वर्कआउट के लिए सब से फायदेमंद होती है. स्लिक, स्किन फिट और मीडियम इंपैक्ट ब्रा ब्रैस्ट को पूरी तरह होल्ड करती है. किसी भी प्रकार के मूवमैंट में यह ब्रा मददगार साबित होती है.

न्यू बैलेंस कौंफी कौन्फौर्मर ब्रा: यह ब्रैस्ट को हाई कवरेज देती है और इसे पहनने पर किसी भी स्ट्रौंग मूवमैंट का पता नहीं चलता. इसे जीरो बाउंस वाली ब्रा भी कह सकती हैं. स्किन फिट इस ब्रा को पहन कर महिलाएं किसी भी तरह का वर्कआउट आसानी से कर सकती हैं.