गृहशोभा विशेष

लंबे और घने केश महिलाओं का गहना होते हैं. अपने इस कीमती गहने को संवारने और उस की खूबसूरती को बरकरार रखने के लिए वे कोई कसर नहीं छोड़तीं. केशों की खूबसूरती में लंबाई और घनेपन के साथसाथ उन की रंगत की भी बड़ी भूमिका होती है. जिस के चलते महिलाएं अकसर अपने केशों पर कलर लगा लेती हैं. लेकिन केशों पर कलर लगाने से पहले और बाद में किनकिन बातों का ध्यान रखना चाहिए इस में वे लापरवाही कर बैठती हैं. ब्यूटीशियन पिंकी चावला की मानें तो कुछ बातों का ध्यान रखा जाए तो कलर द्वारा केशों की खूबसूरती में चार चांद लगाए जा सकते हैं.

कलर लगाने से पहले

सफेद व भद्दे दिखने वाले केशों पर हेयर कलर लगा कर उन की सफेदी छिपाने में कोई बुराई नहीं है. लेकिन पिंकी कहती हैं कि अगर आप पहली बार केशों पर कलर लगाने जा रही हैं तो सब से पहले हेयर स्पैशलिस्ट से संपर्क करें और उसे अपने केश का टैक्सचर दिखा कर उस से पूछ लें कि आप के केशों पर कौन सा कलर सूट करेगा. हेयर कलर लगाने से केश थोड़े ड्राई हो जाते हैं और हेयर कलर लगाने के बाद ऐंटीडैंड्रफ ट्रीटमैंट लेने से कलर जल्दी फेड हो जाता है. इसलिए हेयर कलर लगाने से पहले पैच टैस्ट जरूर कर लें, ताकि यह पता चल जाए कि इस से आप को कोई ऐलर्जी तो नहीं.

यहां इस बात का ध्यान रखना भी जरूरी है कि बाजार कई तरह के हेयर कलर्स से पटा पड़ा है. लेकिन कौन से हेयर कलर्स अच्छे हैं और कौन से बुरे इस का फैसला आप को करना है.

इस बाबत पिंकी कहती हैं कि अच्छे कलर्स का इफैक्ट बेशक केशों पर कम दिन के लिए होता हो, लेकिन ये कलर्स केशों के कैरेटीन को नुकसान नहीं पहुंचाते. इस बात के साथ ही इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि जिस दिन केशों पर हेयर कलर लगाना हो उस दिन उन्हें शैंपू से जरूर धोएं. लेकिन केशों पर कंडीशनर न लगाएं, क्योंकि कंडीशनर लगाने से केशों के कोटैक्स और क्यूटिकल्स बंद हो जाते हैं जिस से केशों पर सही तरीके से रंग नहीं चढ़ पाता है और जल्दी ही फेड हो भी जाता है. वैसे रंग तो केशों पर हिना लगाने से भी नहीं चढ़ता. इस बाबत पिंकी बताती हैं, ‘‘वैसे तो मेहंदी केशों के लिए बहुत फायदेमंद है, लेकिन बाजार में मिलने वाले मेहंदी के पैकेट में रंग वाला कैमिकल मिला होता है. इसे केशों पर लगाने से उन पर मेहंदी जैसा रंग तो चढ़ जाता है, लेकिन यह केशों को डैमेज कर देता है. मेहंदी लगाने पर हेयर कलर भी नहीं चढ़ता. इसलिए अगर केशों में मेहंदी लगानी हो तो 3 से 4 महीने बाद ही हेयर कलर लगाना चाहिए.

त्वचा पर न पड़ने दें दाग

चूंकि सभी तरह के हेयर कलर्स में अमोनिया मिला होता है, जो त्वचा पर लगने से उसे जला देता है, इसलिए हेयर कलर्स का प्रयोग करते वक्त उसे त्वचा पर न लगने दिया जाए. ब्यूटीशियन पिंकी बताती हैं, ‘‘केशों पर रंग लगाते वक्त वेट टिशूज रखने चाहिए ताकि जरा सा भी रंग त्वचा पर लगते ही उसे साफ किया जा सके. खासकर आंखों और गले के आसपास लगे रंग को तुरंत ही साफ कर लेना चाहिए, क्योंकि यह एरिया काफी सैंसिटिव होता है. वैसे कलर लगाने से पहले चेहरे और गरदन पर वैसलीन लगा ली जाए तो कलर लगने पर नुकसान नहीं होता है. वहीं कलरिंग करने के दौरान हाथों में ग्लव्स पहन लेने चाहिए जिस से हाथों और नाखूनों पर रंग न चढ़े.

कलरिंग के बाद

जितना जरूरी कलरिंग से पहले केशों का खयाल रखना है, उतना ही जरूरी कलरिंग के बाद भी है. नहीं तो रंग जल्द उतर जाता है. इस के लिए पिंकी बताती हैं कि कलरिंग करने के बाद सब से ज्यादा जरूरी है कि आफ्टर कलर शैंपू का इस्तेमाल करना चाहिए. ऐसे शैंपू सोडियम सल्फेटफ्री होते हैं और केशों के लिए सौफ्ट होते हैं. हार्ड शैंपू लगाने से केशों से रंग जल्द उतर जाता है. शैंपू ही नहीं हेयर कलर लगाने के बाद बौंडिंग, रीबौंडिंग और केशों को हाईलाइट करना भी नुकसानदायक है. यदि ये सब कराना ही है तो कलरिंग के 15 दिन पहले करवाया जा सकता है.

ध्यान दें

अगर आप अपने सफेद केशों को छिपाने के लिए कलर लगा रही हैं तो महीने में 1 बार ही हेयर कलर का प्रयोग करें.

हेयर कलर लगा कर स्विमिंग करने न जाएं, क्योंकि स्विमिंग पूल के पानी में क्लोरीन मिला होता है, जो केशों से हेयर कलर को उतार देता है.

प्रैगनैंसी के दौरान बिना डाक्टर की सलाह लिए हेयर कलर न लगाएं.

हफ्ते में 1 बार तेल से केशों की मसाज जरूर करें.

बारबार हेयर कलर न बदलें. इस से आप के केश कमजोर और पतले हो जाएंगे.

केशों को संवारना अपने हाथ में है. तभी तो मौके के अनुसार केशों के स्टाइल भी बदलने लगे हैं. केशों का स्टाइल हो ऐसा कि आप के पूरे व्यक्तित्व में निखार आ जाए. दिल्ली के विकासपुरी के ‘हिनाज ब्यूटीपार्लर’ की मेकअप आर्टिस्ट व हेयरस्टाइलिस्ट साधना शुक्ला कुछ चुनिंदा हेयरस्टाइल्स की जानकारी दे रही हैं:

बन विद चोटी स्टाइल

केशों की इयर टू इयर पार्टिंग कर के पीछे के केशों की बैंड की सहायता से हाई पोनी बनाएं. कुछ केशों को उस बैंड पर लपेट दें ताकि बैंड दिखाई न दे. अब इयर टू इयर के पीछे से कुछ केश ले कर क्राउन एरिया में एक स्टफिंग लगाएं और उसे पिन से सैट करें. फिर उस में इयर टू इयर के पीछे के कुछ केश स्टफिंग के ऊपर सैट करें. यह फं्रट में ऊंचा जूड़ा बन जाएगा. अब हेयरस्प्रे कर केशों की 1-1 लट आगे से ले कर ट्विस्ट करते हुए एक से दूसरे कान तक अंत में ला कर जूड़े में सैट करें. अब पोनी से केशों की 1 लट ले कर एक साइड से वन साइड फ्रैंच चोटी बनाएं. अब चोटी को थोड़ा ऊपर उठा कर टैग करें. बाकी के केशों की एक लंबी चोटी बना लें. फिर इसे मोतियों की माला या मैचिंग ड्रैस की ऐक्सैसरीज से सजाएं.

हाफमून स्टाइल

आगे से इयर टू इयर केशों का एक भाग बनाएं. पीछे के केशों की नीचे की तरफ एक पोनी बनाएं और उस में जैल लगाएं. फिर हेयरस्प्रे करें. अब आगे से केशों को साइड में ले कर पीछे की तरफ पिन से सैट करें. आगे से साइड पार्टिंग करने से पहले केशों की बैक कौंबिंग करें. पोनी की 1-1 लट को गूंथ कर पोनी में ही लपेटें. केशों में जैल लगाती जाएं. गुंथी चोटी को पोनी के ऊपर गोलगोल लपेटें और पिन से सैट करें.

अब बचे केशों में स्टफिंग लगाएं. इसे हाफमून स्टाइल में लगाएं और केशों को स्टफिंग में लपेट दें. इसे जूड़े की स्टाइलपिन से सैट करें. अब इसे किसी लटकने वाली हेयरऐक्सैसरीज से सजाएं.

शौर्ट हेयर जूड़ा

केशों की आगे से इयर टू इयर पार्टिंग करें. आगे से कुछ केशों की बैक कौंबिंग करें और उस का पफ बना कर पिन से सैट करें. अब पफ को फिनिशिंग देने के लिए इयर टू इयर के 1-1 सैक्शन को पफ के ऊपर लेती जाएं और पिन से सैट करें. अब नीचे के केशों की नीची पोनी बनाएं. पोनी के नीचे स्टफ जूड़ा लगाएं. आगे से केशों की साइड पार्टिंग कर दें. अब स्टफ जूड़े में हेयरस्प्रे कर के कोई भी ऐक्सैसरीज लगाएं.

रोल पफ जूड़ा

आगे के केशों को छोड़ कर पीछे के केशों की एक साइड पोनी बनाएं. आगे के केशों की बैक कौंबिंग कर के साइड पफ बनाएं, सामने के केशों में बैक कौंबिंग कर के पीछे ले जाएं. बचे केशों को पोनी में लपेटें. अब पोनी के केशों के 2 भाग बनाएं और उन के नीचे स्टफिंग लगा कर एक लट को लपेटें और पोनी में ऊपर टैग करें. एक लट के भाग को उंगली से रोल कर के पिन से सैट करें. ऐसे ही छोटेछोटे सैक्शन बना कर कई रोल बनाएं और हेयरस्प्रे करती जाएं.

ब्राइडल आई मेकअप

आंखों का मेकअप करते समय ध्यान रखें कि मेकअप किस मौके के लिए किया जा रहा है. यदि ब्राइडल की आंखों का मेकअप कर रही हैं तो ध्यान रहे कि आंखों को अधिक से अधिक खूबसूरत दिखाना है. यदि आंखें छोटी हैं, तो मेकअप द्वारा उन्हें बड़ा दिखाएं.

आई मेकअप

आंखों के मेकअप के लिए आईलिड पर पर्ल गोल्ड आईशैडो लगाएं. अब वेट पिंक शैडो को आईलिड के किनारे से वी बनाते हुए पूरी आईलिड पर लगाएं. फिर ब्लैक शैडो ले कर आईलिड के किनारे से लगा कर मर्ज करें. इसे हाफ एरिया में ही लगाएं. अब ब्रश को गीला कर के आईलिड के सैंटर में गोल्ड शैडो लगाएं. अब इस के ऊपर क्राइलौन का ग्लिटर जैल लगाएं. इसे दोनों फिंगर में रब कर के अच्छी तरह लगाएं.

आईलाइनर लगा कर मसकारा लगाएं. ब्रश के पीछे से काजल ले कर उस से काजल लगाएं.

दिल्ली प्रैस भवन में आयोजित फेब मीटिंग के दौरान मेकअप आर्टिस्ट व हेयरस्टाइलिस्ट साधना शुक्ला व ब्यूटीशियन पिंकी चावला से की गई बातचीत पर आधारित.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं