गृहशोभा विशेष

59 वर्षीया हेयर डे्रसर मारिया शर्मा की शख्सियत अनूठी है. स्वभाव से हंसमुख, मृदुभाषी मारिया ने फिल्मी दुनिया में 40 वर्ष पूरे किए हैं. आज वे कंगना राणावत की हेयर डे्रसर हैं. इतने सालों में उन्होंने रेहाना सुल्ताना से ले कर आज की बहुत सी युवा हीरोइनों के बाल संवारे हैं. जब वे केवल 18 वर्ष की थीं तब उन्होंने इस क्षेत्र में कदम रखा. साल 2009 में उन्हें दादा साहब फालके अवार्ड से नवाजा गया.

उन का शुरुआती दौर काफी संघर्षपूर्ण रहा. तब किसी प्रकार के प्रशिक्षण का प्रावधान नहीं था. क्रिश्चियन परिवार में जन्मी मारिया को बचपन से ही बालों को संवारने का शौक था. वे किसी भी अवसर पर आसपास की सभी सहेलियों के बालों को खुद संवारा करती थीं. उन्हें बचपन से बालों की सजावट से लगाव था. उन्हें अलगअलग अंदाज में संवारने का शौक था. हीरोइनों के बाल संवारते हुए ही उन्होंने सारे प्रशिक्षण प्राप्त किए. फलस्वरूप उन्होंने हीरोइनों को बालों के कई स्टाइलों से अवगत कराया, जिस में तार का जूड़ा, चाइनीज स्टाइल, ब्राइडल स्टाइल और ट्विस्ट स्टाइल काफी मशहूर हैं.

इस काम में उन की बड़ी बेटी रचना भी हाथ बंटाती है. उन की छोटी बेटी मिनाली मौडल और बेटा अनिल व्यवसायी है. हेयर ब्रश के बारे में उन से बातचीत हुई तो उन्होंने बताया कि हेयर ब्रश का इस्तेमाल सही ढंग से करना जरूरी होता है. हेयर ब्रश बालों के आधार पर चुना जाना चाहिए. आइए जानें, उन से कुछ जरूरी बातें :

हेयर ब्रश कितने तरह के होते हैं?

हेयर ब्रश कई तरह के होते हैं. छोटे, बड़े और गोल. बडे़ ब्रश में ब्रसल्स होते हैं, जो 2 प्रकार के होते हैं- कांटों वाला और गोल ब्रसल्स वाला. जिन के बाल घने होते हैं. उन के लिए कांटों वाला ब्रश उपयोगी होता है. जिन के बाल पतले होते हैं, उन्हें गोल ब्रसल्स वाले हेयर ब्रश सूट करते हैं. दोनों ही हेयर ब्रश को वौल्यूम दिखाने के लिए प्रयोग किया जाता है.

इन का उपयोग कैसे किया जाता है?

बालों को सेट करने के लिए ब्लोड्राई करना जरूरी है. अगर बाल काफी पतले हों तो एक साइज छोटा हेयर ब्रश ले कर ब्लोड्राई करने से आउट टर्न और फुल आउट टर्न दोनों ही संभव है. मीडियम हेयर ब्रश हलका आउट टर्न और फ्लिप आउट करने के लिए उपयोगी होता है.

छोटे हेयर ब्रश का प्रयोग कहां होता है?

छोटा हेयर ब्रश, जो गोल आकार में होता है, इस से रोलर इफेक्ट दिया जाता है. जिन के बाल स्टेप कट में हों उन के लिए छोटे हेयर ब्रश से फुल आउट टर्न कर ब्लोड्राई करने से अच्छा लगता है. बालों में फ्रिंज निकालने के लिए भी छोटे हेयर ब्रश इस्तेमाल किए जाते हैं.

फ्लैट हेयर ब्रश का प्रयोग कहां किया जाता है?

जिन के बाल घुंघराले हों उन के लिए फ्लैट हेयर ब्रश उपयोगी होता है, जिस में कांटे होते हैं. बालों को सीधा कर के ब्लोड्राई करने से बाल सीधे दिखते हैं. इस के अलावा अगर बाल बहुत पतले हों और आगे छोटेछोटे हों तब उन के लिए छोटे फ्लैट हेयर ब्रश को ले कर ब्लोड्राई कर सकते हैं. माथे पर आगे के बेबी हेयर के  लिए भी छोटे फ्लैट हेयर ब्रश का ही इस्तेमाल किया जाता है. इस के अलावा ब्रसल्स ब्रश बैक कांबिंग के लिए भी प्रयोग किया जाता है. इस से बाल साफसुथरे दिखते हैं. थोड़े से बेबी बाल होने पर पानी लगा कर सेमी वेट कर के अंत में सीरम लगाया जाता है. अगर बाल पतले हों तो मूज लगा कर थोड़ा सूखने दें, फिर ब्लोड्राई करें. ब्रश के प्रयोग के बाद उस का रखरखाव भी अच्छे तरीके से करना चाहिए ताकि आप अधिक दिनों तक उस का उपयोग कर सकें. ये ब्रश काफी महंगे होते हैं, जो अधिकतर विदेशों से मंगाए जाते हैं. भारत में मिलने वाले ब्रश अधिक दिनों तक नहीं चलते. जल्दी ही इन के ब्रसल्स खराब हो जाते हैं.

ब्रश का रखरखाव कैसे करना सही होता है?

कांटेदार ब्रश को डेटोल के पानी से धो कर रखें और अगर ब्रसल्स वाले हेयर ब्रश हों तो उन्हें साफ कर स्टरलाइज करें. पानी में डालने से पहले ब्रश के ऊपर चिपके हुए बाल कंघी की सहायता से पूरी तरह निकाल दें.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं