गृहशोभा विशेष

स्वस्थ त्वचा और सुंदर चेहरे की चाह सभी की होती है. लेकिन आज के दौर में चेहरे की सुंदरता को बनाए रख पाना बेहद मुश्किल हो गया है. सर्दियों का मौसम तो त्वचा को और भी ज्यादा खुश्क और बेरंग बना देता है. सुंदर दिखने की इसी चाहत को पूरा करने के लिए आज बाजार में कई तरह के सौंदर्य प्रसाधन मौजूद हैं. इन प्रसाधनों का इस्तेमाल कर आप अपनी त्वचा को कुदरती चमकदार और कोमल बनाए रख सकती हैं.

बाजार में उपलब्ध प्रसाधनों के अलावा घरों में भी ऐसी कई चीजें मौजूद हैं, जो आप की सुंदरता में चार चांद लगा सकती हैं. कुल मिला कर अगर आप सुंदर बने रहना चाहती हैं, तो आप को जरूरत है बस, बाजार और घर में उपलब्ध साधनों की सही जानकारी और इस्तेमाल की ताकि आप इन का पूरा फायदा उठा सकें.

बनी रहे त्वचा की रंगत

त्वचा अकसर अपनी सुंदरता और नमी खो देती है. सर्दियों के मौसम में त्वचा का रूखापन बढ़ जाता है, जिस से खिंचाव महसूस होता है. ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि जब वातावरण में नमी होती है, तो तैलीय त्वचा को ज्यादा मास्चराइजर की जरूरत ही नहीं पड़ती. इसलिए अगर आप की त्वचा तैलीय है तो सर्दियों में मास्चराइजर का इस्तेमाल न करें.

तैलीय त्वचा पर ऊपर से मास्चराइजर लगाने से त्वचा के रोमछिद्र बंद हो जाएंगे, जिस से ब्लैकहैड्स और पिंपल्स हो सकते हैं. अगर मौसम ज्यादा ही सूखा हो, तो जरूरत के हिसाब से हलका सा मास्चराइजर इस्तेमाल कर सकती हैं. पर मास्चराइजर को सिर्फ लगा कर छोड़ने के बजाय उस से चेहरे की त्वचा की मसाज करें.

सर्दियों में गुलाब स्किन टोनर के इस्तेमाल से त्वचा की खोई नमी वापस मिलती है. तैलीय त्वचा के लिए आयल फ्री क्रीम में चंदन का पेस्ट मिला कर लगाएं. त्वचा की नमी और चमक बनाए रखने के लिए इसे दिन में 2 बार जरूर लगाएं. इस से त्वचा की ऊपरी सतह के साथसाथ धूल व डस्ट से भी आप की त्वचा बची रहेगी.

स्किन टोनर की जगह आप शहद का भी इस्तेमाल कर सकती हैं. यह तैलीय और सामान्य हर तरह की त्वचा के लिए अच्छा होता है. अंडे की सफेद जरदी में नीबू का रस और शहद मिला कर त्वचा पर लगा कर 20 मिनट के बाद धो लें. इस के अलावा नीबू के रस और अंडे की सफेद जरदी को क्लींजिंग के तौर पर इस्तेमाल कर सकती हैं.

कास्मेटिक बाजार से उठाएं लाभ

त्वचा को स्वस्थ रखने और खुद को सुंदर दिखाने के लिए कास्मेटिक्स भी अच्छा विकल्प हैं. स्किनकेयर क्रीम, लोशन, बाथ सोप, बाथ तेल और आफ्टर बाथ प्रोडक्ट्स के रूप में आप कई कास्मेटिक्स का इस्तेमाल तो कर रही होंगी, लेकिन आप को जान कर हैरानी होगी कि बाजार में भले ही अलगअलग त्वचा के लिए अलगअलग कास्मेटिक्स उपलब्ध हों, लेकिन सच तो यह है कि ज्यादातर कास्मेटिक्स हर तरह की त्वचा को ध्यान में रख कर बनाए जाते हैं. इसलिए जरूरी हो जाता है कि जब भी आप कास्मेटिक्स का चुनाव करें, तो सावधानी के साथ करें.

कास्मेटिक्स का चुनाव

ज्यादातर कास्मेटिक्स में खुशबू और प्रिजरवेटिब्स होते हैं, लेकिन उन कास्मेटिक्स को चुनें, जिन में सिंथेटिक तत्त्वों का इस्तेमाल न किया गया हो, क्योंकि ये आप की त्वचा को लाभ पहुंचाने के  बजाय नुकसान पहुंचाते हैं. इन के विकल्प के तौर पर औरगेनिक प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें.

कास्मेटिक्स आप के रंग को निखारने के साथसाथ त्वचा को भी सुंदर बना सकते हैं. स्किन क्रीम और लोशन त्वचा को गहराई से साफ कर देते हैं. अगर त्वचा के पोर्स बंद हों, तो इन्फेक्शन होने का खतरा रहता है. क्लींजिंग के लिए बनाए जाने वाले प्रोडक्ट्स को इसी तरीके  से बनाया जाता है कि वे त्वचा से हर तरह की डस्ट को हटा दें. क्लींजिंग के बाद हमेशा त्वचा को मास्चराइजर की जरूरत होती है. यह त्वचा को नमी देता है. धूप और सर्द हवा से बचाव के लिए भी मास्चराइजर काफी मददगार होता है.

धूप से बचने के लिए सन प्रोटेक्शन क्रीम या लोशन का इस्तेमाल कर सकती हैं. यह आप को सूरज से निकलने वाली यूवी किरणों से बचा कर रखती है, जो त्वचा कैंसर के लिए जिम्मेदार होती हैं. कुछ ऐसे प्रोडक्ट्स भी हैं, जो रंग को निखारते हैं. विटामिन ए, डी, ई और के वाले प्रोडक्ट्स त्वचा के रंग को हलका करते हैं और ये त्वचा के साथसाथ स्वस्थ बालों को भी स्वस्थ बना देते हैं.

क्या खाएं क्या नहीं

त्वचा को बाहरी सुंदरता तो बाजार में उपलब्ध प्रसाधन दे सकते हैं, लेकिन उसे प्राकृतिक रूप से सुंदर बनाए रखने के लिए जरूरी है भीतर की देखभाल. आप की त्वचा को हमेशा स्वस्थ बनाए रखने में आप का आहार अहम भूमिका निभाता है. अगर खानपान ठीक होगा, तो त्वचा रोग आप से दूर रहेंगे. त्वचा को कांतिमय बनाए रखने के लिए मौसमी फलसब्जियों का सेवन करें. अपनी डाइट में हरी सब्जियां, दही, दूध, पपीता, सेब और मौसमी फल शामिल करें. इन के अलावा अंकुरित अनाज, सलाद व सूप को भी डाइट में शामिल करें. ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं.

कुछ ऐसी चीजें भी हैं, जिन्हें खाने से बचना चाहिए, जंक फूड, तेलमसाले, ड्राईमसाले, मिठाइयां और कोल्ड ड्रिंक्स वगैरह का ज्यादा सेवन त्वचा को नुकसान पहुंचाता है.

लें योग की मदद

भले ही आज जमाना कितना ही हाईटेक हो गया हो, लेकिन योग से होने वाले फायदों को नकारा नहीं जा सकता. योग जहां आप को स्वस्थ बनाए रखता है, वही इस की मदद से आप अपनी सुंदरता भी बरकरार रख सकती हैं. योग से मिलने वाली सुंदरता अस्थायी न हो कर लंबे समय तक बनी रहती है. योगासनों से त्वचा को स्वस्थ बनाया जा सकता है.

वज्रासन करने से आप अपनी त्वचा को कांतिमय बना सकते हैं. इस के लिए दोनों हाथ पीछे ले जाएं और एक हाथ से दूसरे हाथ की कलाई पकड़ लें. अब धीरेधीरे सांस लेने के साथ आगे की तरफ झुकें. जब नीचे की ओर झुक रहे हों, तो सांस को रोके रखें. कुछ देर बाद ऊपर की ओर वापस आते हुए सांस छोड़ दें. शुरुआत में इस आसन को 2 बार ही करें. बाद में आप 6 से 7 बार कर सकती हैं. इस आसन से त्वचा व चेहरे में चमक आएगी. आंखों की रोशनी भी तेज होती है.

घरेलू नुसखे

नाश्ते में दूध, दही, अंडा, लस्सी या अंकुरित अनाज खाने से त्वचा साफ रहती है.

केले या पपीते के गूदे को मसल कर शहद के साथ मिला कर चेहरे पर लगाने से चेहरे को आवश्यक नमी मिलती है.

दही में शहद मिला कर चेहरे पर लगाने से यह क्लींजर का काम करता है.

घीया के रस में, तुलसी, पुदीना और पिसी हुई कालीमिर्च मिला कर पीएं.

कुनकुने पानी में नीबू का रस मिला कर पीएं. यह आप के रंग को निखारने का काम करेगा.

गाजर, खीरे, टमाटर या संतरे के रस को चेहरे पर लगाने से त्वचा निखरती है.

 चम्मच चने की दाल को दूध में रात भर भिगोने के बाद सुबह इस में हलदी, मलाई और 2-4 बूंदें गुलाबजल मिला कर पीस कर चेहरे पर लगाएं. सूखने पर धोने के बजाय हाथों से छुड़ाएं. यह तैलीय त्वचा से निकलने वाले तेल को कम करता है.

मूली का रस चेहरे की झांइयां खत्म करने का काम बखूबी करता है.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं