युवावस्था ऐसा समय है जब हर युवती खुद पर इतराना-इठलाना चाहती है. कुछ उम्र का असर, कुछ बदलती भावनाओं का, युवतियों पर अनूठी छटा खुद ही आ जाती है. लेकिन इसी उम्र में पिंपल भी अपना रंग दिखा रहे होते हैं. आप को अपनी सहेलियों के संग मूवी देखने जाना हो या फिर किसी मौल में घूमना हो, तब आप का रूप निखारता है मेकअप.

मेकअप करते समय युवतियों को इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि उन का मेकअप उन की उम्र के अनुसार हो यानी न अधिक भड़कीला और न अधिक उत्तेजक. अच्छा मेकअप करने के लिए कुछ टिप्स का ध्यान रखें.

पिंपल्स की समस्या

युवतियों के सब से बड़े दुश्मन होते हैं पिंपल्स. इन के इलाज हेतु घरेलू उपचार करें और यदि घरेलू उपचार से आप को फायदा न हो तो किसी त्वचा विशेषज्ञ की राय लें. अपनी ड्रैस पर हजार रुपए खर्च करने की जगह अपने चेहरे को पिंपल्स से छुटकारा दिलाने में समझदारी है.

घरेलू उपाय

मुलतानी मिट्टी का फेसपैक चेहरे की तैलीय त्वचा को ठीक करता है.

बेसन से मुंह धोने से भी तैलीय त्वचा बेहतर होती है.

एक चम्मच दालचीनी और 2 चम्मच शहद को अच्छी तरह मिला कर 10-15 मिनट के लिए चेहरे पर लगाएं और फिर धो डालें. दालचीनी का रोगाणुरोधी गुण और शहद के ऐंटीबायोटिक होने से पिंपल में आराम मिलता है.

ऐसे ही आप एलोवेरा जैल, पके हुए पपीते के गूदे या संतरे के छिलके का पेस्ट भी चेहरे पर लगा कर फायदा उठा सकती हैं.

युवतियों का मेकअप कैसा हो

युवावस्था में अत्यधिक मेकअप अच्छा नहीं लगता. हलका मेकअप मासूमियत बनाए रखता है.

आंखों पर रंगबिरंगे आईशैड लगाने के बजाय सुनहरे रंग का इस्तेमाल करें. इस से आप की आंखें चमक उठेंगी और साथ ही मेकअप ओवर नहीं लगेगा.

गालों को उभारते हुए चेहरे पर गुलाबी ब्लश लगाएं. इस से आप का लड़कपन छलकेगा और साथ ही युवावस्था का ब्लश भी.

पलकों पर काला मसकारा लगाएं

भड़कीली गहरे रंग की लिपस्टिक न लगाएं. युवावस्था में होंठों पर हलकी गुलाबी या न्यूड रंग की लिपस्टिक अच्छी लगती है.

गृहशोभा विशेष

फाउंडेशन न लगाएं

अक्सर युवतियां अपने पिंपल्स छिपाने के लिए फाउंडेशन लगा लेती हैं. किंतु युवावस्था में फाउंडेशन लगाने से बचना चाहिए. फाउंडेशन 30 साल के आसपास की महिलाओं पर जंचता है. युवतियों को अपने पिंपल छिपाने के लिए कंसीलर और उस के ऊपर टिंटेड मोइश्चराइजर का प्रयोग करना चाहिए.

टिप: कंसीलर लगाने का सही तरीका है कि उसे पिंपल के ऊपर रगड़ा न जाए बल्कि हलके हाथ से हर पिंपल के ऊपर उंगली से लगाया जाए.

हलके-फुलके टिप्स

बालों को सुंदर और रेशमी बनाए रखने के लिए हफ्ते में एक दिन जैतून के तेल से मालिश करें.

होंठों को मुलायम रखने के लिए वैसलीन का इस्तेमाल करना सर्वोत्तम है.

त्वचा को टैन होने से बचाने के लिए सनस्क्रीन लगाना न भूलें. इस से त्वचा टैन होने से बचने के साथसाथ झाइयों व झुर्रियों से भी बचती है.

नाखूनों को कभी दांतों से न काटें. यह आदत न केवल नाखूनों को खराब करती है बल्कि सेहत के लिए भी हानिकारक है. ढंग से नेल फाइलर से फाइल करें.

स्वस्थ त्वचा यानी सुंदर आप

चाहे आप कितना भी सजसंवर लें, यदि आप की त्वचा स्वस्थ नहीं है तो सुंदर लगना मुश्किल है. अपनी त्वचा का ध्यान रखें. हर रात सोने से पहले चेहरा किसी अच्छे क्लींजर से धोएं ताकि चेहरे का अतिरिक्त तेल निकल जाए. उस के बाद अच्छी गुणवत्ता का मोइश्चराइजर लगाएं ताकि आप की त्वचा मुलायम और लचीली रहे.

टिप: त्वचा को स्वस्थ रखने हेतु जंकफूड के सेवन से बचें. खाने में हरी पत्तेदार सब्जियां, अंडा, मछली, दूध से निर्मित खाद्य, फल आदि खाने चाहिए. पानी खूब पीना चाहिए ताकि शरीर से टौक्सिन निकल जाएं.

हफ्ते में एक दिन हलके हाथों से स्क्रब कर डैड स्किन हटा दें. घरेलू स्क्रब बनाने के लिए आप ओटमील या फिर संतरे के छिलकों का प्रयोग कर सकती हैं.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं