हाउस वाइफ हों या वर्किंग विमन, सभी यही चाहती हैं कि उन की खूबसूरती हर पल बनी रहे. वे जहां भी जाएं उन के व्यक्तित्व और खूबसूरती को एक अलग मुकाम मिले. इस के लिए उन्हें हर दिन या तो खुद मेकअप करना होगा या फिर किसी पार्लर में जा कर मेकअप कराना होगा. लेकिन आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में सभी के पास वक्त की कमी है. इन हालात में रोजरोज पार्लर जाना शायद ही किसी के लिए मुमकिन हो. ऐसे में परमानेंट मेकअप एक ऐसा उपाय है, जिस से आप अपना कीमती समय बचा सकती हैं और हर पल खूबसूरत भी दिख सकती हैं. एक बार परमानेंट मेकअप करा लेने से बस, थोड़ी सी देखरेख से ही आप हर पल हसीन नजर आएंगी. नईनवेली दुलहनों के लिए यह मेकअप बहुत ही फायदेमंद है. मेकअप में लगने वाला समय बचा कर दुलहन पति के साथ भी अधिक से अधिक समय गुजार सकती है.

परमानेंट मेकअप की एक विशेषता यह भी है कि इस से एलर्जी या साइड इफेक्ट नहीं होता है. इस लिहाज से यह उन के लिए बहुत ही अच्छा है, जिन की त्वचा पर किसी भी कास्मेटिक से दाने या लाली आ जाती है या किसी प्रकार की अन्य परेशानी हो जाती है. यह हर उम्र में और हर किसी के लिए सुंदर दिखने का बेहतरीन उपाय है. परमानेंट मेकअप 2 प्रकार का होता है, परमानेंट और सेमी परमानेंट.

आंखों के लिए परमानेंट मेकअप

आंखों को खूबसूरत बनाने के लिए परमानेंट मेकअप में कई चीजें मौजूद हैं जैसे परमानेंट आईब्रो, परमानेंट आईलाइनर, परमानेंट मस्कारा, परमानेंट काजल एवं आईलैश पर्मिंग.

परमानेंट आईब्रो

आईब्रो की बनावट और शेप चेहरे की सुंदरता और आकर्षण को काफी प्रभावित करती है. ऐसे में जिन की आईब्रो एकदूसरे से काफी दूरी पर हों या उन में किसी कारण से कट पड़ गए हों, किसी बीमारी के कारण आईब्रो के बाल झड़ गए हों, आईब्रो पतली हों, तो ऐसे में आप अपनी आईब्रो का आकार किसी स्टार या मौडल की तरह पाना चाहती हों तो परमानेंट आईब्रो से आप अपनी आईब्रो को मनचाहा लुक दे सकती हैं. उम्र बढ़ने पर बालोें के साथ आईब्रो भी सफेद हो जाती हैं और ऐसे में 1-1 सफेद बाल हटाने से आईब्रो पतली हो जाती हैं और उन की शेप भी खराब हो जाती है. आईब्रो की इन सभी समस्याओं के लिए परमानेंट आईब्रो एक बेहतरीन उपाय है. परमानेंट आईब्रो एक बार कराने के बाद आप की आईब्रो 15 वर्षों तक खूबसूरत शेप में बनी रहती हैं.

परमानेंट आईलाइनर और परमानेंट काजल

खों को सुंदर शेप देने के लिए आप आईलाइनर पेंसिल का प्रयोग करती हैं और कजरारे नैनों के लिए काजल का, लेकिन गरमी में बहते पसीने और बारिश की बूंदों से लाइनर और काजल फैल जाते हैं और आंखों को खूबसूरती प्रदान करने वाले ये साधन आप की सुंदरता को कम कर देते हैं. इस कारण आप आंखों को सुंदरता प्रदान करने वाले इन साधनों के प्रयोग से डरती हैं. कई बार आप सही तरह से लाइनर नहीं लगा पाती हैं या फिर जल्दी में तैयार होते समय लाइनर इधर का उधर हो जाता है. इसी प्रकार अगर आप आई लेंस का प्रयोग करती हैं तो आईलाइनर या काजल लगाते समय आप को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है, क्योेंकि यह डर लगा रहता है कि कहीं लाइनर और काजल लेंस में न लग जाएं. इसलिए जितनी बार मेकअप करने बैठो उतनी बार लेंस निकालना और पहनना काफी झंझट का काम लगता है. इतना ही नहीं लाइनर लगने के बाद आंखों में लेंस लगाते समय लाइनर फैल जाने पर फिर से टचअप देना पड़ता है यानी किए गए काम को फिर से करना पड़ता है, जिस से मन दुखी हो उठता है. इन सभी समस्याओं से छुटकारा पाने का एक आसान तरीका है परमानेंट आईलाइनर और काजल. इस तकनीक से लगाया गया लाइनर और काजल आप की आंखों को बिना किसी विशेष देखभाल के लगभग 15 वर्षों तक आकर्षक बनाए रखते हैं.

परमानेंट आईलैश पर्मिंग

आप अपनी मनपसंद एक्ट्रेस या मौडल की घनी और कर्ली पलकों को देख कर मन ही मन सोचती हैं कि काश, मेरी पलकें भी ऐसी होतीं जिन से मेरी भी आंखें बड़ी और सुंदर दिखतीं. लेकिन आईलैशेज छोटी होने के कारण अथवा उन में कम बाल होने के कारण आप दुखी हो जाती हैं तो अब खुश हो जाइए, क्योंकि परमानेंट मेकअप में एक नई तकनीक विकसित की गई है, जिस से आप की छोटी लैशेज को बड़ा और घना कर दिया जाता है. उन्हें बेहतरीन कर्ल दे कर आप की आंखोें को बड़ा सा लुक दिया जा सकता है. अगर आप की आईलैशेज बड़ी हैं लेकिन कर्ल नहीं हैं तब भी आप इस तकनीक के माध्यम से अपनी लैशेज को कर्ली करा सकती हैं. इस तकनीक से आप की लैशेज 2 महीनों से भी ज्यादा समय तक चलती रहेंगी और आंखें बड़ी एवं खूबसूरत नजर आएंगी.

सेमीपरमानेंट मस्कारा

आंखों के मेकअप में मस्कारा बहुत ही महत्त्वपूर्ण होता है. आप केवल मस्कारा लगा कर भी आंखों में खूबसूरती और चमक जगा सकती हैं. लेकिन गरमी और बरसात के दिनोें में आप मस्कारा लगाने से डरती हैं कि पसीने और पानी से मस्कारा फैल जाएगा और आप की सुंदरता फीकी पड़ जाएगी तो सेमीपरमानेंट मस्कारा आप की इन समस्याओं का अचूक उपाय है. इसे परमानेंट आईलैशेज पर्मिंग के साथ लगाया जाए तो आईलैशेज ज्यादा कर्ली और आंखें बड़ी नजर आती हैं. एक बार सेमीपरमानेंट मस्कारा लगा कर देखिए, 10-15 दिनों तक आप की पलकें इतनी खूबसूरत दिखेंगी कि सभी आप को अपलक देखते रह जाएंगे.

परमानेंट ब्यूटी स्पाट

चेहरे को सेक्सी लुक देने के लिए और आप के प्राकृतिक सौंदर्य को और भी नैचुरल दिखाने के लिए ब्यूटी स्पाट बनाए जाते हैं. काजल पेंसिल अथवा आईलाइनर से ब्यूटी स्पाट हर बार एक ही जगह पर बना पाना संभव नहीं हो पाता है और यह टिकता भी नहीं है, जिस से ब्यूटी स्पाट नैचुरल नहीं दिखता है, जबकि परमानेंट ब्यूटी स्पाट कम से कम 15 वर्षों तक अपनी जगह पर कायम रहता है, जिस से यह नैचुरल लगता है और आप की ब्यूटी को नैचुरल ब्यूटी होने का प्रमाण देता है.

परमानेंट लिपलाइनर

हरे की सुंदरता में होंठों का बड़ा ही अहम स्थान है और होंठ तभी सुंदर दिख सकते हैं जब इन का आकार सुंदर हो. मोटे, लटके हुए अथवा आकार में छोटेबड़े होंठ चेहरे की सुंदरता को कम कर देते हैं. होंठों को सुंदर शेप देने के लिए महिलाएं लिपलाइनर का प्रयोग करती हैं. इस से होंठ कुछ समय के लिए ही सुंदर शेप में नजर आते हैं. मेकअप क्लीन करने के बाद फिर से होंठों का आकार बनाना मन को कहीं न कहीं यह एहसास दिलाता है कि होंठों का आकार सुंदर नहीं है. परमानेंट लिपलाइनर लगा कर देखिए, आप के होंठों का आकार लगभग 15 वर्षों तक हर पल एक समान सुंदर दिखेगा. अपने होंठों के आकार को आईने में देख कर आप बरबस ही मुसकरा उठेंगी.

परमानेंट लिपस्टिक

गुलाबी होंठों की चाहत हम सभी के मन में होती है, लेकिन कुदरत सभी को खूबसूरत गुलाबी होेंठ नहीं देती है. किसी के होंठ काले होते हैं तो किसी के होंठों पर धब्बे पड़ जाते हैं और किसीकिसी के होेंठ सफेद भी हो जाते हैं. अगर आप के साथ भी यही परेशानी है कि आप के होंठ कुदरती गुलाबी नहीं हैं तो कोई बात नहीं. आप परमानेंट लिपस्टिक का प्रयोग कर सकती हैं और अपने होेंठों को नैचुरल गुलाबी बना सकती हैं. परमानेंट लिपस्टिक लगाने के बाद आप के होंठ करीब 2 वर्षों तक गुलाब की पंखुडि़यों के समान गुलाबी और सुंदर दिखेंगे.

परमानेंट कलरिंग

परमानेंट कलरिंग परमानेंट मेकअप की बहुत ही सफल तकनीक है. इस से ल्यूकोडर्मा के दाग, अन्य प्रकार के धब्बे, त्वचा के निशान अथवा जले, कटे के चिह्न आदि छिपा दिए जाते हैं.

सेमीपरमानेंट नेल कल्चर

अगर आप का कोई नाखून किसी कारण से टूट गया है, इस कारण से अब आप अपने बाकी नाखूनों को एक जैसे आकार में लाने के लिए कटिंग करने जा रही हैं तो आप के लिए सेमीपरमानेंट नेलकल्चर एक बेहतरीन उपाय है. इस तकनीक से आप अपने टूटे हुए नाखून को फिर से उसी आकार में ला सकती हैं और बाकी नाखूनों की कटिंग करने की जरूरत नहीं होगी. आप के नाखून छोटे हैं और जल्दी से नहीं बढ़ते हैं तब भी आप नेलकल्चर तकनीक का प्रयोग कर सकती हैं. इस प्रकार से बने नाखून प्राकृतिक नाखूनों जैसे दिखते हैं और प्राकृतिक नाखून की तरह ही बढ़ते हैं. इन नाखूनों के साथ आप प्राकृतिक नाखूनों की ही तरह घर का सारा काम कर सकती हैं.

सेमीपरमानेंट नेलआर्ट

हाथों की खूबसूरती के लिए आमतौर पर हम सभी नेल पेंट का प्रयोग करते हैं, लेकिन रोजरोज नेल पेंट लगाने का मन नहीं करता है और धीरेधीरे नेल पेंट के रंगों से मन ऊब सा जाता है. इन्हीं चीजों को ध्यान में रख कर सेमीपरमानेंट नेलआर्ट तकनीक की खोज की गई है. इस तकनीक में नाखूनों को विभिन्न रंगों और सामग्रियों से बेहद कलात्मक रूप से सजाया जाता है. आप भी इसे आजमा कर देखिए, आप के नाखून लगभग 3 महीनों तक आकर्षक और मनभावन बने रहेंगे. परमानेंट मेकअप आज की दौड़ में हर पल खूबसूरत और आकर्षक दिखने का एक बेहतरीन साधन है. इस मेकअप से आप अपना बहुमूल्य समय और पैसे दोनों ही बचा सकती हैं. इसे लगाने के बाद आप खुद ही कहेंगी कि परमानेंट मेकअप से हर पल खूबसूरत दिखना, कितना आसान है.

– भारती तनेजा, डायरेक्टर, एल्पस कास्मेटिक क्लीनिक, मोबाइल : 9871444

COMMENT