यह जरूरी नहीं है कि आप फुल मेकअप से ही सुंदर दिखेंगी. कम मेकअप में भी आप की सुंदरता सब को आकर्षित कर सकती है. न्यूड मेकअप आप की त्वचा को इवनटोन रखता है, जिस से चेहरा निखर कर सामने आता है. मेकअप बेस जितना न्यूट्रल होगा आप उतनी ही खूबसूरत लगेंगी.

चीक्स मेकअप

टोनर है जरूरी: अपने चेहरे को फेस वाश से धो कर कौटन बौल को टोनर में भिगो कर उस से चेहरे को पोंछें. मेकअप से पहले जितना जरूरी फेस वाश करना होता है उतना ही जरूरी उस पर टोनर लगाना भी होता है. टोनर लगाने से चेहरे का मेकअप बरकरार रहता है और वह फैलता भी नहीं है.

फाउंडेशन का चयन: फाउंडेशन का चयन अपनी स्किन टोन के हिसाब से करना चाहिए. हमेशा अपनी स्किन से मैच करता फाउंडेशन ही चुनें. हर 5 साल में स्किन टोन बदलती है. यानी आप को हर 5 साल में अपनी स्किन टोन के अनुसार अलग फाउंडेशन की जरूरत होती है. इसी तरह फाउंडेशन लगाने के बाद इसे ब्रश से एकसमान करना चाहिए. ताकि स्किन पर एकसमान रंगत दे. फाउंडेशन अपने चेहरे के रंग से एक शेड हलका यूज करें. इस से चेहरा नैचुरल लगेगा. इस के साथ ही कौंपैक्ट भी फाउंडेशन के रंग का ही यूज करें.

कंसीलर पर हमेशा ध्यान दें: कंसीलर से चेहरे के दागधब्बों और मुंहासों को छिपाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. साथ ही यह चेहरे पर दिखने वाली उम्र की रेखाओं को भी छिपाता है. इस का इस्तेमाल सिर्फ इन चीजों को छिपाने के लिए ही करें और स्किन कौंप्लैक्शन से मैच करता टू वे केक लगाएं. टू वे केक को शरीर के अन्य खुले भागों जैसे कि गरदन, पीठ, कानों एवं कानों के पीछे भी लगाएं.

ब्लशर: चीक्स पर दिन के समय रोजी ब्लशर यूज न करें. इसे रात में लगाएं और वह भी नाक से डेढ़ से 2 इंच की दूरी से लगाना शुरू करें. दिन में गुलाबी गालों पर खूबसूरती की छटा बिखेरने के लिए अपनी स्किन टोन से मैच करता बहुत ही लाइट ब्लश औन लगाना चाहिए. इस से मेकअप नैचुरल दिखता है.

आई मेकअप

आईशैडो: दिन में डार्क कलर का आईशैडो मेकअप को बहुत हैवी बना देता है, इसलिए हमेशा न्यूड या न्यूट्रल कलर का आईशैडो लगाएं. यह नैचुरल भी लगता है और क्लासी भी. मेकअप को नैचुरल दिखाने के लिए लाइट ब्राउन कलर से आंखों को डीप सैट कर के नैचुरल ब्राउन कलर का आईशैडो लगाएं. अगर आप को झुर्रियों की भी शिकायत है तो क्रीम आईशैडो इस्तेमाल करने से बचना चाहिए. उस की जगह पाउडर आईशैडो का इस्तेमाल करें. यह आप के लिए काफी अच्छा रहेगा. शिमर आईशैडो का प्रयोग न करें. यदि आईब्रोज के नीचे हाईलाइट करना चाहती हैं, तो क्रीम कलर से हाईलाइट कर सकती हैं.

आईलाइनर या मसकारा: सुबह के समय कोशिश करें आईलाइनर या मसकारा आंखों के ऊपर और नीचे एकसाथ न लगाएं. एक पतली सी आईलाइनर या काजल की रेखा खींच सकती हैं. डार्क कलर के आईलाइनर को आंखों की लोअरलिड में लगाने से बचें. इस से आंखें थकीथकी सी लगने लगती हैं. इन की जगह व्हाइट या न्यूड कलर के शेड्स का इस्तेमाल कर सकती हैं.

शेप डिफाइन करने के लिए आईलाइनर की जगह आईलैश ज्वौइनर का इस्तेमाल करें, क्योंकि यह दिखाई भी नहीं देता है और आंखों की शेप भी हाईलाइट करता है. आंखों में काजल जरूर लगाएं. इस से आंखें प्यारी और कजरारी दिखती हैं. लेकिन यदि पलकें हलकी हैं और आप उन्हें घना दिखाना चाहती हैं, तो लैशेज को आईलैश कर्लर से कर्ल कर लें. उस के बाद उन पर ट्रांसपैरेंट मसकारा का सिंगल कोट लगाएं.

आईब्रो पैंसिल: आईब्रो पैंसिल या आईब्रो कलर से आईब्रोज को शेप दे सकती हैं. आईब्रो पैंसिल हमेशा लाइट कलर की लें जो आप की आईब्रोज के कलर से हलकी हो. अगर आप बहुत गोरी हैं, तो शेड एक रंग गहरा होना चाहिए. आईब्रो पैंसिल्स कई रंगों में उपलब्ध हैं. वैक्स टच वाली पैंसिल लगाने में बहुत आसान होती है और नैचुरल लुक भी देती है.

लिप मेकअप

अगर आप चाहती हैं कि आप की लिपस्टिक भी लंबे समय तक टिकी रहे तो इस के लिए लिपस्टिक लगाने से पहले कंसीलर का इस्तेमाल करना चाहिए. उस के बाद जिस रंग की लिपस्टिक लगाना चाहती हैं लगाएं, लेकिन उस से पहले लिप लाइनर से लिप्स पर आउटलाइन कर लें. ऐसा करने पर लिप्स काफी आकर्षक लगेंगे और लिपस्टिक भी लंबे समय तक टिकी रहेगी.

यदि लिप्स नैचुरली पिंक हैं, तो उन पर केवल ट्रांसपैरेंट लिप ग्लौस लगाएं. यदि ऐसा नहीं है तो होंठों पर बहुत ही लाइट कलर जैसे कि बबलगम पिंक, पीच पिंक, लेस पिंक या कैमियो पिंक कलर की लिपस्टिक लगाएं. टिशू पेपर से ब्लौट कर लें और फिर ऊपर से हलका सा ट्रांसपैरेंट लिप ग्लौस लगा लें. इस से लिप्स नैचुरल पिंक एवं ग्लौसी नजर आएंगे.

– आश्मीन मुंजाल