गृहशोभा विशेष

हिंदी फिल्म ‘हीरोपंती’ से अभिनय के क्षेत्र में कदम रखने वाले अभिनेता टाइगर श्रौफ का असली नाम जय हेमंत श्रौफ था. बाद में पिता जैकी श्रौफ ने उनका नाम बदलकर टाइगर श्रौफ रखा. टाइगर 4 साल की उम्र से ही मार्शल आर्ट का अभ्यास कर रहे हैं, उन्हें स्टंट और डांस करना बहुत पसंद है. इसलिए अधिकतर वे एक्शन फिल्मों में खुद ही स्टंट करते हैं. उन्होंने एक्शन करते वक्त कभी भी डबल बौडी का इस्तेमाल नहीं किया. यही वजह है कि बहुत कम समय में वे बच्चों और यूथ के आइकौन बन चुके हैं.

शांत और अनुसाशन प्रिय टाइगर अपने पिता को आदर्श मानते हैं और उनकी फिल्म ‘परिंदा’ के रीमेक में पिता की भूमिका निभाना चाहते हैं. अभी उनकी फिल्म ‘बागी 2’ रिलीज होने को है. इस फिल्म में उन्होंने अपने हेयर स्टाइल बदली है, जिसे लेकर पहले वे बहुत भावुक हो गए थे, क्योंकि अब तक के लम्बे बालों को कटवाना उनके लिए आसान नहीं था, लेकिन फिल्म के लुक के लिए उन्हें ये करना पड़ा. वे कहते हैं कि बचपन से लेकर आज तक मेरे बाल हमेशा लम्बे हुआ करते थे. वही मेरी आइडेंटिटी थी. मैं रोया नहीं, पर भावुक जरूर हो गया था.

इस फिल्म में टाइगर ने अलग तरीके के एक्शन किये हैं, जो कठिन ही नहीं खतरनाक भी थे, जिसमें अधिकतर अस्त्र-शस्त्र और हेलिकौप्टर का प्रयोग हुआ है, जिसके लिए आउट साइड लोकेशन में शूटिंग हुई है. इतना ही नहीं उन्होंने अलग लुक के लिए 2 घंटे नियमित वर्कआउट भी किया है, क्योंकि इसमें हैवी बौडी दिखानी थी और टोन दिखने के लिए अलग तरीके के मेकअप का इस्तेमाल किया गया है. टाइगर हर एक्शन खुद करते हैं, डबल बौडी का इस्तेमाल नहीं करते. इस बारे में वे कहते हैं कि डबल बौडी का काम करने वाले लोग पर्दे के पीछे खतरनाक स्टंट करते हैं, उनकी कोई आइडेंटिटी नहीं होती. एक्शन का क्रेडिट हीरो ले जाता है. मैं इसे सही नहीं मानता और खुद स्टंट करना पसंद करता हूं.

पर्सनल लाइफ में टाइगर कभी स्टंट नहीं करते. वे कहते हैं कि स्क्रीन पर अगर मैं टाइगर हूं, तो हकीकत में बिल्ली हूं. बहुत शर्मीला और कम बोलने वाला इंसान हूं. काम के साथ-साथ मुझमें सुधार आया है. मेरी लाइफ बड़ी बोरिंग है. काम के अलावा मैं कुछ नहीं करता. मैं फिल्मों के बारे में अपने पिता से चर्चा नहीं करता, क्योंकि वे भी एक्टर हैं और बहुत कम समय हम दोनों को साथ रहने को मिल पाता है.

bollywood

अपने पिता को टाइगर अपने जीवन का आदर्श मानते हैं. उनके बारे में वे कहते हैं कि मेरे पिता ‘हीरो’ फिल्म से लेकर अब तक बदले नहीं हैं. वे हमेशा ‘डाउन टू अर्थ’ और बिंदास किस्म के इंसान हैं. जिनका स्पौट बौय से लेकर निर्माता, निर्देशक सभी के साथ अच्छा व्यवहार रहता है. वैसा ही मैं भी रहना चाहता हूं.

टाइगर खाने के बहुत शौकीन हैं. वह नौनवेज खाना खाते हैं. इसलिए उन्हें अपने आपको कंट्रोल में भी रखना पड़ता है, ताकि शरीर फिट रहे. उन्हें दुःख इस बात का है कि वे बड़ा पाव, चौकलेट, आइसक्रीम नहीं खा पाते, जो उन्हें खूब पसंद है.

दिशा पाटनी के साथ उनका सम्बन्ध बहुत अच्छा है. उनका और दिशा के डेट करने के बारे में पूछे जाने पर टाइगर कहते है कि हम दोनों के बीच एक अच्छी दोस्ती के अलावा और कुछ भी नहीं है. फिल्म के दौरान हमने साथ-साथ लंच और डिनर किया. जो एक अच्छी दोस्ती की निशानी है.

टाइगर को फैन्स से मिलना बहुत पसंद है, लेकिन टाइगर कई बार उनके इतने प्यार से डरते भी हैं. फैन्स, कभी शर्ट फाड़ देते हैं, पिन चुभा देते हैं या नाखून मारते हैं, जिससे उन्हें कई बार चोट लग चुकी है. अब तक मिली सफलता के बारे में वे कहते हैं कि मैंने जो सोचा उसके लिए बहुत शुक्रगुजार हूं. पिता का नाम रोशन कर रहा हूं. बहुत जल्दी मुझे इंडस्ट्री ने अपनाया है, जो मैंने कभी सोचा नहीं था और मैं खुश हूं.

आने वाले समय में टाइगर ‘स्टूडेंट औफ द ईयर’ में रोमांटिक हीरों की भूमिका निभाने वाले हैं, जिसे लेकर वे बहुत उत्साहित हैं. ये उनका अलग जोन है, जिसमें उन्हें एक ‘कौलेज गोइंग’ लड़के की भूमिका निभानी है.

टाइगर के एक्शन, बच्चे और यूथ बहुत पसंद करते हैं, ऐसे में वे घर और बाहर खुद करने की कोशिश करते हैं. जो कई बार खतरनाक साबित होता है. टाइगर कहते हैं कि ये सभी एक्शन अनुभवी लोगों के सामने उचित सुरक्षा के साथ किया जाता है. इसे कोई खुद करने की कभी कोशिश न करें. आगे मैं बच्चों के लिए एक एक्शन स्कूल खोलने की इच्छा रखता हूं.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं