अचानक राइटर कैसे बन गईं?

अचानक नहीं बनी. राइटिंग की आदत तो मुझे बचपन से है, लेकिन कभी यह नहीं सोचा था कि मेरी कोई पूरी किताब पब्लिश होगी. शुरू से अपनी यादों को पन्नों में लिख कर सहेजने की आदत थी. मैं एक ऐसे परिवार से संबंध रखती हूं, जो बहुत बड़ा है और इस की कई छोटीबड़ी यादें हैं, जिन्हें मैं कहानियों की तरह सहेज कर रखना चाहती थी. मेरी बुक ‘द पर्ल औफ बीइंग मौडरेटली फेमस’ पटौदी परिवार की लोकप्रियता की वजहों को साझा करती है. पब्लिशर ने मुझ से संपर्क किया और फैमिली ने प्रोत्साहित किया तो यह बुक आ गई.

किस तरह की लेखनी पसंद है?

वैसे तो मुझे नौनफिक्शन और फिक्शन दोनों तरह की किताबें पढ़ना पसंद है, लेकिन मैं अधिकतर नौनफिक्शन ही लिखती हूं. लेकिन पढ़ती दोनों हूं, क्योंकि नौनफिक्शन से आप को सीखने को बहुत मिलता है. फिक्शन में आप की क्रिएटिविटी ग्रूम होती है. इस किताब को मैं ने ऐसा लिखा है कि जिस से पढ़ने वाले को लगे कि वह सोहा से बात कर रहा है.

मां बनने के साथसाथ किताब कैसे लिख पाईं?

जब मैं किताब लिख रही थी तब मैं प्रैगनैंट नहीं थी. हां, प्रैगनैंसी के दौरान मैं ने लास्ट चैप्टर लिखा था जो पूरा प्रैगनैंसी पर है

किस विषय पर लिखना पसंद है?

मुझे ट्रैवल करना और ट्रैवलिंग पर लिखना सब से ज्यादा पसंद है. आज लोग किसी टूरिज्म स्पौट के बारे में जानने के लिए वीडियो देखते हैं जबकि मेरा मानना है कि उन्हें उस जगह की जानकारी के लिए बुक पढ़नी चाहिए, जिस में राइटर के जीवंत अनुभव होते हैं. अगर मुझे अभी लिखना पड़े तो मैं टूरिज्म पर पूरी किताब लिख सकती हूं.

इनाया के जन्म के बाद क्या बदलाव आया?

जब से इनाया आई है तब से मेरी दिनचर्या मेरे अनुसार नहीं रही है, उस के अनुसार हो गई है. उस का सोनाजागना ही मेरे और कामों को डिसाइड करता है. लेकिन इस के पापा कुणाल की वही जिंदगी है. पूरा दिन उसी के साथ रहते हैं.

बच्ची का नाम

सोहा बताती हैं, ‘‘जब इनाया का जन्म नहीं हुआ था तब कुणाल हमेशा कहते थे कि अगर लड़का होगा तो यह नाम होगा, लड़की होगी तो वह नाम होगा. मैं ने कभी इस मामले में सोचा नहीं था. इनाया नाम भी कुणाल ने ही सोचा था और जिस दिन उस का जन्म हुआ उस दिन नवमी थी तो पूरा नाम इनाया नौमी रख दिया.’’

अभी तो इनाया प्रोजैक्ट…

सोहा कहती हैं, ‘‘आज कोई मेरे नए प्रोजैक्ट के बारे में पूछता है तो मैं कहती हूं कि अभी तो सिर्फ प्रोजैक्ट इनाया चल रहा है. उस की परवरिश के साथसाथ ‘साहब, बीवी और गुलाम 3’ फिल्म भी पूरी करनी है. एक प्रोडक्शन हाउस रेनगेड फिल्म्स की शुरुआत की है और रोनी स्क्रूवाला के साथ मिल कर जानेमाने वकील और राजनेता राम जेठमलानी की बायोपिक का निर्माण भी कर रही हूं.’’

भाभी डरती हैं ननद से

अभिनेत्री करीना कपूर का कहना है, ‘‘मैं मुश्किल से किसी से डरती हूं, लेकिन अपने परिवार में अपनी ननद सोहा अली खान से बहुत डरती हूं. डिनर के दौरान जब सैफ और सोहा बातें करते हैं तो मैं दोनों की बातचीत सुन कर नर्वस हो जाती हूं.’’

सोहा भी कानूनी पचड़े में

सोहा अली खान को आर्म लाइसैंस के लिए निर्धारित आयु से पहले हथियार रखने का लाइसैंस देने के मामले में हरियाणा लोकायुक्त में मामला दर्ज हुआ. याचिका के तहत कहा गया है कि जब सोहा अली खान को हथियार रखने का लाइसैंस दिया गया था तब उन की उम्र 18 साल 1 महीना थी जबकि लाइसैंस लेने के लिए उम्र 21 साल से कम नहीं होनी चाहिए.

EXCLUSIVE : प्रिया प्रकाश वारियर का ये नया वीडियो देखा आपने…

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.

Tags: