साल 2004 में फिल्म ‘दिल मांगे मोर’ से अपने कैरियर की शुरुआत करने वाली अभिनेत्री सोहा अली खान अभिनेत्री शर्मीला टैगोर और क्रिकेट प्लेयर नवाब मंसूर अली खान पटौदी की बेटी हैं. तीन भाई-बहनों में सबसे छोटी होने की वजह से सोहा अपने परिवार की लाडली हैं. बचपन से ही अभिनय की इच्छा रखने वाली सोहा अपनी पढ़ाई पूरी कर अभिनय के क्षेत्र में उतरी. हालांकि उन्होंने अधिक फिल्में नहीं की और उनकी कई फिल्में सफल भी नहीं थी, पर उनकी कुछ फिल्में दर्शकों को पसंद आई, जिसमें फिल्म ‘रंग दे बसंती’, ‘खोया खोया चांद’, ‘मुंबई मेरी जान’ आदि है. हिंदी के अलावा उन्होंने बांग्ला फिल्मों में भी काम किया है.

अभिनय के दौरान वह अभिनेता कुनाल खेमू से मिली, प्यार हुआ और फिर शादी की. अभी सोहा एक बेटी इनाया (9 महीने) की मां बन चुकी हैं, लेकिन आज भी पहले की तरह ही फिट हैं. मां बनने के बाद उन्होंने अपना वजन 15 किलो घटाया है और फिर से अभिनय के लिए तैयार हैं. अभिनय के अलावा सोहा एक अच्छी लेखिका भी हैं, उनकी किताब ‘पेरिल्स आफ बीइंग मौडरेटली फेमस’ बेस्ट सेलर का नाम कमा चुकी है और आगे वह पेरेंटिंग पर किताब लिखने वाली हैं. आयुर्वेद शंकरा की स्किन केयर प्रोडक्ट के लौंच पर उनसे बातचीत हुई पेश है अंश.

आपकी नजर में ब्यूटी क्या है?

ब्यूटी बाहरी और अन्दुरुनी दोनों होती है और जो सालों तक टिकी रहती है. जब आप खुश रहती हैं तो रौनक और ताजगी आपके चेहरे पर खुद ब खुद आ जाती है. इसके अलावा खूबसूरती आपके स्किन की भी हो सकती है. मेकअप सभी लगाते हैं, लेकिन अगर आपकी त्वचा अच्छी हो तो बिना मेकअप के भी आप सुंदर लग सकती हैं. इसलिए सभी महिलाओं को अपनी देखभाल करनी चाहिए.

क्या आप अपनी त्वचा के लिए कुछ घरेलू उपाय करती हैं?

मुझे याद आता है जब टीनएज में मैं दिल्ली में थी और मौसम बहुत एक्सट्रीम होता था. वहां जो मोयस्चराइजर मां लगाती थी वही हम लगाते थे और कभी-कभी मुल्तानी मिट्टी का पैक चेहरे पर लगा लेती थी. एक्ने होने पर होममेड क्ले मास्क लगा लेती थी. मुहांसे होने पर मैं उसपर टूथपेस्ट भी लगा लेती थी.

बच्चे के साथ अपना ध्यान कैसे रख पाती हैं?

इनाया 9 महीने की हो चुकी है और मुझमें आत्मविश्वास भी आ गया है. मैं उसे समझने लगी हूं और उसके हर ग्रोथ को एन्जाय कर रही हूं. पहले तो मैं डरती थी कि कैसे क्या होगा, क्योंकि वह बहुत छोटी थी, लेकिन मेरी मां मेरे पास 2 महीने तक रहीं थी. इससे मुझे काफी आराम मिला और उस समय जो खाना चाहिए उन्होंने वही खिलाया.

फिर से उसी शेप में आना कितना मुश्किल था?

पहले दो महीने में वजन अपने आप ही घट गया. किसी को इस बात पर पहले तो विश्वास ही नहीं हो रहा था कि मेरा वजन कम कैसे हुआ. असल में उस दौरान मेरी मां एक प्रकार का सूप बनाती थी, जो लो फैट होने के साथ-साथ सारे पोषक तत्वों से भरपूर होता था. हर दिन मैंने उसे पिया और बच्चे को पालने का तनाव भी था, जिससे वजन कम होता गया. इसके अलावा बच्चे को ब्रैस्ट फीडिंग करवाती थी. इससे मैं 4 महीने में पहले जैसे हो गयी. मैंने 15 किलो वजन घटाया है.

महिलाएं कई बार मां बनने के बाद अपने ऊपर ध्यान देना छोड़ देती हैं, उन्हें क्या सलाह देना चाहती हैं? हर उम्र में फिट रहना क्यों जरुरी है?

मां बनने के बाद बहुत जरुरी होता है अपने ऊपर ध्यान देना. इससे आप स्वस्थ रहेंगी और बच्चे की सही देखभाल कर सकेंगी. हर उम्र में फिट रहना जरुरी है. इसके लिए महिलाओं को अपने लिए थोड़ा समय निकालना बहुत जरुरी है. इसमें उनका पहनावा भी शामिल होता है, ताकि आप हमेशा अपने लिए अच्छा महसूस करें.

गर्मियों में और मानसून में अपनी ब्यूटी को कैसे बनाये रखती हैं?

गर्मी और मानसून में पानी पीना सबसे अधिक जरुरी है. मेरी स्किन ड्राई है, तो तरल पदार्थ खूब लेती हूं और अच्छी नींद लेती हूं. इसके अलावा सुबह शाम अपनी स्किन को साफ रखना और एक्स्फोलिएट करना जरुरी है उसके बाद मोइस्चराइज करना आवश्यक है.

कुनाल की तरफ से आपको मिला बेस्ट कोम्प्लिमेंट्स क्या है?

कुनाल हमेशा सही कोम्प्लिमेंट्स देते हैं. उन्होंने कहा है कि मैं एक अच्छी मां हूं.

मां बनने के बाद आप फिर से काम पर लग चुकी हैं, हमेशा काम करते रहना किसी भी महिला के लिए क्यों जरुरी है?

काम करने से आपका स्वास्थ्य और आत्मविश्वास बढ़ता है. ये गलत नहीं, क्योंकि कुछ माएं काम करने को रिग्रेट मानती हैं, जबकि ऐसा नहीं है. बच्चे जब बड़े हो जायेंगे, तो फिर आप अकेले रह जाते हैं, ऐसे में आपका काम ही आपका साथी होता है और इसे संतुलन के साथ करते जाना चाहिए. एक समय तक मां का घर पर होना चाहिए, इसके बाद बच्चे से थोड़ी दूर रहना चाहिए, ताकि बच्चा आत्मनिर्भर बने, लेकिन इन सबमें पति और परिवार का सहयोग होना चाहिए.

आप काम के साथ बच्चे को कैसे सम्हालती हैं?

जब मैं काम पर जाती हूं, कुनाल बच्चे की देखभाल करते हैं और जब वे काम पर जाते हैं, तो मैं घर पर होती हूं. इसके अलावा मेरे सास-ससुर आते जाते रहते हैं और कोई समस्या नहीं होती.

Tags: