गृहशोभा विशेष

EXCLUSIVE : प्रिया प्रकाश वारियर का ये नया वीडियो देखा आपने…

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.

बौलीवुड की देसी गर्ल प्रियंका चोपड़ा द्वारा हाल ही में असम टूरिज्म के लिए कैलेंडर शूट किया गया था, जिसे लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बवाल मचा दिया है. दरअसल, प्रियंका चोपड़ा असम टूरिज्म की ब्रांड अम्बेसेडर हैं. इसलिए उन्होंने असम टूरिज्म के लिए कैलेंडर शूट करवाया है. इसमें प्रियंका ने एक फ्रौक पहनी है जिसमें उनका क्लीवेज दिख रहा है. विवाद इतना बढ़ गया कि इस मुद्दे पर असम विधानसभा में भी चर्चा हुई और नेताओं ने अपनी आपत्ति जताई. उनका आरोप है कि प्रियंका ने इसमें जो कपड़े पहने हैं, उससे असम की संस्कृति की गलत छवि पेश होती है. उन्होंने प्रियंका चोपड़ा को ब्रैंड ऐंबसडर के पद से बर्खास्त करने की भी मांग की है. जिन नेताओं ने इस कैलेंडर में प्रियंका के कपड़ों पर नाराजगी जताई है, उनमें एमएलए नंदिता दास और एमएलए रूपज्योती कुर्मी शामिल हैं.

एक रिपोर्ट के मुताबिक, असेंबली सेशन के दौरान कांग्रेस पार्टी की मेंबर रूपज्योती कुर्मी (एमएलए, मरिअनी), रोजलीन टिर्की (एमएलए, सारुपथर) और नंदिता दास (एमएलए, बोको) ने प्रियंका चोपड़ा पर आरोप लगाया कि उनके इस ड्रेस और पहनावे के कारण असम की सभ्यता को गलत तरह से पेश किया गया है. कांग्रेस पार्टी का कहना है कि फ्रौक किसी भी तरह से असम की वेशभूषा नहीं है और कैलेंडर पर छपे ये फोटोज बिलकुल भी सभ्य नहीं है. फ्रौक की बजाय प्रियंका को यहां की पारंपरिक मेखेला चादर का इस्तमाल करना चाहिए था.

उधर असम टूरिजम कौर्पोरेशन का कहना है कि कैलेंडर में कुछ भी गलत नहीं है. कौर्पोरेशन के चेयरपर्सन ने कहा है कि कैलेंडर को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रमोट करने के लिए लौन्च किया गया है. प्रियंका की अंतरराष्ट्रीय पहचान है और कैलेंडर में उनको लेने से असम की संस्कृति पर किसी भी तरह से बुरा प्रभाव नहीं पड़ा है.

आपको याद दिला दें कि इससे पहले प्रियंका चोपड़ा के प्रधानमंत्री मोदी के साथ शार्ट ड्रेस में नजर आने पर विवाद खड़ा हो गया था. प्रियंका चोपड़ा इन दिनों अमेरिका में है और वहां वह उनके शो क्वांटिको की शूटिंग कर रही है.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं