गृहशोभा विशेष

फिल्म ‘‘रनिंग शादी डॉट कॉम’’ तीन साल तक प्रदर्शन का इंतजार करती रही और अब ‘‘रनिंग शादी’’ के नाम से प्रदर्शित हो पायी है. फिल्म देखकर इस बात का अहसास हो गया कि आखिर इस फिल्म को वितरक क्यों नहीं मिल रहे थे. इस फिल्म में दर्शक के लिए ऐसा कुछ नहीं है, जिसकी वजह से इस फिल्म को सिनेमा घर में प्रदर्शित किया जाता. पर फिल्म प्रदर्शित हो ही गयी. आखिर कभी न कभी घूरे/ कुडे़ के भी दिन बहुर/अच्छे जाते हैं. पूरी फिल्म देखकर आश्चर्य होता है कि इस फिल्म के निर्माता शुजीत सरकार जैसे संजीदा फिल्मकार और निर्देशक अमित राय हैं, जो कि कैमरामैन के तौर पर ‘सरकार’ व ‘सरकार राज’ सहित 15 से अधिक बड़ी फिल्में व कई विज्ञापन फिल्में निर्देशित कर चुके हैं.

पटना का एक तेइस वर्षीय भोला भाला ईमानदार लड़का राम भरोसे पांडे उर्फ छोटू उर्फ लिटिल (अमित साध) काम की तलाश में बिहार से पंजाब के अमृतसर शहर पहुंचता है. और वहां एक लहंगे की दुकान में गोटा लगाने का काम करता है. वह जिस दुकान में नौकरी करता है, उस दुकान के मालिक सरदार जी कठोर स्वभाव के हैं. मालिक की बेटी निम्मी (तापसी पन्नू) अपने पिता से बहुत डरती है. मगर उसके लिए कंडोम खरीदना, शराब का सेवन और खुला सेक्स आम बात है. वह अपने साथ स्कूल में पढ़ने वाले एक लड़के के साथ सेक्स संबंध बनाती है और गर्भवती हो जाती है. तब वह छोटू की मदद से दूसरे शहर जाकर गर्भपात करवाकर आती है.

उधर राम भरोसे जिस इमारत में रहते हैं, उसी इमारत की पहली मंजिल पर इंटरनेट व फेसबुक के दीवाने सरबजीत सिधाना (अर्ष बाजवा) से राम भरोसे की अच्छी दोस्ती है. एक दिन सरदार जी रामभरोसे को अपनी दुकान की नौकरी से बाहर कर देते हैं. इस बीच किसी न किसी बहाने निम्मी, राम भरोसे से भी बात करती रहती है. तो वहीं स्कूल व अन्य दोस्तों के साथ उसका घूमना जारी है. नौकरी छूटने के बाद राम भरोसे व उसका दोस्त एक शादी में पहुंचते हैं. पता चलता है कि लड़की भाग गयी है, इसलिए शादी व खाना पीना रद्द. जब दोनों एक ढाबे पर खाना खा रहे होते हैं, तभी भागी हुई लड़की अपने प्रेमी के साथ पकड़ी जाती है और प्रेमी की पिटाई होती है. यह सब देखकर राम भरोसे अपने दोस्त के साथ मिलकर एक वेबसाइट इस सोच के साथ बनाता है कि जो लोग अपने घरों से भागकर शादी करना चाहते हैं, उनकी मदद की जाए.

उधर निम्मी मन ही मन राम भरोसे से प्यार करने लगी है. पर निम्मी की बात से निराश होकर राम भरोसे पटना में अपने मामा से कह देता है है कि वह नेहा से उसकी शादी तय कर दें. इधर राम भरोसे व उसके दोस्त की वेब साइट ‘‘रनिंग शादी’’ सफल हो जाती है. वह 49 शादी करवा देते हैं. एक दिन निम्मी उससे कहती है कि वह उसका व उसके प्रेमी शंटी को भगाकर शादी करवा दे. बड़ी मुश्किल से राम भरोसे राजी होते हैं. भरोसे के साथ घर से भागने के बाद रास्ते में निम्मी कबूल करती है कि शंटी नहीं आएगा, वह तो भरोसे के साथ शादी करेगी. पर भरोसे तैयार नहीं. मगर हालात कुछ ऐसे बन जाते हैं कि राम भरोसे को अपने दोस्त व निम्मी के साथ भागना पड़ता है. अंततः यह भागकर पटना पहुंचते हैं. तब भरोसे को अहसास होता है कि वह तो निम्मी से प्यार करने लगा है. कई घटनाक्रम तेजी से बदलते हैं. राम भरोसे व निम्मी मिलकर नेहा की शादी उसके प्रेमी से करवा कर खुद शादी करते हैं.

फिल्म की घटिया पटकथा के चलते इस हास्य व रोमांटिक फिल्म के किसी भी दृष्य पर हंसी नहीं आती. बल्कि दर्शक सोचता है कि यह फिल्म कब खत्म होगी. शादी व्याह की समस्या हो या परप्रांतीय का मुद्दा हो या रोमांस हो, कुछ भी ठीक से उभर नहीं पाता. वास्तव में वेब साइट बनने के बाद कहानी खत्म हो जाती है, पूरी फिल्म बिखर जाती है. हकीकत में भागने वालों की शादी कराने की वेबसाइट बनाने का मुद्दा ही अनूठा है, मगर फिल्म के शुरू होते ही आधे घंटे में यह मुद्दा खत्म हो जाता है और फिर वही घिसी पिटी कहानी चलती रहती है. परदे पर अमित साध व तापसी पन्नू की केमिस्ट्री भी इस फिल्म को उबार नहीं पाती है.

निर्देशक अमित राय ने फिल्म में तापसी पन्नू के किरदार को उस रूप में पेश किया है, जिस रूप में फिल्म की हीरोईन को पेश करने से हर फिल्मकार डरता रहा है कि इससे पारिवारिक दर्शक दूर हो जाएंगे. निर्देशक अमित राय ने बेवजह इस फिल्म को एक घंटे 54 मिनट तक खींचा. बेवजह ही मैथिली, हिंदी, भोजपुरी व पंजाबी भाषा के संवाद रखकर ज्यादा से ज्यादा दर्शक बटोरने का असफल प्रयास किया. फिल्म में कहानी की बनिस्बत कुछ घटनाक्रम हैं, जो कि वर्तमान समय के टीवी सीरियलों की याद दिलाते है.

जहां तक अभिनय का सवाल है तो अमित साध और तापसी पन्नू ने अपने हिसाब से बेहतरीन पराफर्मेस दी है, मगर जब पटकथा व किरदार ही घटिया हों, तो बेहतरीन परफार्मेंस से क्या होगा? पंजाबी लड़की के किरदार में तापसी पन्नू और भोले भाले ईमानदार युवक के किरदार में अमित साध जमे हैं.

एक घंटा चौवन मिनट की अवधि वाली फिल्म ‘‘रनिंग शादी’’ का निर्माण शुजीत सरकार और क्राउचिंग टाइगर मोशन पिक्चर्स ने किया है. फिल्म के निर्देशक अमित राय, लेखक नवजोत गुलाटी व अमित राय, संगीतकार अनुपम राय, अभिषेक अक्षय और जेब तथा कलाकार हैं-अमित साध, तापसी पन्नू, अर्ष बाजवा.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं