गृहशोभा विशेष

राजनीति और समाजसेवा में गांधीगिरी का मतलब दूसरा होता है और जिंदगी की जद्दोजहद से जूझती जिंदगी के लिये गांधीगिरी का मतलब दूसरा होता है. फिल्म ‘गांधीगिरी’ में जयंती का किरदार निभा रही मेघना हलधर ने इसको बखूबी समझा है. अपने रोल के बारे में मेघना ने बताया कि उनका किरदार एक ऐसी लड़की का है जिसकी नजर में गांधीगिरी का मतलब सिर्फ नोट पर छपे गांधी जी से होता है. इसे पाने के लिये वह अमीर लोगों को फंसाती है. जिससे वह उनसे गांधीछाप नोट ले सके और खुद अमीर बन सके.

कोलकाता की रहने वाली मेघना बंगाली सिनेमा की बहुत मंझी हुई कलाकार हैं. उनका अपना प्रोडक्शन हाउस है. इसके साथ ही साथ वह फैशनेबल ड्रेस का अपना आउटलेट चलाती हैं. जिसमें उनकी बहन का सहयोग रहता है. मेघना कहती हैं इस फिल्म में मेरा आइटम डांस बहुत अलग है. इसे देखने के बाद लोग मुझे याद रखेंगे. इस फिल्म के बाद मैं हिन्दी फिल्मों में काम करना शुरू करुंगी. इस फिल्म में दर्शक मुझे किस तरह से पंसद करते हैं यह देखना है.

फिल्म गांधीगिरी में ओमपुरी जैसे सशक्त अभिनेता हैं. उनके साथ रिषी भूटानी और डाली चावला जैसे उभरते कलाकार अपनी एक्टिंग में फिल्म में जान डाल रहे हैं. फिल्म के निर्माता प्रताप सिंह यादव कहते है ‘यह फिल्म एक अलग किस्म की कहानी को लेकर बनी है. गांधी पर बनी दूसरी फिल्मों से बहुत अलग है. इसमें सामाजिक मूल्यों को लेकर एक संदेश दिया गया है.’   

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं