हिंदी फिल्म ‘अलाद्दीन’ से 2009 में बौलीवुड में अपना कैरियर शुरू करने वाली श्रीलंका की अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडिस ने बौलीवुड में 5 साल पूरे कर लिए हैं. उन की पहली फिल्म कोई खास नहीं चली पर उन्हें फिल्मों में काम करने के औफर हमेशा मिलते रहे. जैकलीन ने ‘मर्डर टू’, ‘हाउसफुल 2’, ‘रेस 2’ आदि फिल्मों में काम किया. नम्र स्वभाव और सैक्सी छवि की धनी जैकलीन के पिता श्रीलंका से हैं जबकि मां मलयेशियन हैं. जर्नलिज्म की पढ़ाई पूरी करने के बाद जैकलीन ने कुछ दिनों तक राइटिंग का काम किया. मगर सैक्सी छवि की वजह से उन्हें मौडलिंग के कुछ औफर मिले, तो मौडलिंग और म्यूजिक अलबम में काम करने के बाद जैकलीन ने हिंदी फिल्मों की तरफ रुख किया.

काम करने के दौरान जैकलीन फर्नांडिस का नाम कई कोस्टार्स के साथ जुड़ा पर निर्मातानिर्देशक साजिद खान के साथ उन का रिश्ता करीब 3 साल तक चला. साजिद की पाबंदियों से तंग आ कर उन्होंने इस रिश्ते पर पूर्णविराम लगा दिया. इन दिनों जैकलीन कैरियर पर फोकस्ड और अपनी फिल्मों की शूटिंग में व्यस्त हैं. पेश हैं, उन से हुई बातचीत के कुछ अहम अंश:

‘किक’ फिल्म में काम करने का अनुभव कैसा रहा?

यह मेरे कैरियर की सब से बड़ी फिल्म है. बहुत चैलेंजिग रोल था. अभिनय, परफौर्मैंस, रिहर्सल मुझे सब कुछ अधिक करना पड़ा, क्योंकि मेरे कोस्टार सलमान खान थे. ऐसे में निर्देशक को लगना नहीं चाहिए कि उन्होंने मुझे सही कास्ट नहीं किया. मैं ने स्टाइलिंग पर भी काफी मेहनत की. 200 से ज्यादा ड्रैसेज ट्राई कीं. शूटिंग के वक्त शौट ठीक हो, इस के लिए सुबह से ले कर रात तक बारबार रिहर्सल किया. संवाद को ठीक से बोलने की प्रैक्टिस की.

आप की सलमान खान के साथ कैमिस्ट्री कैसी रही?

पहले मैं थोड़ी नर्वस थी. पर जब शूटिंग शुरू हुई तो सहज हो गई, क्योंकि सलमान सैट पर बहुत सहज होते हैं. मैं जब कभी सीरियस हो जाती थी तो वे सीन को डिस्कस कर अभिनय को आसान बना देते थे.

क्या आप अपने कैरियर के ग्राफ से खुश हैं?

मैं बहुत खुश हूं. हां, इतना जरूर है कि मेरे दोस्त कहते हैं कि मैं और अच्छा कर सकती थी, पर मैं हर फिल्म नहीं कर सकती. मुझे अच्छे किरदार की तलाश रहती है. मैं कहानी के साथसाथ कोस्टार और प्रोडक्शन हाउस को भी देखती हूं.