गृहशोभा विशेष

सैफ अली खान के साथ मिलकर ‘इलूमिनाटी’ प्रोडक्शन कंपनी के तहत ‘कॉकटेल’, ‘लव आज कल’, ‘गो गोवा गॉन’ सहित कई फिल्मों का निर्माण करने के बाद जब दिनेश वीजन ने सैफ अली खान का साथ छोड़कर खुद स्वतंत्र रूप से फिल्म निर्माण व निर्देशन के क्षेत्र में उतरने का फैसला किया था, तब उम्मीद जगी थी कि वह कुछ बेहतर काम करेंगे.

लेकिन अफसोस की सैफ अली खान से अलग होते की दिनेश वीजन ने अपनी होम प्रोडक्शन कंपनी ‘मैडॉक फिल्मस’ के तहत जिस फिल्म ‘राब्ता’ का निर्माण व निर्देशन किया है, वह तो सारे चोरों को शर्मसार करने वाली है. दिनेश वीजन ने फिल्म ‘राब्ता’ का निर्माण टीसीरीज के भूषण कुमार के साथ मिलकर किया है जिसमें सुषांत सिंह राजपूत और कृति सैनन की मुख्य भूमिका है.

जब से फिल्म ‘राब्ता’ का ट्रेलर बाजार में आया है, तब से बॉलीवुड में चर्चाएं हैं कि दिनेश वीजन ने एक दो नहीं बल्कि पांच फिल्मों की कहानियों व दृश्यों को मिलाकर एक नई फिल्म ‘‘राब्ता’’ बना दी है.

फिल्म ‘‘राब्ता’’ के ट्रेलर को देखकर फिल्म की कहानी जो समझ में आती है, उसके अनुसार आधुनिक रोमांटिक कहानी के साथ बीते दौर के राजपरिवार की कहानी भी है. यह कहानी समझ में आते ही हर आम इंसान को अक्टूबर में प्रदर्शित फिल्म ‘‘मिर्जिया’’ की याद आ रही है. फर्क सिर्फ इतना है कि राकेश ओम प्रकाश मेहरा की फिल्म ‘‘मिर्जिया’’ में भव्यता थी, जबकि ‘‘राब्ता’’ में भव्यता नहीं है.

तो वहीं कुछ लोगों का दावा है कि ‘‘राब्ता’’ का निर्माण तो दक्षिण भारत की बहुचर्चित फिल्म ‘‘मगधीरा’’ की कहानी चुराकर की गयी है. एस एस राजामौली निर्देशित फिल्म ‘मगधीरा’ की कहानी चार सौ वर्ष पुरानी है. इसमें राजकुमारी की सुरक्षा की जिम्मेदारी नायक लेता है. बीच में विलेन आता है. प्यार व राजपाट दिन जाता है. सदियों बाद दोनों फिर मिलते हैं. दक्षिण में यह फिल्म तेलगू, तमिल व मलयालम में बन चुकी है.

इसके हिंदी रीमेक अधिकार साजिद नाडियावाला के पास है. मगर पिछले पांच वर्ष में कई कलाकार व कई निर्देशक आए व गए, पर फिल्म नहीं बन सकी. परिणामतः ‘राब्ता’ का ट्रेलर देखकर साजिद नाडियावाला भी अंचेभे में हैं.

कुछ लोग फिल्म ‘राब्ता’ का ट्रेलर देखकर इसे सतीश कौशिक और निर्देशक संजय कपूर के साथ अभिनय से सजी फिल्म ‘प्रेम’ की याद आ रही है. इस फिल्म में दो जन्मों की प्रेम कहानी थी. जबकि कुछ लोग इसे नब्बे के दशक की फिल्म ‘‘जानी दुश्मन’’ से चुराई गयी कहानी बता रहे हैं.

तो वहीं फिलम ‘राब्ता’ 8 के झरने के दृश्यों की तुलना एस एस राजामौली की फिल्म ‘‘बाहबुली’’ के झरनों के दृश्यों के साथ कर रहे हैं. यानी कि दिनेश वीजन इतने महान निर्देशक हैं कि उन्हें एक नहीं बल्कि पांच पांच फिल्मों की कहानी व उन फिल्मों के दृश्य तक अपनी नई फिल्म ‘‘राब्ता’’ के निर्माण के लिए चुराने पड़े.

अब बॉलीवुड के बिचौलिए दावा कर रहे हैं कि यदि दिनेश वीजन ने चोरी करने के साथ अपना दिमाग सही ढंग से नहीं लगाया होगा, तो यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर पानी नहीं मांगेगी. खैर फिल्म के प्रदर्शन का तो इंतजार करना ही पड़ेगा.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं