दोनों अभिनेत्रियां चाहे दीपिका पादुकोण हो या प्रियंका चोपड़ा दोनों ने वेस्टर्न वर्ल्ड में अपने काम की वजह से जगह बनायी है और वे उस समय वहां पहचानी गयीं जब वे हिंदी सिनेमा जगत की चोटी पर थीं. दोनों के अभिनय क्षमता को हॉलीवुड में भी पहचान मिली.

दीपिका की फिल्म एक्स एक्स एक्स रिटर्न ऑफ जेंडर केज, उनकी बेबी प्रोजेक्ट थी, जिसमें दीपिका ने काम किया, पर उनकी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर कामयाब नहीं रही. उनका अभिनय खुलकर सामने नहीं आया, फिल्म में कई बार ऐसा लगा की अभिनय में वह बात नजर नहीं आई जैसा कि हॉलीवुड के एक्टर कर रहे थे. ये चाहे भाषा का असर हो या परिवेश का, कहीं कुछ कमी तो होगी, जिसकी वजह से फिल्म सफल नहीं हो पाई.

अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा जिनकी इंग्लिश एक्सेंट अच्छी है और पिछले कई सालों से अमेरिका में हैं और वहां की टीवी धारावाहिक ‘क्वांटिको’ की सेकंड सीजन में भी काम कर अवॉर्ड भी पा चुकी है, हो सकता है कि वह आगे भी तीसरे सीजन में काम करें.

दरअसल प्रियंका मीडिया फ्रेंडली हैं और वहां भी उनके फैन फॉलोअर काफी हैं. बहुत कम समय में उन्होंने अपनी पहचान टीवी जगत में बना ली है. अब प्रियंका अपनी अंग्रेजी फिल्म ‘बेवाच’ के प्रमोशन के लिए मुंबई आई हुई हैं, उनके हिसाब से उसने ‘वेस्टर्न वर्ल्ड’ में अपनी जगह बना ली हैं, जहां उन्हें काम के लिए उन लोगों ने खासतौर पर बुलाया है.

‘बेवाच’ उनकी पहली अंग्रेजी एक्शन फिल्म है, जिसमें उन्होंने नकारात्मक भूमिका निभाई है. फिल्म कैसी होगी? प्रियंका ने कैसी अभिनय की है? यह तो देखने के बाद ही पता चल पायेगा. लेकिन इतना कहना काफी होगा कि हॉलीवुड के निर्माता निर्देशक और एक्टर इसलिए बॉलीवुड की नामचीन एक्ट्रेस को अपनी फिल्मों में लेते हैं, ताकि उनकी फिल्म भारत जैसे इतनी जनसंख्या वाले देश में बॉक्स ऑफिस पर सफल हो.