गृहशोभा विशेष

फिल्म ‘‘परमाणुः ए स्टोरी आफ पोखरण’’को लेकर काफी विवाद हुआ. इस फिल्म का निर्माण जौन अब्राहम की कंपनी ‘‘जे ए इंटरटेनमेंट’’ के साथ ही प्रेरणा अरोड़ा व अर्जुन एन कपूर की कंपनी ‘क्रियाज इंटरटेनमेंट’’ कर रही थी. पर ऐन्ड वक्त पर प्रेरणा अरोड़ा की तरफ से कुछ ऐसी हरकते हुई कि जौन अब्राहम ने फिल्म ‘‘परमाणुः ए स्टोरी आफ पोखरण’’ से ‘‘क्रियाज इंटरटेनमेंट’’ को अलग करने का फैसला लिया. परिणामतः विवाद बढ़ा इस विवाद के चलते फिल्म के प्रदर्शन की तारीखें भी बदली. फिल्म को दर्शकों तक पहुंचाने के लिए जौन अब्राहम को मुंबई उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाना पड़ा. अंततः अदालत ने प्रेरणा अरोड़ा व अर्जुन एन कपूर की कंपनी ‘‘क्रियाज इंटरटेनमेंट’’के साथ ही प्रेरणा अरोड़ा की मां को भी दोषी करार देते हुए उन्हें फिल्म ‘‘परमाणु: ए स्टोरी आफ पोखरण’’से अलग कर दिया. अब जौन अब्राहम अपनी फिल्म को 25 मई को प्रदर्शित करने जा रहे हैं.

प्रेरणा अरोड़ा की कंपनी के साथ विवाद के बाद से जौन अब्राहम ने मीडिया से दूरी बना रखी थी. अब तक उन्होंने इस मसले पर यानी कि प्रेरणा अरोड़ा के साथ जो कुछ विवाद हुआ, उसको लेकर कोई बात किसी से नहीं की. मगर पहली बार जौन अब्राहम ने ‘‘गृहशोभा’’ के संग एक्सक्लूसिव बात करते हुए इस मुद्दे पर खुल कर बात की.

‘‘क्रियाज इंटरटेनमेंट’’ के साथ विवाद की चर्चा करने पर जौन अब्राहम ने कहा– ‘‘हमें काफी तकलीफ हुई. पर जब हम गलत भागीदार चुनेंगे, तो यही होगा. वैसे प्रेरणा के साथ हाथ मिलाने से पहले मैंने अपनी तरफ से बहुत कुछ पता लगाने की कोशिश की थी. पर सब गलत हो गया. प्रेरणा अरोड़ा की कंपनी ने सही समय पर पैसा नही दिया. खैर, पैसा तो उन्होंने अभी भी नहीं दिया है. लेकिन हमने फिल्म बनाते समय कोई समझौता नहीं किया. मगर प्रेरणा अरोड़ा व उनकी कंपनी ‘क्रियाज इंटरटेनेमंट’ के संग लड़ाई में मेरा किसी ने साथ नहीं दिया. मैंने किसी से अपेक्षा भी नहीं की थी. पर मेरी लड़ाई से अब कईयों के लिए रास्ते साफ हो गए. क्योंकि मैं सच के लिए खड़ा हुआ. मैं हमेशा ईमानदारी में यकीन करता हूं.’’

इस विवाद का फिल्म उद्योग पर क्या असर पड़ेगा? इस सवाल पर जौन अब्राहम ने कहा- ‘‘जब झगड़ा चल रहा था, तो मैं अकेले लड़ रहा था, उस वक्त कोई सामने नहीं आया. जब हमें अदालत से जीत हासिल हो गयी, तो सबके फोन आ गए. सभी ने कहा- ‘आप उच्च न्यायालय के आदेश को पढ़िए, उसमें जज साहब ने साफ साफ लिखा है कि ‘क्रियाज इंटरटेनमेंट’ ने इन इन लोगों के साथ धोखाधड़ी की है.’अदालत के आदेश के बाद लोगों ने फोन करके मुझे बधाई दी और कहा- ‘आप अदालत गए. इसलिए हमारे लिए दरवाजा खुल गया. आप में गट्स था कि आप इनके खिलाफ अदालत चले गए. ’क्रियाज के उपर कई मुकदमे हैं. ‘बत्तीगुल मीटर चालू’,‘फन्ने खां’ सभी के रास्ते खुल गए. 22 मई के बाद सभी अदालत में पहुंच जाएंगे. क्योंकि जौन अब्राहम ने इन सबके लिए रास्ते साफ कर दिए हैं.’’

क्रियाज इंटरटेनमेंट जैसी कंपनी की वजह से फिल्म इंडस्ट्री को कितना नुकसान हुआ? इस सवाल पर जौन अब्राहम ने कहा- ‘‘बहुत नुकसान हुआ. पर इसमें फिल्म इंडस्ट्री की अपनी गलती है. सामने वाला हमें पैसा दिखाता है और हम लोग आंख मूंदकर मान लेते हैं कि इनके पास ढेर सारा पैसा है, जो कि यह सही समय पर फिल्म में लगाते रहेंगे. जबकि हकीकत में उनके पास पैसा होता ही नही है. मैंने दो स्टूडियो के आफरों को ठुकरा कर इनके साथ हाथ मिला लिया था. यह मेरी गलती थी. वैसे क्रियाज के साथ हाथ मिलाने से पहले मैंने एक सीनियर कलाकार से फोन करके बात की थी, तो उन्होंने कहा कि यह सही लोग हैं. खैर, जो होना था, हो गया. मैं इस बात से खुश हूं कि मेरी फिल्म 25 मई को रिलीज होगी.’’

कौरपोरेट कंपनियों की वजह से रचनात्मकता को भी काफी नुकसान होता होगा? इस पर जौन ने कहा-‘‘रचनात्मकता को कोई नुकसान नही पहुंचा सकता. क्योंकि वह रचनात्मकता के बारे में कुछ जानते ही नही हैं. पर जब हमारे साथ वह जुड़ते हैं, तो उनका काम कुछ अलग होता है. पैसा लगाना और फिल्म को सही ढंग से प्रसारित करने में उनकी भूमिका होती है.’’

VIDEO : जियोमेट्रिक स्ट्राइप्स नेल आर्ट

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं