फिल्म ‘वाह लाइफ हो तो ऐसी’ में ‘चाइल्ड आर्टिस्ट’ के रूप में अपने अभिनय कैरियर की शुरुआत करने वाले अभिनेता ईशान खट्टर ने युवा होकर ‘बियोंड द क्लाउड’ में अभिनय किया. इसके अलावा उन्होंने कुछ फिल्मों के लिए सहायक निर्देशक का भी काम किया है. वे एक अच्छे डांसर हैं. ईशान नीलिमा अजीम और राजेश खट्टर के बेटे हैं. वे अभिनेता शाहिद कपूर के ‘स्टेप ब्रदर’ भी हैं और अपने भाई के बहुत क्लोज हैं. वे उनसे हर तरह की राय लेते हैं. स्वभाव से हंसमुख ईशान अभी अपनी फिल्म ‘धड़क’ के प्रमोशन पर हैं, उनसे बात करना रोचक था पेश है कुछ अंश.

इस फिल्म को लेकर कितना उत्साहित हैं?

केवल मैं ही नहीं, बल्कि मेरी मां और मेरे भाई शाहिद कपूर भी बहुत उत्साहित हैं. इस फिल्म को मैंने बहुत मेहनत और ईमानदारी से बनाया है उम्मीद है सबको पसंद आयेगा.

फिल्म का कौन सा भाग अधिक मुश्किल था?

इस फिल्म का दूसरा भाग बहुत मुश्किल था 5 दिनों में कोलकाता के इस आउटडोर को खत्म किया गया था. समुद्र के किनारे का यह दृश्य बहुत ही भावनात्मक था, जिसे करने में काफी मुश्किलें आईं. इसके अलावा मेरे चरित्र का पूरा ग्राफ ही काफी चुनौतीपूर्ण रहा है और इससे मुझे सीखने का मौका मिला.

जान्हवी के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा?

वह बहुत ही प्रोफेशनल हैं. सेट पर आते ही चारों तरफ मुस्कान बिखेर देती हैं. मेरे साथ पूरी फिल्म में उनकी ट्यूनिंग सही थी.

फिल्मों में आने की प्रेरणा कहां से मिली?

मैं बचपन से फिल्मों में रूचि रखता हूं. मैंने बहुत फिल्में देखी है. इसके अलावा मैं अपनी मां और भाई के बहुत करीब हूं. वे दोनों ही बहुत अच्छे कलाकार हैं. उनसे प्रेरणा ली और बहुत कुछ सीखा है. इसके अलावा बहुत सारे निर्देशक, डांसर, एक्टर्स आदि हैं जिनसे मुझे बहुत कुछ सीखने का मिला है.

क्या बचपन से ही एक्टर बनना चाहते थे?

परिवार का माहौल फिल्मी था बचपन से उसे ही देखा है. मुझे डांस और एक्टिंग दोनों का बहुत शौक था, लेकिन कभी निर्णय नहीं लिया था कि अभिनय ही करना है. अब तो यही मेरी डेस्टिनी है.

मिडिल क्लास वैल्यू को आप किस तरह से देखते हैं?

मेरी परवरिश साधारण परिवार की तरह ही हुई है. मैं जब 8 साल का था तो एक्टिंग कर ली थी, पर उसका असर मेरे लाइफ पर कभी नहीं पड़ा. मैंने एक साधारण जीवन बिताया है. कल्चरल वैल्यू को बनाये रखने की कोशिश मेरी मां ने हमेशा की है, लेकिन मैं लकी हूं कि मुझे ट्रेवल करने का मौका हमेशा मिला और मैंने उससे बहुत कुछ सीखा है.

शाहिद कपूर का भाई होने की वजह से आपको फिल्मों में आने का मौका मिला और संघर्ष नहीं करना पड़ा, इसे कैसे लेते हैं?

किसी ने मेरी जिंदगी नहीं देखी है और न जानते हैं. मुझे कैसे मौका मिला ये मैं ही जानता हूं. पहली फिल्म के दौरान मैंने जब औडिशन दिया था, तो किसी को पता भी नहीं था कि मैं नीलिमा अजीम का बेटा हूं. बाद में काम करने के दौरान ही सबको पता चल पाया.

क्या किसी भी फिल्म को करते समय शाहिद कपूर से चर्चा करते हैं?

मैं हमेशा से उनसे हर बात की चर्चा करता हूं, लेकिन फिल्म और उसकी भूमिका को लेकर कभी चर्चा नहीं करता. फिल्म ‘धड़क’ के समय उन्होंने केवल सही तरीके से हरियाणवी सीखने की सलाह दी थी.

सेलिब्रिटी स्टेटस को कैसे लेते हैं? आपमें कितना बदलाव आया है?

कोई सेलिब्रिटी स्टेटस अभी मेरे लिए नहीं है, लेकिन जब लोगों से मिलता हूं तो बहुत अच्छा लगता है. मुझमें अभी कोई बदलाव नहीं है, मैं पहले जैसा ही साधारण हूं.

रियल लाइफ में आप कैसे हैं?

मैं अपनी मां की तरह बहुत इमोशनल हूं. खासकर परिवार के किसी की समस्या को देखकर घबरा जाता हूं.

बौलीवुड एक्टर्स में आप किससे बहुत अधिक प्रेरित हैं?

मेरे भाई शाहिद कपूर से बहुत प्रेरित हूं इसके अलावा रणवीर कपूर का काम भी मुझे बहुत अच्छा लगता है. महिला एक्टर्स में आलिया भट्ट, दीपिका पादुकोण, करीना कपूर आदि हैं. जिन्होंने काफी अच्छा काम किया है. मैं सभी के अच्छे काम को देखना पसंद करता हूं.

Tags: