गृहशोभा विशेष

अपने चुलबुले अंदाज में जब पहली बार राजस्थान की छोरी जिज्ञासा सिंह छोटे परदे पर आई तो दर्शकों को यकीन ही नहीं था कि कुछ ही दिनों में यह लड़की अपनी मासूम अदाओं से लोगों को अपना दीवाना बना लेगी. परदे पर सीधीसादी व घरेलू दिखने वाली यह लड़की रीयल लाइफ में बहुत फैशनेबल और ग्लैमरस है.

टैलीविजन सीरियल ‘थपकी प्यार की’ से अपने कैरियर की शुरुआत करने वाली जिज्ञासा कई रिऐलिटी शोज और धारावाहिकों में काम कर चुकी हैं. कलर्स टीवी के सीरियल ‘देव 2’ में वे मुख्य किरदार निभा रही हैं. शो के प्रमोशन के दौरान उन्होंने अपनी फिटनैस से ले कर लवलाइफ तक की बातें शेयर कीं. पेश हैं मुख्य अंश:

ऐक्टिंग को कैरियर कैसे चुना?

मुझे खुद पता नहीं कि मैं ऐक्ट्रैस कैसे बन गई, क्योंकि बचपन से ही मैं कुछ और बनने का सपना संजोए हुए थी. मैं ने कभी नहीं सोचा था कि मैं इस क्षेत्र में अपना कैरियर बनाऊंगी. स्कूलटाइम में कुछ प्ले जरूर किए थे जिन में मेरे काम को लोगों ने सराहा था, लेकिन मैं ने तब सोचा नहीं था कि मैं ऐक्टिंग के क्षेत्र में आऊंगी. कालेजटाइम पर किसी ने मुझे बताया था कि टीवी शो ‘सिनेस्टार’ के औडिशन चल रहे हैं. मेरी सहेली ने अपने फौर्म के साथ मेरा फौर्म भी भर दिया. मैं अपनी सहेली को औडिशन दिलाने मुंबई आई. लेकिन उस का तो नहीं, मेरा सिलैक्शन हो गया. उस के बाद काम मिलता गया और आज मैं यहां तक पहुंची हूं.

सीरियल ‘थपकी प्यार की’ में आप का कैरेक्टर बिलकुल अलग था, ‘देव 2’ में उस से हट कर है, आप को क्या बदलाव करने पड़े अपनी ऐक्टिंग में?

सच में टीवी सीरियल ‘थपकी प्यार की’ से मुझे एक नई पहचान मिली है. आज भी कहीं बाहर जाती हूं तो लोग मुझे थपकी कह कर ही पुकारते हैं. जब आप का कैरेक्टर आप के नाम से ज्यादा हिट हो जाए तो सब से ज्यादा खुशी उस कलाकार को मिलती है जिस ने उस कैरेक्टर को निभाया है. लेकिन मैं उस कैरेक्टर से हट कर कुछ अलग करना चाहती थी, इसलिए धारावाहिक ‘देव 2’ में ध्वनि के किरदार के लिए हां किया. थपकी सीधीसादी मासूम लड़की थी, लेकिन ध्वनि उस के अपोजिट नौटी और बबली गर्ल है.

वह गैजेट्स की फैन है और हमेशा सोशल मीडिया व डेटिंग साइट्स पर व्यस्त रहती है. मेरा किरदार बड़ा रंगीन है. इस किरदार को करने में तो शुरू में मुझे हिचकिचाहट हुई, लेकिन कुछ अलग करने की इच्छा ने बहुत मोरल सपोर्ट किया.

रीयल लाइफ में जिज्ञासा कैसी है?

मैं रीयल लाइफ में थपकी की तरह हूं, लेकिन इतनी मासूम भी नहीं हूं. मैं फैशनेबल और पैशनेट हूं.  हमेशा जमाने के साथ चलने की कोशिश करती हूं. बाइक भी चलाती हूं, गैजेटफ्रैंडली भी हूं और मेकअप, फिटनैस पर हमेशा ध्यान देती हूं. मेरे पापा मेरे सब से करीब हैं. उन्होंने हर समय मेरी बहुत हैल्प की है. जब भी मैं डिसीजन लेने में नर्वस होती हूं तो वे हमेशा मुझे एनकरेज करते रहते थे. मैं जब दिल्ली में स्टडी कर रही थी तब मेरे पास ‘थपकी प्यार की’ के लिए लीड ऐक्ट्रैस के लिए फोन आया तो मैं कन्फ्यूज्ड हो गई. मैं ने न कोई प्ले किया न कोई टीवी शो. तब पापा ने कहा था कि हमेशा मौके घर चल कर नहीं आते. मेरे लिए हमेशा मेरी फैमिली फर्स्ट है. मैं आज भी अपने पापा की परी हूं.

ऐक्टिंग कहां सीखी?

कहीं नहीं, लेकिन लोगों को फौलो बहुत किया है. मैं पुरानी क्लासिकल फिल्मों की बहुत बड़ी फैन रही हूं. देवानंद, नसीरुद्दीन शाह, नवाजुद्दीन सिद्दीकी, मनोज बाजपेई की भी फिल्में मैं ने बड़े गौर से देखी हैं. मुझे ऐक्ट्रैस में विद्या बालन कमाल की अदाकारा लगती हैं. वे हमेशा नैचुरल ऐक्टिंग करती हैं. उन के फिगर और उन की ऐक्टिंग दोनों की मैं बहुत बड़ी फैन हूं. इस के अलावा जो भी सीखा है कैमरे के सामने ही सीखा है.

आगे की प्लानिंग क्या है?

अभी कुछ ज्यादा सोचा नहीं है. डांस और कराटे क्लास जौइन की है क्योंकि मैं सभी अंतरंगी किरदारों को परदे पर निभाना चाहती हूं. अगर कोई अच्छा शो या बौलीवुड से किसी फिल्म का औफर आता है तो मैं उस के लिए तैयार हूं. आज के दौर में फिल्मों से कलाकार टैलीविजन पर आ रहे हैं और टीवी कलाकार फिल्मों में जा रहे हैं. आज कलाकार सभी मीडियम में काम करना चाहते हैं. उन के लिए ऐक्टिंग माने रखती है.

‘थपकी प्यार की’ में हकलाने वाली लड़की का रोल करने में कोई परेशानी आई?

मैं ने काफी समय तक हकलाने वाली लड़की का रोल किया था. तब रीयल लाइफ में मैं ने कम बोलना शुरू कर दिया था, क्योंकि कैरेक्टर को करतेकरते सामान्यतौर पर भी जब मैं बात करती तो उसी तरह हकलाने लगती. मेरे पापा मुझे हमेशा टोकते थे कि कैरेक्टर सिर्फ शूटिंग तक ही रहना चाहिए, घर पर मुझे जिज्ञासा मिलनी चाहिए. मुझे हकलाने की ट्रिक समझ आ गई थी. जब छोड़ने का मन हुआ तो पहले जैसे बहुत बातें करने लगी थी.

फिट रहने के लिए फिटनैस टिप्स

मैं रैगुलर ग्रीन टी पीती हूं. डाइटिंग में विश्वास नहीं करती, पर फैट और राइस को इग्नोर करती हूं. मैं रागी और ग्लूटेन फ्री स्टफ को ज्यादा इस्तेमाल करती हूं. डीप फ्राई डाइट से हमेशा बचती हूं. ऐक्सरसाइज करती हूं और जब समय मिलता है क्रंचेस करती हूं.

दांत टूटे शूटिंग में

‘थपकी प्यार की’ सीरियल की शूटिंग के दौरान जिज्ञासा अपने दांत भी तुड़वा चुकी हैं. एक सीन के दौरान जिज्ञासा को तेजी से दौड़ना था और शूटिंग के दौरान वे ढलान से नीचे गिर गईं. उन का चेहरा जमीन पर लगा और उन के कुछ दांत टूट गए. मुंह के अंदर टांके लगाने पड़े.

बौयफ्रैंड की खबरें भी लाइमलाइट में रहीं

जिज्ञासा सिंह जब सीरियल ‘थपकी’ में काम कर रही थीं तब उन का नाम अपने कथित बौयफ्रैंड अंकित बठला से जुड़ने लगा था, लेकिन जैसे ही अंकित शो से बाहर गए तभी से उन की और जैनिफर विंगेट के कथित बौयफ्रैंड सहबान अजीम से दोस्ती गहराते जा रही है. अजीम और जिज्ञासा की दोस्ती से  शो के दूसरे कलाकार मनीष गोपलानी को काफी तकलीफ हुई थी.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं