गृहशोभा विशेष

श्रद्धा कपूर अपनी शानदार ऐक्टिंग के लिए तो जानी जाती हैं, साथ ही उन की सुंदर फिगर की भी हर जगह तारीफ होती है. श्रद्धा वीट ब्रैंड को प्रमोट करती अकसर टीवी पर नजर आती हैं. हाल ही में वीट निखार के लौंच पर जब दिल्ली आईं तो उन्होंने अपने सौंदर्य निखार और अपनी सुंदर काया पर खूब बातें कीं.

आइए, जानें क्या कहा श्रद्धा कपूर ने अपनी फिटनैस और सौंदर्य के बारे में:

मेरे लिए फिटनैस के माने

फिटनैस का मतलब शरीर का अंदर और बाहर दोनों तरफ से तंदुरुस्त होना है. जैसे हम अपने शरीर की बाहरी सफाई का खयाल रखते हैं वैसे ही शरीर की अंदर की सेहत का भी हमें खयाल रखना चाहिए. तभी हम कह सकते हैं कि हम तंदुरुस्त हैं.

डांस है मेरी जिंदगी का हिस्सा

मुझे डांस करना बहुत पसंद है. मैं बचपन से डांस करती आ रही हूं. डांस कर के मैं खुद को बहुत फिट, लचीला और चुस्त पाती हूं. डांस कर के जहां मुझे शरीरिक रूप से फायदा मिलता है, वहीं दिमागी रूप से भी बहुत रिलैक्स महसूस करती हूं. मुझे जब भी मौका मिलता है डांस करती हूं. मैं डांस को अपनी फिटनैस के लिए बहुत उपयोगी मानती हूं.

डाइट पर कंट्रोल

हमारी डाइट का शरीर से गहरा नाता होता है. हम जैसा खाएंगे हमारा शरीर वैसा ही रिएक्ट करेगा. अच्छा खाएंगे तो शरीर तंदुरुस्त रहेगा और यदि खाने के प्रति लापरवाह हो जाएंगे तो कोई न कोई तकलीफ होती रहेगी. इसलिए डाइट पर बहुत ध्यान देना चाहिए. मैं अपनी डाइट में ऐसी चीजें खाना पसंद करती हूं जो हाई प्रोटीन, फाइबर और मिनरल्स युक्त होती हैं. डिनर 8 बजे से पहले कर लेती हूं और बहुत लाइट डिनर करती हूं. रात को सोने से पहले कभी दूध में थोड़ा सा केसर डाल कर पीती हूं तो कभी हलदी मिला कर.

पानी है बहुत जरूरी

हमारे शरीर में पानी की मात्रा बहुत अधिक होती है और उसे बनाए रखना बहुत जरूरी है. शरीर में पानी की कमी नहीं होनी चाहिए वरना वह कई तरह के रोगों की चपेट में आ जाता है. मैं खूब पानी और जूस पीती हूं. ताजे फलों का जूस और खूब सारे मौसम के अनुसार फल मेरी रोज की डाइट में रहते हैं.

जिम भी जाती हूं

मेरी कोशिश रहती है कि रोज जिम जाऊं. कई बार शूटिंग के कारण नहीं जा पाती हूं तो मैं साइकलिंग, कार्डियो खूब करती हूं. सुबह दौड़ लगाने जाती हूं. दौड़ मेरी बौडी को शेप में रखने का काम करती है. इस के अलावा प्राणायाम करने से मुझे अंदरूनी ताकत और शांति मिलती है.

खुशी

हो सकता है लोगों को अजीब लगे, लेकिन मैं मानती हूं कि हम जिस माहौल रहते हैं यानी हमारा घर, हमारे दोस्त, हमारा वर्कप्लेस, उस के साथ अगर हम खुश हैं, तो उस का असर हमारी सेहत पर भी पड़ता है. अगर मैं फिट हूं तो इस में मेरे घर के अच्छे खुशनुमा माहौल का भी बहुत सहयोग है, क्योंकि जब घर का माहौल ही खुशनुमा नहीं होता, घर में हर वक्त झगड़ा होगा तो उस से इंसान तनाव में जीने लगता है, जिस का सीधा असर सेहत पर पड़ता है. इसलिए बहुत जरूरी है कि हम सब को अपने घर का माहौल हमेशा खुशनुमा बनाए रखना चाहिए.

खुद बनाती हूं अपना फेस पैक

मैं ने बचपन में देखा है कि किस तरह मेरी मां रसोईघर में उपलब्ध नैचुरल चीजों से अपने लिए कई तरह के फेस पैक खुद घर पर ही बनाती थीं और यूज करती थीं. मैं ने भी बड़ा होने पर उन नुसखों को अपनाया और अब अपने लिए कई तरह के फेस पैक और स्क्रब खुद घर पर ही बना लेती हूं. मैं ने अपनी मां से और भी कई ब्यूटी टिप्स लिए हैं.

सौंदर्य और सेहत के लिए हलदी

हलदी हमारे रसोईघर का एक ऐसा मसाला है जोकि सेहत और सौंदर्य दोनों के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद है. इसलिए जब भी कोई मुझ से इस बारे में बात करता है तो मैं उसे हलदी का प्रयोग ज्यादा करने की सलाह देती हूं. मैं खुद भी ऐसे सौंदर्य उत्पाद खरीदती हूं, जो हलदी बेस्ड हों. हलदी निखार लाने में बहुत ज्यादा उपयोगी है. वीट ने भी अपना हलदी निखार पेश किया है.

हलदी को अपने कई सारे फेस पैक में यूज कर सकती हैं. हलदी के लेप से कई घावों को भी भर सकती हैं. दूध में हलदी मिला कर पीने से अंदरूनी सेहत अच्छी रहती है. इसीलिए महिलाएं ऐसे ब्यूटी प्रोडक्ट्स को ज्यादा पसंद करती हैं, जो हलदी युक्त हों. मैं खुद हलदी युक्त प्रोडक्ट यूज करना पसंद करती हूं.