गृहशोभा विशेष

‘सीहौक्स’ सीरियल से अपने कैरियर की शुरुआत करने वाली अभिनेत्री सिमोन सिंह की पहचान ‘हिना’ सीरियल से हुई. इस के बाद इन्होंने पीछे मुड़ कर नहीं देखा. सीरियलों के अलावा सिमोन ने अपना जलवा फिल्मों में भी दिखाया, जिन में ‘रण’, ‘डेल्ही हाइट्स’, ‘कल हो न हो’, ‘बीइंग साइरस’, ‘कभी खुशी कभी गम’ आदि फिल्में हैं.

एक लंबे बे्रक के बाद सिमोन सिंह ने अब ‘एक हसीना थी’ धारावाहिक में अमीर और शक्तिशाली महिला साक्षी गोयनका की भूमिका में छोटे परदे पर वापसी की है.

यहां पेश हैं, सिमोन सिंह से हुई बातचीत के कुछ खास अंश:

सब से पहले आप अपनी खूबसूरती और ब्यूटीफुल स्माइल का राज बताइए?

यह सब कुदरत की देन है. जब इंसान अंदर से खुश होता है तो वह खुशी उस के चेहरे पर झलकती है और वही खुशी शायद मुझे खूबसूरत दिखाती है.

आप ने अपना आखिरी सीरियल 2010 में ‘लीप औफ फेथ’ किया था और आप की आखिरी फिल्म ‘रण’ 2009 में आई थी. तब से अब तक आप कहां थीं?

मैं अपने घरपरिवार पर ध्यान दे रही थी. पर ऐसा नहीं है कि मैं ने बे्रक ले लिया था. मैं ने ‘क्विज शो’, ‘टाक शो’ आदि किए, लेकिन फिक्शन कोई नहीं किया. इस की वजह यह थी कि मैं कोई दमदार रोल करना चाहती थी, जो मुझे नहीं मिला. वह रोल अब मिला.

थ्रिलर शो करने की क्या वजह है?

मैं लीक से कुछ अलग हट कर करना चाहती थी, क्योंकि एक ही ढर्रे वाले सीरियलों से मैं ही नहीं लोग भी बोर हो गए थे. इस में मेरा रोल बहुत ही दमदार है. यह एक ऐसी औरत का कैरेक्टर है, जो खुद पर बहुत विश्वास करती है, इसलिए बहुत ज्यादा पावरफुल महसूस करती है.

अब आप और किस तरह के रोल करना चाहती हैं?

मेरा कौमेडी करने का बहुत मन है. वाकई दूसरों को हंसाना सरल नहीं है, बहुत कठिन है.

आजकल नारी सशक्तीकरण की बात बहुत होती है. इस बारे में आप के क्या विचार हैं?

नारी सशक्तीकरण से सोसाइटी को आगे बढ़ाया जा सकता है. मेरे सीरियल ‘एक हसीना थी’ में ऐसी ही नारी की कहानी है, जो अतीत में हुए एक अपराध के लिए इंसाफ की लड़ाई लड़ रही है. उस ने इंसाफ पाने के लिए बहुत कुछ बदलने का बीड़ा उठाया है.

आप अपनी शौपिंग कहां से करती हैं?

मैं ज्यादातर अपनी शौपिंग न्यूयार्क व दिल्ली से करती हूं और कपड़े अच्छे ब्रैंड के ही लेती हूं.

अपनी ड्रैस किस डिजाइनर से डिजाइन करवाती हैं?

मैं वेलडेल रोड्रिक्स, अंशु अरोड़ा और राजेश प्रताप सेन की डिजाइन की हुई ड्रैसेज ही पहनती हूं. इस के अलावा मुझे हैंडलूम व चंदेरी साडि़यों का कलैक्शन करना बहुत पसंद है.

आप को मेकअप और ज्वैलरी का शौक है?

मेकअप मैं ज्यादा पसंद नहीं करती, लेकिन शूटिंग के समय मुझे करना पड़ता है. पर मुझे फंकी ज्वैलरी का बहुत शौक है.

आप को खाना बनाना आता है?

हां, मैं थाई फूड व इटैलियन फूड बहुत अच्छा बनाती हूं. जो नहीं बना पाती वह जापानी फूड है.

आप के पसंदीदा ऐक्ट्रैस और ऐक्टर?

ऐक्ट्रैस में मुझे आलिया भट्ट और ऐक्टर में रणबीर कपूर पसंद है. ये दोनों बहुत टैलेंटेड हैं. इस के अलावा हौलीवुड का रौबर्ट डस्टिन हाफमैन मुझे पसंद है.

आप की हौबीज क्या हैं?

मुझे ट्रैवलिंग, रीडिंग और आर्किटैक्चर का बहुत शौक है और हर नई जगह मुझे अच्छी लगती है.

किस तरह की बुक पढ़ती हैं?

मैं फिक्शन और नौन फिक्शन दोनों ही पढ़ती हूं. मुझे लगता है कि आप किताबों के सहारे एक ही समय में दूसरी दुनिया में पहुंच जाते हैं.

टै्रवलिंग के दौरान कौन सी जगहें अच्छी लगीं?

स्कौटलैंड बहुत खूबसूरत है. गोवा के बीचेज पर घूमते हुए ऐनर्जी मिलती है, जिस से बहुत सुकून मिलता है. न्यूयार्क में मुझे मनहट्टन पसंद है.

ऐड और फिल्मी ऐक्टिंग में आप को क्या पसंद है?

मुझे दोनों ही पसंद हैं. ऐड में आप को  25 से 30 सैकंड यानी एक निश्चित समय में अभिनय करना होता है और उस में कम समय में ज्यादा पैसा भी मिलता है. पर मुझे फिल्मी ऐक्टिंग ज्यादा पसंद है, क्योंकि वह ज्यादा रोचक होती है.

दिल्ली में आप कहां पर रहीं?

मैं ग्रेटर कैलाश में रही. दिल्ली बहुत अच्छी है. 

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं