गृहशोभा विशेष

दुलहन की शादी की ड्रैस और ज्वैलरी पर हजारों रुपए खर्च कर दिए जाते हैं पर उस के फुटवियर पर ध्यान नहीं दिया जाता. ड्रैस से मैचिंग फुटवियर न होने से दुलहन की खूबसूरती चांद में दाग जैसी हो जाती है. दुलहन के लुक और पर्सनैलिटी को संवारने के लिए डिजाइनर गारमैंट, ज्वैलरी, मेकअप ही पर्याप्त नहीं, उस के लिए सही फुटवियर का चुनाव भी जरूरी है. अधिकतर फुटवियर की खासीयत को यह सोच कर नजरअंदाज कर दिया जाता है कि यह कपड़ों के नीचे छिप जाता है. ऐसे में खास फुटवियर की क्या जरूरत है? लेकिन जहां तक डेली यूज फुटवियर की बात हो तो कुछ भी पहन लिया चल जाता है पर शादी के समय इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए.

हर किसी को अलगअलग डिजाइन के जूते और सैंडल पहनना पसंद होता है. किसी को हाई हील तो किसी को फ्लैट चप्पलें या कवर्स शूज पहनना पसंद है. इस बात का ध्यान रखें कि दुलहन के फुटवियर का सिलैक्शन उस की ड्रैस के अनुसार हो. तभी उस की पर्सनैलिटी उभरेगी.

दुलहन के लिए फुटवियर खरीदते समय इन बातों पर ध्यान दें:

  1. दुलहन की हर ड्रैस के हिसाब से अलगअलग फुटवियर होना चाहिए. इस में चप्पलें, सैंडल, जूतियां आदि शामिल करें.
  2. लहंगे पर राजस्थानी जूतियां अधिक सूट करती हैं.
  3. बारिश के दिनों में शादी हो रही है तो लैदर फुटवियर न चुनें. ठंड के दिनों में पैक वाले और गरमी के दिनों में ओपन फुटवियर का चुनाव करें.
  4. पसंद किए गए फुटवियर को पहन कर कारपेट पर चल कर देख लें. इस से यह पता चल जाता है कि फुटवियर पैरों के लिए सही है या नहीं.
  5. सख्त फ्लोर पर कई बार चल कर देखें. इस के अलावा फुटवियर पहन कर अपने पैरों को अलगअलग ऐंगल में मोड़ कर भी देखें कि कहीं वह पैरों को तकलीफ तो नहीं दे रहा. टाइट या अनइजी फील करने पर उस फुटवियर को सिलैक्ट न करें.
  6. किसी भी फुटवियर को उस के कलर या डिजाइन की वजह से पसंद न करें. हर तरह के कलर, डिजाइन हर किसी को सूट नहीं करते.
  7. जब फुटवियर खरीदने जाएं उस वक्त अपने पास दुलहन की ड्रैस जरूर रखें ताकि आप फुटवियर उस के साथ मैच कर सकें.
  8. फुटवियर को पहनने के बाद फुललैंथ मिरर में जरूर देख लें. अगर फुटवियर बौडीशेप और ड्रैस को सूट न करे तो न खरीदें.
  9. अगर आप हैवी हैं तो स्किनी स्टिलैटो का सिलैक्शन करें. इस के लिए थिकर हील स्टाइल बेहतरीन औप्शन है.
  10. शादी में दुलहन को लंबे समय तक फुटवियर पहने बैठे रहना पड़ता है, इसलिए ध्यान रख कर ऐसे मैटीरियल का सिलैक्शन करें जो सांस ले सके. इस के लिए सौफ्ट लैदर फुटवियर अच्छा होता है. यह लाइट व फ्लैक्सिबल होता है. इस से पैरों के वमैंट में आसानी होती है.
  11. आजकल स्टोंस और मोतियों वाली चप्पलें, जूतियां काफी पसंद की जा रही हैं, जो दिखने में बहुत सुंदर लगती हैं. पर इस बात का ध्यान रखें कि कारीगरी वाली चप्पलें ब्रैंडेड कंपनी की ही लें वरना 1-2 स्टोंस या मोती निकलने पर फुटवियर का लुक बेकार हो जाता है.
  12. फुटवियर खरीदते समय उस के मैटीरियल के हिसाब से मैंटेनैंस के बारे में दुकानदार से जानकारी ले लें. फुटवियर के साथ उस की पौलिश या मैंटेनैंस का सामान भी खरीद लें ताकि बाद में परेशान न होना पड़े.
  13. शादी के लिए खरीदे गए फुटवियर को ड्रैस के साथ पहन कर घर में चलने की प्रैक्टिस कर लें ताकि शादी की रस्मों के समय कोई परेशानी न हो.
आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं