गृहशोभा विशेष

लोग पैसा कमाने और जमा धन को बढ़ाने के लिए कई तरह के पूजापाठ, दान, हवन, मंत्र, टोटकों वगैरह का सहारा लेते रहते हैं. मगर हकीकत में दान और पूजापाठ के बाद किसी को भी कुछ खास फायदा नहीं हुआ है. उलटे, मेहनत की कमाई और बचा कर रखी गई जमापूंजी डूबती रहती है. इस के बाद भी लोगों की आंखें नहीं खुल रही हैं. इनवैस्टमैंट गुरु कुमार जीतेंद्र कहते हैं कि अपनी मेहनत की कमाई सही जगह और सही समय पर निवेश करने से ही अच्छी कमाई मुमकिन है. इस के लिए मार्केट में कई विकल्प हैं, जिन में से कुछ आगे बताए जा रहे हैं. उन्हें अच्छी तरह समझबूझ कर इनवैस्ट किया जाए, तो सच में धन की बारिश हो सकती है.

एसआईपी और ईटीएफ : म्यूचुअल फंड की एसआईपी (सिस्टेमिक इनवैस्टमैंट प्लान) में पैसा डालना काफी फायदेमंद होता है. जिन निवेशकों को बाजार की समझ नहीं है या समय की कमी है, वे इस प्लान में पैसा डाल कर शेयर बाजार की तेजी का लाभ उठा सकते हैं. इंडेक्स आधारित फंड यानी ईटीएफ ऐक्सचेंज ट्रेडेड फंड में पैसा डाल कर आप निश्चिंत बैठ सकते हैं. इस का कारोबार शेयर बाजार में शेयरों की तरह होता है, जिस से शेयर बाजार की उछाल का फायदा मिलता है.

पीपीएफ : पीपीएफ (पब्लिक प्रौविडेंड फंड) में पैसा रखने से मुनाफा तो बढि़या मिलता ही है, साथ ही टैक्स की भी छूट मिलती है. केंद्र सरकार के अधीन होने की वजह से इस में जमा रकम पूरी तरह से सुरक्षित रहती है और इस का ब्याज दर भी बैंकों के मुकाबले ज्यादा होता है. आम निवेशक इस में क्व500 से खाता खुलवा सकता है.

फिक्स्ड डिपौजिट : बैंकों में फिक्स्ड डिपौजिट स्कीम में रकम को निश्चित समय तक जमा रख कर अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है. इस में जितने ज्यादा समय के लिए पैसा डालेंगे, ब्याज उतना ही ज्यादा मिलेगा. इस में कोई जोखिम नहीं होता और जब चाहें उस तुड़वा कर अपना कोई भी काम कर सकते हैं या उसे में जमा रकम के आधार पर लोन ले कर भी जरूरी काम निबटा सकते हैं.

पेंशन स्कीम : जिन्हें पीपीएफ और पेंशन का फायदा नहीं मिल रहा है, उन के लिए और छोटीछोटी रकम से निवेश करने वालों के लिए यह बेहतर स्कीम है. यह स्कीम लंबे समय के लिए होती है और रिटायर होने के बाद इस के मुनाफे और सुख का पता चलता है.

सोनाचांदी में निवेश : समयसमय पर सोना और चांदी की खरीद आगे चल कर अच्छा फायदा दे सकती है. पिछले 5-7 सालों में इन की कीमतों में बहुत ज्यादा उछाल आया है और आने वाले दिनों में इन की कीमतों में और ज्यादा तेजी आने का अनुमान है. साल 2005 में तो सोने की कीमत प्रति 10 ग्राम क्व5 हजार थी, जो आज क्व28 हजार तक पहुंच गई है.

रियल एस्टेट : इस में निवेश करना फायदेमंद है, लेकिन इस के लिए काफी बड़ी रकम की दरकार होती है. छोटे निवेशकों के लिए इस में निवेश करना मुश्किल होता है. अपनी आमदनी के लिहाज से बैंक या एलआईसी से लोन ले कर कोई फ्लैट, मकान या जमीन लेने की कोशिश करें. इन की कीमत तेजी से बढ़ती है और इन में निवेश से कोई खतरा भी नहीं रहता. लेकिन ऐसा कुछ खरीदने से पहले जांचपड़ताल जरूर कर लें.