गृहशोभा विशेष

आज की व्यस्त और भागदौड़ भरी जिंदगी ने हमारी लाइफस्टाइल को बहुत प्रभावित किया है. इसलिए आज एक स्वस्थ जीवन जीने के लिए संतुलित व पौष्टिक आहार सभी आयुवर्ग के लोगों के लिए बहुत जरूरी हो गया है.

अपने जीवन की बुनियाद स्वास्थ्य को अच्छा बनाए रखने के लिए महत्त्वपूर्ण पोषक तत्त्व प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स और अच्छे फैटी ऐसिड होते हैं जो हमारी सेहत को बेहतर बनाते हैं.

कैसा हो आहार

पौष्टिक आहार में कैलोरी, विटामिन और वसा की पर्याप्त मात्रा हमारी शारीरिक गतिविधियों के लिए बहुत जरूरी है. इन तत्त्वों वाला संतुलित आहार शरीर को मजबूत बनाता है तथा रोगों से लड़ने के लिए उस की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है. एक स्वस्थ संतुलित आहार में सभी खाद्य समूहों से खाद्यपदार्थ शामिल होते हैं. लेकिन वह भोजन जिस में संतृप्त वसा, ट्रांसफैट और कोलैस्ट्रौल की मात्रा अधिक होती है, वह शरीर के कोलैस्ट्रौल के स्तर में वृद्धि करता है और स्वस्थ आहार की श्रेणी में नहीं आता.

खासतौर पर महिलाओं में अन्य शारीरिक क्रियाओं के साथसाथ दिल और दिमाग को सुचारु रूप से चलाने के लिए ओमेगा 3 फैटी एसिड बेहद जरूरी है. शरीर में इस की पूर्ति के लिए ओमेगा 3 फैटी एसिड वाले खाद्यपदार्थों के अलावा डाक्टर की सलाह से न्यूट्रिलाइट सालमन ओमेगा 3 अपने आहार में शामिल कर सकती हैं.

अमेरिकन डायटेटिक ऐसोसिएशन के मुताबिक, पौष्टिक आहार में शामिल हैं- फलसब्जियां, गेहूं, कम चिकनाई या कम मलाई वाला दूध, अंडे और ड्राईफ्रूट्स. ऐसे आहार में सैचुरेटेड फैट कम होता है.

नोवा हौस्पिटल की डाइट और न्यूट्रिशियन कंसल्टैंट शीला कृष्णा स्वामी का कहना है कि सेहत भरा आहार ही आप की लंबी और स्वस्थ जिंदगी की चाबी है.

ऐसा आहार जिस में पोषक तत्त्व हों, आप के हृदय के लिए अच्छा होता है और आप के शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है.

विटामिन और सप्लिमैंट्स

अकसर हम सुबह का नाश्ता, दोपहर और रात का खाना ठीक तरह से न खा कर विटामिन और प्रोटीन की उचित मात्रा से वंचित रह जाते हैं. यों तो सब्जियां, फल और दालें हमारे शरीर के लिए जरूरी तत्त्वों का अच्छा स्रोत हैं. लेकिन इस के अलावा शरीर के लिए जरूरी प्रोटीन, विटामिन और मिनरल्स का संतुलन बनाए रखने के लिए आप न्यूट्रिलाइट प्रोटीन और डेली को चिकित्सकीय परामर्श से अपनी डाइट का हिस्सा बना सकते हैं.