गृहशोभा विशेष

कोई अगर आप से कहे कि अब आप की उम्र हो चली है, आप की त्वचा से आप की उम्र का पता चलने लगा है, अब आप में वह बात नहीं रही, तो कितना बुरा लगता है. और फिर आप मन ही मन सोचने लगते हैं कि कैसे फिसलती उम्र को थामा जाए.

खुद को सदा युवा व स्वस्थ दिखाने की चाहत हर किसी में होती है. लेकिन हैरानी की बात है कि आज के आधुनिक जमाने में जब हैल्दी और फिट रहने के सभी साधन मौजूद हैं, फिर भी लोग उम्र से पहले बुजुर्ग या अपनी उम्र से अधिक के दिखने लगे हैं. आइए जानते हैं ऐसे कौन से कारण हैं जिन से युवाओं में बुढ़ापा जल्दी आ रहा है और इन से कैसे बचा जा सकता है.

पौष्टिक और संतुलित भोजन

डाइटीशियन गीतू अमरनानी का मानना है कम उम्र में अधिक उम्र का दिखने का एक मुख्य कारण जंकफूड को नियमित दिनचर्या में शामिल करना है. आप ने एक ही जगह बैठ कर ढेर सारा जंकफूड जैसे पिज्जा, पास्ता, नूडल्स आदि खा लिए, लेकिन अपनी जगह से इंचभर भी नहीं हिले तो यह आप को उम्र से पहले बूढ़ा बनाएगा.

अपनी इस लाइफस्टाइल को बदलें और दिनभर कुछ न कुछ खाते रहने की आदत छोड़ दें. भूख लगने पर ही भोजन करें और जंक फूड के बजाय पौष्टिक व संतुलित भोजन करें. साथ ही, जितनी भूख हो, उस से थोड़ा कम खाएं. मौसमी फलों व सब्जियों का सेवन अवश्य करें. इस के अलावा त्वचा को जवां बनाए रखने के लिए भरपूर मात्रा में पानी जरूर पिएं. जब आप के शरीर में पानी की कमी हो जाती है तो डिटौक्सिफिकेशन नहीं हो पाता है, जिस से त्वचा सांस लेना बंद कर देती है और मुरझाने लगती है. लिहाजा, 35 वर्ष की उम्र का व्यक्ति भी 40-45 वर्ष का दिखने लगता है.

फल खाएं, जवान दिखें

आपहम ऊपरी तौर पर त्वचा पर भले ही कितने भी कौस्मेटिक्स प्रयोग कर लें, लेकिन त्वचा की भीतरी खूबसूरती को बनाए रखने के लिए जरूरी है कि आप की त्वचा भीतर से भी स्वस्थ हो. कोई भी त्वचा बीमार, थकी हुई और असमय बूढ़ी तभी दिखती है जब आप के शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है. ऐसे में पौष्टिक और संतुलित आहार के साथ फलों के सेवन से भी आप बढ़ती उम्र की निशानियों को काफी हद तक कम कर सकते हैं.

गीतू अमरनानी का मानना है कि फलों में मौजूद जरूरी एंटीऔक्सिडैंट्स त्वचा को हर दम जवां बनाए रखने में सक्षम होते हैं. जब हम दैनिक आहार में फलों को शामिल करते हैं तो त्वचा पर निखार आता है क्योंकि फलों में मौजूद कैल्शियम, मैगनीशियम, विटामिन सी, आयरन, बीटा कैरोटीन व फोलिक एसिड और बहुत कम मात्रा में मौजूद कैलोरीज त्वचा को स्वस्थ व चमकदार रखने में मदद करते हैं.

खट्टेफल जैसे नीबू और संतरे में मौजूद विटामिन सी कोलेजन बनाने में मदद करता है और कोलेजन त्वचा के लिए प्रोटीन बनाता है, जिस से झुर्रियां कम दिखती हैं.

धूम्रपान व शराब से दूरी

धूम्रपान और शराब के सेवन से सेहत  पर विपरीत असर पड़ता है. धूम्रपान से जहां त्वचा खुश्क होती है और चेहरे पर झुर्रियां पड़ती हैं, वहीं शरीर में विटामिन सी का स्तर भी घटता है. इन खराब आदतों के साथ ही यदि हफ्ते में 2 घंटे से कम शारीरिक व्यायाम किया जाए तो ये दुष्प्र्रभाव और बढ़ जाते हैं. इन बुरी आदतों के शिकार लोग या तो अपनी उम्र से 12 साल कम जीते हैं या फिर ऐसे लोग अपनी वास्तविक उम्र से 12 साल अधिक के लगते हैं.

व्यायाम करें नियमित

आज के युवा एक ही जगह घंटों बैठ कर काम करते हैं, जिस के कारण उन्हें कमरदर्द, स्पौंडिलिसिस की परेशानी होने लगती है. शोधकर्ताओं ने पाया है कि व्यायाम कर के वक्त से पहले बूढ़ा होने वाली प्रक्रिया से बचा जा सकता है और साथ ही अनहैल्दी फूड के कारण होने वाले हानिकारक प्रभावों से भी बचा जा सकता है. दरअसल, आप दिनभर में जितनी कैलोरी लेते हैं उसे बर्न करना भी जरूरी होता है और इस का सब से सरल उपाय व्यायाम करना है.

ब्यूटी स्लीप के फायदे

यह बात शोधों में साबित हो चुकी है कि गहरी नींद की कमी के कारण उम्र बढ़ने की प्रक्रिया तेज होती है और उन लोगों की, जो पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं, चयापचय प्रणाली पर असर पड़ता है.

6 घंटे से कम नींद लेने से त्वचा पर झुर्रियां हो जाती हैं और चेहरे से आप की उम्र बड़ी लगने लगती है. जबकि भरपूर नींद त्वचा में कोलेजन के उत्पादन को बढ़ा देती है, जो त्वचा के लिए जरूरी प्रोटीन होता है. यह त्वचा को कई फायदे पहुंचाता है यानी ब्यूटी स्लीप अपनेआप में एक बेहतरीन ब्यूटी ट्रीटमैंट है.

तनाव से दूर रहें

नीदरलैंड्स के वैज्ञानिकों ने शोध में पाया है कि जो लोग ज्यादा टैंशन लेते हैं उन के ब्रेन का ब्लड सर्कुलेशन ज्यादा कंसन्ट्रेट हो जाता है और वहां ब्लड की मात्रा ज्यादा हो जाती है और ज्यादा प्रैशर पड़ने से लोग वास्तविक उम्र से अधिक उम्र के दिखने लगते हैं. इस के अतिरिक्त ज्यादा तनाव की वजह से शारीरिक क्षमताओं पर भी बुरा असर पड़ता है. शरीर के सेल्स में एजिंग की प्रक्रिया तेज हो जाती है. इसलिए क्रोध, चिंता, तनाव, भय, घबराहट, चिड़चिड़ापन, ईर्ष्या जैसी भावनाओं को त्यागें व हमेशा खुश रहने का प्रयास करें और उम्र को अपने ऊपर हावी होने से रोकें.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं