गृहशोभा विशेष

आप रोजमर्रा में ऐसे कई काम करती हैं, जिनकी वजह से आपको सूजन, दर्द, मसल्स पेन हो जाते हैं और ये बड़ी आम बात भी है. ऐसे में किसी गर्माहट देने वाली बाम और पैनकिलर खाने के अलावा गर्म पानी या बर्फ से सिकाई भी बेहद अच्छा इलाज माना जाता है.

सिकाई करने की सलाह तो डॉक्टर भी देते हैं, परंतु अगर आप इस बात को लेकर असमंजस में हैं कि कब आपको बर्फ से सिकाई करनी चाहिए और कब गर्म पानी के इस्तेमाल से तो आइए यहां हम आपको बताते हैं आपके इन सारे सवालों के जवाब.. 

1. जोड़ों में दर्द या सूजन : बर्फ की सिकाई

आपके शरीर के किसी जोड़ में दर्द हो, जैसे घुटने में, पैरों में और साथ में सूजन भी हो तो, इसकी वजह अधिक काम या मसल्स में खींचाव हो  सकता है. ऐसे में आपको बर्फ की सिकाई इस तकलीफ से छुटकारा दिलवाती है. इसके लिए आपको चाहिए कि अपने पैरों को दिल की ऊंचाई तक किसी तकिये की मदद लेकर, ऊंचा करें और अब चोट वाले स्थान पर बर्फ की सिकाई करें.

2. पीरियड में दर्द : गर्म पानी से सिकाई 

हम आपको बताना चाहते हैं कि पीरियड के दर्द में, गर्म पानी के हीटिंग पैड्स का इस्तेमाल आपको बहुत राहत देता है. इस समय के दौरान, गर्म पानी से पेट के मसल्स की सिकाई आपको आराम देगी. इसके अलावा भी आप जब भी चाहें अपनी जरूरत के अनुसार, पेट दर्द में गर्म पानी से सिकाई कर सकती हैं. 

3. कमर दर्द : गर्म पानी से सिकाई

अगर आपको पीठ में दर्द है, तो इसके लिए गर्म पानी ही है एक बढ़िया इलाज. इसके लिए आप हीटिंग पैड में गर्म पानी भरकर फिर कमर की सिकाई करें, लेकिन यह तब अच्छा होतो है जब आपको अक्सर ही पीठ में दर्द होता है तो. लेकिन अगर आपको ये दर्द पहली बार हो रहा है तो बर्फ की सिकाई आपके लिए कारगर होगी.

4. सिरदर्द : बर्फ या गर्म पानी से सिकाई 

ये बात तो आप जानती ही होंगी कि बर्फ शरीर को सुन्न कर सकती है. इसलिए ही यह आपके सिरदर्द को भी दूर कर सकती है. पर यहां एक खास बात है कि गर्म पानी से भी सिर के मसल्स को आराम मिलता है इसलिए गर्म पानी की सिकाई भी कारगार साबित हो सकती है. और आप चाहें तो इसे गर्दन पर भी इस्तेमाल कर सकती हैं.

5. आर्थराइटिस : गर्म पानी से सिकाई 

शरीर के जोड़ों में जमकर दर्द और कड़कपन में आपको गर्म पानी की सिकाई करनी चाहिए. गर्माहट कड़क मसल्स को नर्म करती है और इन जगहों पर खून का बहाव भी बढ़ा देती है. अपने जोड़ों में आराम के लिए, आपको करीब 20 मिनिट तक गर्म पानी से सिकाई करना चाहिए. सिकाई करने के दौरान आराम की पोजिशन में रहें.