गृहशोभा विशेष

आज की भागतीदौड़ती जिंदगी ने लोगों के चेहरों से हंसी छीन ली है और उन्हें दुख, निराशा व तनाव ने घेर लिया है. पर क्या आप जानते हैं कि इन सब परेशानियों की एक ही दवा है और वह दवा है मुसकान.

खूबसूरत मुसकान खूबसूरती को भी बढ़ाती है और व्यक्तित्व भी निखारती है. सामान्य से सामान्य चेहरा भी एक खूबसूरत मुसकान से खिल उठता है. मुसकान स्वास्थ्य को भी बेहतर बनाती है. आप के आत्मविश्वास और मैत्रीपूर्ण व्यक्तित्व से भी लोगों को अवगत कराती है. मुसकान का यह खजाना हर किसी के पास होता है. बस जरूरत होती है इसे अपनाने की.

आइए, जानते हैं कि स्वस्थ रहने व तनाव से उबारने में मुसकान लोगों की किस तरह मदद करती है.

मनोचिकित्सक प्रांजलि मल्होत्रा का कहना है, ‘‘मुसकान रिश्तों को मजबूत बनाती है, क्योंकि कभीकभी राह चलता कोई अजनबी चेहरा भी जब हमें देख कर स्माइल देता है, तो उस से कोई रिश्ता न होते हुए भी एक अनकहा रिश्ता बन जाता है. लेकिन मुसकान तभी पूरी होती है जब वह दिल से शुरू हो कर आंखों से झलके और किसी के भी चेहरे पर रोशनी बन कर चमके.’’

मुसकान कैसीकैसी

मुसकान कैसी हो? मुसकान सच्ची और मन से हो. मुसकराहट का हमारे विचारों और भावनाओं से गहरा रिश्ता होता है. हमेशा दूसरों के अच्छे गुणों पर ध्यान दें. तब हमें उन्हें देख कर मुसकराने में कोई परेशानी नहीं होगी, क्योंकि यह सच्ची मुसकान होगी.

हमेशा मुसकराने से पहले सहज होने की कोशिश कीजिए वरना मुसकान नकली लगेगी. जब मुसकान मन से निकलेगी तो आंखों में चमक होगी और तब दूसरों को भी यह समझते देर नहीं लगेगी कि यह मुसकान सच्ची और मन से है.

ऐसे भी लोग

मगर कुछ लोगों के लिए मुसकराना आसान नहीं होता. ऐसा नहीं है कि उन्हें मुसकराना नहीं आता, पर वे गंभीर माहौल में पलेबढ़े होते हैं और उन्हें वैसा ही बने रहने पर जोर दिया जाता है. तभी तो वे मन में प्यार होने के बावजूद मुसकरा कर बात नहीं कर पाते.

इस के अलावा कुछ लोग शर्मीले स्वभाव के होते हैं. इस वजह से मुसकराना उन के लिए आसान नहीं होता. फिर इंसानों का स्वभाव भी अलगअलग होता है. कोई ज्यादा मुसकराता है तो कोई कम. पर एक छोटी सी कोशिश तो की ही जा सकती है. अगर आप मुसकरा कर किसी को हायहैलो कहेंगे तो वह भी आप की कद्र करेगा और ऐसा करने की आदत डाल लेगा. तब मुसकराना आप के लिए आसान हो जाएगा.

ऐसी मुसकराहट से रहें सावधान

कहते हैं कि हर मुसकान सच्ची नहीं होती है और यह सच भी है. मक्कार, मतलबी, धोखेबाज लोग लुभाने के लिए गजब की मुसकान बिखेरते हैं लेकिन उन की मुसकराहट खोखली होती है.

इसलिए हर मुसकान का अर्थ समझें और यह भी समझें कि सामने वाला किसलिए मुसकरा रहा है. कहीं यह कुटिल मुसकान आप को अपमानित, जलील करने या फिर आप का उपहास उड़ाने के लिए तो नहीं? ऐसी मुसकान से हमेशा सावधान रहें.

मुसकान की खासीयत

मुसकान की यह खासीयत है कि इस से आप बिना कुछ कहे अपने मन की भावनाएं दूसरों के सामने व्यक्त कर सकते हैं. वहीं किसी का गुस्से वाला चेहरा देख कर आप को घबराहट होने लगेगी और आप निराश हो जाएंगे. इस का असर सिर्फ आप पर ही नहीं होगा, बल्कि उस पर भी होगा जिसे देख कर आप मुसकराए थे.

अगर हम दूसरों के साथ बात करते समय तनाव महसूस कर रहे हैं, तो एक मुसकान से उसे दूर किया जा सकता है. मुसकान से हम निराशा या तनाव का आसानी से सामना कर सकते हैं.

अगर कोई आप को मुसकान के साथ सलाह या नसीहत दे तो आप उसे खुशीखुशी मान लेंगे जबकि गुस्से में दी गई सलाह का असर विपरीत ही होगा. तनाव भरे माहौल में मुसकराहट से बहुत सी गलतफहमियां दूर हो जाती हैं.

मुसकराने के बहाने

– खुश रहने के लिए आप ऐसे लोगों के संपर्क में रहें, जो हंसमुख हों.

– हमेशा लड़ाईझगड़ों से बचें.

– पौजिटिव सोच रखें. इस से तनाव दूर रहेगा.

– कहीं घूमने जाएं. इस से रिलैक्स और ऊर्जावान फील करेंगे.

बेहतर खानपान

शरीर को पोषक तत्त्वों की बहुत आवश्यकता होती है, अत: दिन में 1-2 बार एकसाथ ज्यादा भोजन करने के बजाय 5-6 बार थोड़ाथोड़ा खाएं. खाना हमेशा संतुलित व पौष्टिक खाएं, क्योंकि खुश रहने के लिए खाने से अच्छा कोई टौनिक नहीं है. इस के अलावा भरपूर नींद लें.

स्वास्थ्य की दृष्टि से

सफदरजंग अस्पताल के मैडिकल औफिसर डाक्टर अशोक रामपाल का कहना है, ‘‘खुश रहना स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है. मन से हंसना तनाव को कम करता है और शरीर को रिलैक्स्ड रखता है. हंसने से स्ट्रैस हारमोन जैसे कार्टिसोल और एड्रीनलीन का स्तर कम होता है. हंसी शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाती है, दिल की बीमारियों से बचाती है.

‘‘मुसकान उत्तेजना और भय से दूर रखती है. खुल कर हंसने से धमनियों में फैलाव आता है, जिस से खून तेजी से शरीर के अन्य हिस्सों में पहुंचता है. हंसी हमारी रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है.

‘‘अगर किसी को बहुत टैंशन रहती हो या बुरे खयाल आते हों तो उस के बीमार पड़ने का खतरा ज्यादा रहता है. इस के विपरीत, जो लोग खुश रहते हैं, ठहाके लगा कर हंसते हैं उन में बीमारियों से लड़ने की ताकत बढ़ जाती है.’’ 

स्माइल बनाए खूबसूरत

खूबसूरत स्माइल के लिए खूबसूरत दांतों का होना बेहद जरूरी है और यह तभी संभव है जब आप के दांत सफेद व सुंदर दिखें. इस के लिए टूथपेस्ट अच्छा होना चाहिए. यों तो बाजार में कई टूथपेस्ट मौजूद हैं पर बेहतर रिजल्ट के लिए थोड़ा ज्यादा खर्च करने में कोई बुराई नहीं. क्लोजअप का नया उत्पाद ‘क्लोजअप डायमंड अट्रैक्शन’ सही मापदंड को पूरा करता है. कंपनी के अनुसार यह टूथपेस्ट कौस्मैटिक डैंटिस्ट के साथ मिल कर बनाया गया है, जिस का न सिर्फ फ्लेवर अच्छा है, बल्कि प्रथम इस्तेमाल से ही फर्क महसूस किया जा सकता है.

तो स्माइल को बनाइए खूबसूरत और रहिए आत्मविश्वास से भरपूर.