गृहशोभा विशेष

आजकल के युवाओं में टैटू बनवाने का चलन काफी बढ़ गया है. फैशन और स्टाइल के नाम पर शरीर के तमाम अंगों पर लोग टैटू बनवा रहे हैं. ऐसे लोग टैटू से स्किन को होने वाले नुकसान के बारे में नहीं जानते. टैटू बनवाने के कई साइड इफेक्ट्स होते हैं. इनमें त्वचा संबंधी समस्याएं, संक्रमण और कैंसर जैसी घातक बीमारी भी शामिल हैं. आइए, जानते हैं क्या हैं टैटू बनवाने के साइड इफेक्ट्स-

टैटू के साइड इफेक्ट्स

  • टैटू बनाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली स्याही के बारे में ऐसा कोई प्रमाण मौजूद नहीं है जो यह बताए कि इसका प्रयोग सुरक्षित है. टैटू बनवाने वाले 1-5 फीसदी लोग बैक्टीरियल इन्फेक्शन के शिकार होते हैं. इसके अलाव बहुत से लोगों को टैटू के इंक से एलर्जी हो जाती है.
  • टैटू बनवाने के लिए जिस स्याही का इस्तेमाल किया जाता है उसमें कई बार ऐसे धातुओं का प्रयोग होता है जो हमारी त्वचा को नुकसान पहुंचाती हैं. ऐसे में किसी अच्छी जगह या स्पेशलिस्ट से ही टैटू बनवाएं.
  • टैटू से स्किन पर कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं. इन्हीं मे से एक है सोराइसिस. इसका इलाज बेहद मुश्किल होता है. इसके अलावा टैटू बनाने के लिए जिस सुई का इस्तेमाल किया जाता है वह कई व्यक्तियों पर प्रयोग किया जा चुका होता है. ऐसे में संक्रमण का भी खतरा होता है.
  • टैटू से कई बार त्वचा लाल पड़ जाती है. जिस जगह पर टैटू बनवाया जाता है उस जगह दाने या फिर सूजन की भी समस्या हो जाती है. इसके अलावा कई तरह के बैक्टीरियल इन्फेक्शन का भी खतरा होता है.
  • टैटू की जहरीली स्याही त्वचा के माध्यम से शरीर में पहुंचकर कैंसर का खतरे बढ़ा सकती है. एक अध्ययन में स्याही को तैयार करने वालों ने भी माना है कि करीब पांच फीसदी टैटू स्टूडियो ऐसी स्याही का उपयोग करते हैं, जिनमें कैंसरजन्य घटक मौजूद होते हैं.