गृहशोभा विशेष

परिवार की फिटनैस में घर की गृहिणियों का अहम रोल होता है क्योंकि वे परिवार को टैस्ट के साथसाथ पौष्टिक भोजन परोसने में विश्वास जो रखती हैं. उन का यह मानना है कि परिवार तभी खुश रह सकता है जब वे भीतर से स्ट्रौंग हो. उन की इसी कोशिश में दिल्ली प्रैस द्वारा गत 12 व 18 मई को द्वारका के एसडीएमसी कम्युनिटी हौल व रोहिणी स्थित टैक्निया इंस्टीट्यूट के औडिटोरियम में आईटीसी आशीर्वाद सर्वगुण संपन्न इवैंट का आयोजन किया गया.

रोटी मेकिंग ऐक्टीविटी

दोनों ही इवैंट की शुरुआत ऐंकर अंकिता मंडल ने रोटी मेकिंग की ऐक्टिविटी से की. इस ऐक्टिविटी को कराने का मकसद यह था कि आशीर्वाद सलैक्ट आटे से बनी रोटी की अलग से ही पहचान की जा सकती है क्योंकि वह सौफ्ट व टैस्टी जो होती है. इस में भाग लेने वाली महिलाओं ने इसे खूब ऐंजौय किया. क्योंकि रोटी बनाने में तो वे ऐक्सपर्ट होती ही हैं लेकिन जहां प्रतियोगिता की बात आ जाती है तो उन में उत्सुकता और बढ़ जाती है.

शैफ सैशन

इस के तुरंत बाद शैफ सैशन शुरू हुआ जिस में शैफ निशांत चौबे व तरुण ने अपनी क्रिएटिविटी दिखा कर सभी के चेहरों पर खुशी ला दी. शैफ निशांत चौबे ने शुगर रिलीज कंट्रोल आटे से बहुत कम समय में पैन केक व शैफ तरुण ने पाई बना कर दिखा दिया कि कम शुगर से भी हैल्दी रैसिपी बनाई जा सकती है.

फिर न्यूट्रिशनिस्ट डा. नेहा पठानिया व डा. करुणा चतुर्वेदी ने बताया कि भले ही आज मार्केट में ढेरों आटे मौजूद हैं लेकिन आप हमारे कहने से नहीं बल्कि खुद पर्सनल ऐक्सपीरियंस कर के देखें कि आशीर्वाद मल्टीग्रेन आटा सच में अलग व विशेषताओं से भरा हुआ है. उन्होंने कहा कि हमें खुद को फिट रखने के लिए क्वालिटी चीजें खाने पर जोर देने के साथसाथ पौष्टिक डाइट थोड़ीथोड़ी देर में लेते रहनी चाहिए और आप खुद ऐसा कर के चेंज भी फील करेंगी.

इस के बाद मल्टी टास्किंग दीवा व पौपुलर दीवा प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिस में 18 मई को आयोजित इवैंट में मल्टी टास्किंग दीवा की प्रथम विजेता रहीं ममता व द्वितीय पुरस्कार हासिल किया शालू ने. वहीं पौपुलर दीवा प्रतियोगिता में रेशमा रहीं पहले स्थान पर और दीपाली रहीं द्वितीय स्थान पर. ये दोनों ही ऐक्टिविटीज अलग थीं और इस में आशीर्वाद मल्टीग्रेन और पौपुलर आटे का इस्तेमाल किया गया था.

हुनर को मिला पुरस्कार

फिर रैसिपी कौंटैस्ट के विनर्स की घोषणा की गई जिस में 12 मई के विजेता इस प्रकार हैं: प्रथम सांत्वना पुरस्कार मिला आटा केक बना कर सुहानी को, द्वितीय सांत्वना पुरस्कार मिला आशा वार्शने को वीट बनाना केक बनाने पर, वहीं आटा पिज्जा बना कर नीरू गुप्ता ने तृतीय सांत्वना पुरस्कार जीता.

health

इसी के साथ इस राउंड में भारवर बड़ी बना कर वनीता रस्तोगी ने तृतीय पुरस्कार, आटे का पेठा बना कर निर्मला ने द्वितीय पुरस्कार व बिलम गरह बना कर सत्या कुमार ने प्रथम पुरस्कार अपने नाम किया.

वहीं 18 मई के रैसिपी कौंटैस्ट में प्रथम सांत्वना पुरस्कार मिला निशा को मटीजा बनाने पर, द्वितीय सांत्वना पुरस्कार विजेता रहीं बाटी बना कर मृदुला जैन, तृतीय सांत्वना पुरस्कार मिला आटा स्प्रिंग रोल बना कर मधु अग्रवाल को. इस कौंटैस्ट में तृतीय पुरस्कार जीता सरिता अग्रवाल ने मूंग दाल कचोरी बना कर वहीं वैजी डिलाइट बना कर अनीता जैन ने द्वितीय पुरस्कार और आटा अप्पम केक बना कर राजेश्वरी ने प्रथम पुरस्कार का खिताब अपने नाम किया. अंत में सभी को गुडी बैग्स दिए गए.