गृहशोभा विशेष

ज्यादातर पब्लिक टौयलेट साफ-सुथरे नहीं होते. जो साफ दिखते हैं वहां भी काफी मात्रा में बीमारी फैलाने वाले कीटाणु मौजूद होते हैं. ऐसे में पब्लिक टौयलेट का इस्तेमाल करने से बचें. अगर पब्लिक टौयलेट का इस्तेमाल करना मजबूरी ही है तो इसके इस्तेमाल से पहले कुछ बातों का ध्यान रखें. ऐसा करने से  आप खुद को बैक्टीरिया से होने वाले नुकसान से बचा सकती हैं.

– सबसे पहले तो पब्लिक टौयलेट के दरवाजे को खोलते समय सावधानी बरतें. यहीं से आप बैक्टीरिया के संपर्क में आ सकती हैं. इससे बचने के लिए टिशू पेपर से दरवाजा खोलें. इसके अलावा हैंड सेनेटाइजर का इस्तेमाल भी किया जा सकता है.

– टौयलेट सीट पर भी बहुत ज्यादा मात्रा में किटाणु पाए जाते हैं. ऐसे में सीट पर बैठने से पहले उसे टौयलेट पेपर से अच्छी तरह से साफ कर लें. इसके अलावा सीट कवर का इस्तेमाल भी किया जा सकता है. ये छोटे पैक्स के रूप में फार्मेसी स्टोर पर मिलते हैं.

– टौयलेट के बाद फ्लश बटन को हाथ से न दबाएं. कई लोगों का हाथ लगने की वजह से उस पर काफी मात्रा में किटाणु होने की संभावना होती है. इसलिए इसे दबाने के लिए भी टौयलेट पेपर का इस्तेमाल करें.

– फ्लश करने के बाद तुरंत टौयलेट से बाहर चले जाएं. ऐसा इसलिए क्योंकि फ्लश की स्पीड बहुत तेज होती है. ऐसे में किटाणुओं के आपके श्वांसनली तक पहुंचने की संभावना होती है. ऐसे में या तो फ्लश करते ही आप टौयलेट से बाहर आ जाएं या फिर टौयलेट सीट को बंद कर दें.

– अंदर से दरवाजा खोलने के लिए भी टौयलेट पेपर का इस्तेमाल करें. दरवाजे के अंदर वाले हैंडल पर बाहर वाले से ज्यादा किटाणु मौजूद होते हैं.

– सब कुछ करने के बाद लिक्विड हैंड वाश से अच्छी तरह से हाथ धोएं. ज्यादातर बीमारियां हाथ ठीक से न धुलने की वजह से होती हैं.

– हाथ धुलने के बाद टिशू पेपर से हाथ पोंछ लें. हैंड ड्रायर का इस्तेमाल करने से बैक्टीरिया आपके हाथों से चिपक जाते हैं. ऐसे में बीमार होने का खतरा बढ़ जाता है.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं