गृहशोभा विशेष

क्या आपके मन में कभी यह खयाल नहीं आया कि काश आपका घर भी किसी महल जैसा चमकता रहे. अगर आप सफाई करते समय कुछ बातों का ध्यान रखेंगी तो आपका घर भी उतना ही साफ रहेगा, जितने  होटल और महल रहते हैं. कुछ आसान टिप्स आपके घर को महल जैया सुंदर और साफ-सुथरा बनाने में आपकी मदद करेंगे.

क्लीनिंग प्लान बनाएं

सफाई करते समय आपको वैज्ञानिक सोच अपनाने की जरूरत होती है. आपके घर में जितने भी कमरे हैं, उनमें सामान के अनुसार प्लान ऑफ अटैक बनाएं. अगर आपको पता होगा कि आप क्या साफ करने जा रही हैं और किस क्रम में तो आपका न केवल समय बचेगा, बल्कि आप कई स्टेप्स दोहराएंगी भी नहीं. इसलिए सफाई की शुरुआत से पहले क्लीनिंग चेकलिस्ट बनाएं और उस पर अमल करें.

ऊपर से शुरू करें

आपको कमरे की सफाई हमेशा ऊपर से नीचे की ओर करनी चाहिए. धूल नीचे गिरती है और आप कभी नहीं चाहेंगी कि कमरे के नीचे वाले हिस्से की सफाई आपको फिर से करनी पड़े.

फर्नीचर को भूल न जाना

ज्यादातर महिलाएं फर्श, खिड़कियों जैसी चीजों पर ही फोकस करती हैं और सोफा व दूसरे फर्नीचर भूल जाती हैं. आप हर फर्नीचर की सफाई अच्छी तरह से वैक्यूम क्लीनर से करें. धूल-मिट्टी के कण सोफे का कपड़ा खराब कर सकते हैं.

बिस्तर बचाएं

गद्दों के ऊपर कवर या फिर मैट्रेस प्रोटेक्टर्स लगाकर रखें. इससे गद्दे न केवल साफ रहते हैं, बल्कि ज्यादा चलते भी हैं. अगर बिस्तर पर कुछ गिर जाए तो सीधे गद्दों पर दाग नहीं लगता. कवर आप समय-समय पर साफ करती रहें. इससे एलर्जी की आशंका भी नहीं रहेगी. ऐसा ही तकियों के साथ भी करें. तकियों को हमेशा कवर चढ़ा कर रखें. कवर चेन वाले हों तो ज्यादा अच्छा रहेगा.

बल्ब की सफाई जरूरी

कमरे में मौजूद हर बल्ब की सफाई नियमित रूप से करें. सफाई करने से पहले उन्हें बंद कर दें और फिर उन्हें ठंडा होने दें. इससे बिजली की भी बचत होगी.

प्रोजेक्ट पर फोकस

कुछ चीजें आप रोज साफ नहीं करतीं, इनका नंबर कई-कई दिनों में आता है. चूंकि ये चीजें रोज-रोज साफ नहीं होतीं इसलिए जब नजर आती हैं तो बहुत गंदी नजर आती हैं और इन्हें साफ करना सिर दर्द लगता है. ऐसी चीजों के लिए एक मासिक कलेंडर बनाएं. जैसे एक दिन आप कमरों के पंखों के लिए रखें और एक दिन लैंप शेड्स की सफाई के लिए. हर काम के लिए रोज 15 मिनट का वक्त निर्धारित कर लें. ऐसा करने से आपका घर हमेशा साफ-सुथरा लगेगा और जब अगली दिवाली आएगी तो भी सफाई को लेकर कोई तनाव महसूस नहीं होगा और न ही किसी चीज को साफ करने की खास जरूरत होगी.

उपकरणों की देखभाल करें

कमरे की साफ-सफाई सर्वोच्च प्राथमिकता है, लेकिन सफाई के काम आ रहे उपकरणों को कभी न भूलें. याद रखें, अच्छे से अच्छा वैक्यूम क्लीनर भी बंद पड़ सकता है. हर महीने अपने वैक्यूम क्लीनर को जांचें और उसके ब्रश साफ करें. जो भी क्लीनर आप इस्तेमाल कर रही हैं, उनकी एक्सपायरी डेट देखें.

खिड़कियां खोलें

जब भी कमरे की सफाई करें, जहां तक संभव हो, प्राकृतिक रोशनी का इस्तेमाल करें. अगर आप साफ-सफाई में रसायनों का इस्तेमाल कर रही हैं तो हवा का अंदर-बाहर आना-जाना बहुत जरूरी है. फिर ऐसा करना पर्यावरण के लिए भी अच्छा है.

रसायन सावधानी से

अलग-अलग तरह के क्लीनर इस्तेमाल कर रही हैं तो क्लीनर आपस में न मिलाएं. कुछ क्लीनर आपस में हानिकारक रासायनिक प्रतिक्रिया करते हैं, जिससे उनसे जहरीली गैस निकलती है. अलग-अलग क्लीनर के लिए अलग-अलग कपड़ा लें.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं