गृहशोभा विशेष

धूल-मिट्टी कई तरह की बीमारियों का कारण बनती है. इस से बचने के लिए हर कोई हर तरह से अपने घर को साफ रखने की पूरी कोशिश करता है. लेकिन केवल झाड़ू पोंछे से हम पूरी तरह घर की साफ सफाई नहीं कर सकते, क्योंकि वह केवल ऊपरी रूप से होती है और उस में समय भी ज्यादा लगता है. वैक्यूम क्लीनर साफसफाई करने का एक ऐसा साधन है, जो परदों, कारपेट, सोफे आदि में छिपी धूल-मिट्टी को अपने पिकअप ब्रश से बाहर खींच लेता है.

आज के धूल-मिट्टी से भरे वातावरण और भागतीदौड़ती जिंदगी में वैक्यूम क्लीनर के बिना किसी भी घर की कल्पना कर पाना मुश्किल है. पुराने ढंग से साफसफाई कर के आप धूल-मिट्टी को तो साफ कर लेते हैं, लेकिन कोने में इकट्ठा होने वाली धूल को साफ नहीं कर पाते. धूल के यही छोटे-छोटे कण ऐलर्जी व बीमारियों का कारण बन जाते हैं. ऐसी स्थिति में केवल वैक्यूम क्लीनर वाले घर ही पूर्ण रूप से साफ कहे जा सकते हैं. वैक्यूम क्लीनर समय की बचत करने के साथ-साथ साफ-सफाई को आसान बना देता है.

वैक्यूम क्लीनर के प्रकार

बाजार में कई तरह के वैक्यूम क्लीनर उपलब्ध हैं, जो अलग-अलग शेप व साइज में हैं. वैक्यूम क्लीनर खरीदते समय हर किसी को अपनी जरूरत को ध्यान में अवश्य रखना चाहिए व प्रोडक्ट से जुड़ी सारी जानकारी हासिल कर लेनी चाहिए. ये हैं अलग-अलग तरह के वैक्यूम क्लीनर :

अपराइट वैक्यूम क्लीनर : यह बहुत पावरफुल क्लीनर माना जाता है. यह कारपेट से भी धूल-मिट्टी को बाहर निकाल देता है.

कैनीस्टर : यह अपराइट वैक्यूम क्लीनर से थोड़ा छोटा होता है और अलगअलग रेंज में मार्केट में उपलब्ध है. यह फर्श, सीढ़ी, टाइल्स, लकड़ी के फ्लोर, दीवारों, छतों आदि को साफ करता है.

हेपा वैक्यूम क्लीनर : यह क्लीनर उन घरों के लिए ज्यादा उपयोगी सिद्ध होता है, जिन घरों में पालतू जानवर होते हैं, क्योंकि जानवरों के बाल झड़ते रहते हैं, जो घर में कहीं भी इधर-उधर गिरते हैं. इस से अस्थमा जैसी बीमारी होने की संभावना होती है. यह वैक्यूम क्लीनर कारपेट, फ्लोर आदि की पूरी तरह साफ-सफाई करता है.

हैंडहेल्ड वैक्यूम क्लीनर : यह साइज में छोटा व वजन में हलका होता है. ज्यादातर हैंडहेल्ड वैक्यूम क्लीनर बिना तार के होते हैं, जो बैटरी से चलते हैं. इन का प्रयोग कार, किचन की अलमारियों, सोफे के कोने वगैरह को साफ करने के लिए किया जाता है.

इस के ब्रैंड

यूरिका फोर्ब्स : यह भारत में सब से अधिक बिकने वाला ब्रैंड है.

एलजी : यूरिका फोर्ब्स के बाद भारत में बिकने वाला दूसरा बड़ा ब्रैंड है, जिस के अभी बाजार में 2-3 मौडल उपलब्ध हैं.

मोदी होवर : यह ब्रैंड अब इंडियन मार्केट में भी उपलब्ध है. यह वैक्यूम क्लीनर ब्रैंड पूरी दुनिया में पौपुलर है. यूएस के इस ब्रैंड ने अब भारत के मोदी ग्रुप से हाथ मिला लिया है, जिस के माध्यम से अब यह भारत में भी पौपुलर हो रहा है.

जब करें इस्तेमाल

– वैक्यूम क्लीनर का जब प्रयोग न हो रहा हो, तो उस समय उसे बिजली के बोर्ड से निकाल कर रखें.

– वैक्यूम क्लीनर घर के बाहर या गीले फर्श के लिए प्रयोग नहीं किया जाता, इसलिए इस का प्रयोग ऐसे किसी स्थान पर न ही करें, जिस से बिजली का झटका लगने का कोई डर न रहे.

– वैक्यूम क्लीनर बहुत नाजुक होता है. वह एक बार गिरने या पानी पड़ने से खराब हो सकता है, इसलिए इस का प्रयोग बहुत ध्यान से करना चाहिए.

– वैक्यूम क्लीनर को बच्चों से दूर रखें.

– वैक्यूम क्लीनर नुकीली चीजें साफ करने के लिए इस्तेमाल न करें.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं