गृहशोभा विशेष

घर की साफसफाई के प्रति हर गृहिणी सचेत रहती है. पर जब दीवाली आने वाली होती है तो घर को ऐक्स्ट्रा चमकाने का मानों उन पर जनून सवार हो जाता है. आप चाहें तो घरेलू क्लीनिंग आइटम से बजट में रह कर घर की स्मार्ट क्लीनिंग कर सकती हैं.

आलू

आलू घर की साफसफाई में भी बहुत मददगार है. चूंकि इस में औक्जैलिक ऐसिड होता है, इसलिए आप इस का यूज लोेहे के बरतन से जंग हटाने के लिए कर सकती हैं. यह लोहे के बरतन से जंग को हटा कर उसे बिलकुल साफ कर देता है. यदि किसी धातु के सामान पर जंग के निशान हों, तो आलू पर नमक लगा कर उस पर रगड़ें. लेकिन ऐसा करने से पहले धातु के एक छोटे से निशान पर इसे रगड़ कर देखें. यदि धातु पर आलू का निशान पड़ रहा हो तो इस विधि को न अपनाएं.

इस के अलावा शीशा चमकाने के लिए भी आलू का प्रयोग मुफीद है. पहले आलू को कांच पर रगड़ें, इस के बाद साफ कपड़े या कागज से कांच को पोंछ दें. शीशा नया सा चमकने लग जाएगा.

नीबू, संतरा और मौसंबी

नीबू में पाया जाने वाला सिट्रिक ऐसिड प्राकृतिक ब्लीच की तरह कार्य करता है. अगर आप घर में पड़ी चीजों को साफ करने की सोच रही हैं, तो उन्हें नीबू से साफ करें.

अगर स्टोव या गैस के प्रयोग से तांबे की पेंदी पर कालिख लग गई हो तो नीबू पर नमक लगा कर रगड़ कर उस से उसे छुड़ाएं. पेंदी नई जैसी चमक उठेगी. इस के अलावा आप के घर में पीतल की मूर्तियों को भी नीबू से चमका सकती हैं.

ऐसे ही किचन के सिंक को भी साफ कर सकती हैं. नीबू को नमक में निचोड़ें, फिर उसे साबुन के साथ मिला कर उस से सिंक साफ करें. आप कठोर प्लास्टिक की वस्तुओं को भी नीबू से साफ कर सकती हैं. नीबू प्लास्टिक में लगे तेल के दागों को तुरंत साफ कर देता है, साथ ही प्लास्टिक से आने वाली गंध को भी दूर कर देता है.

घर के परदों को साफ करने के लिए भी नीबू का इस्तेमाल किया जा सकता है. यह किसी भी तरह के दाग को मिटाने के साथ कपड़े से आने वाली गंध को दूर कर उसे चमका देता है.

नीबू की तरह ही संतरा और मौसंबी भी घर की सफाई में मददगार हैं. प्रोटीन, न्यूट्रिएंट्स और विटामिनों से भरपूर इन फलों में भी नीबू की तरह ही सिट्रिक ऐसिड पाया जाता है, जो बेहतरीन क्लीनिंग एजेंट है. इसलिए इन से घर का छोटाबड़ा कई तरह का सामान साफ किया जा सकता है. आप को बस इन फलों के छिलकों की जरूरत है. संतरे के सूखे छिलके लकड़ी और शीशे के समानों की सफाई के लिए सर्वाधिक उपयुक्त हैं.

आप संतरे के छिलकों को मिक्सर में पीस लें. फिर उसे पानी में भिगो कर उस से लकड़ी और शीशे के सामान की सफाई करें. इस मिश्रण में नीबू का रस मिला कर प्लास्टिक के सामान की भी सफाई की जा सकती है.

मौसंबी के सेवन से त्वचा चमकदार हो जाती है, यह तो हम सब जानते हैं, लेकिन आप को यह जान कर हैरानी होगी कि यह फल आप के घर को चमकाने का भी सामर्थ्य रखता है. अगर आप के घर में मार्बल का फर्श है तो मौसंबी के छिलकों को सुखा कर उन्हें पीस लें और फिर उस में थोड़ा नमक मिला कर पेस्ट बना लें. इस पेस्ट से मार्बल के साथसाथ मैटल, लोहा, स्टील व ब्रास का सामान साफ किया जा सकता है.

नमक

क्या आप जानती हैं कि नमक आप खाने का जायका बदलने के साथसाथ आप के घर को भी चमका सकता है?

आप के घर में कांच की खिड़कियां और बरतन तो होंगे ही. यदि उन पर दाग लग जाए तो उसे साफ करना बड़ा मुश्किल हो जाता है. लेकिन इस मुश्किल को नमक मिनटों में आसान बना देता है. शीशे पर लगे दाग को नमक घुले पानी से साफ करें. वह पहले से ज्यादा चमक उठेगा. इस के अलावा आजकल कोल्डड्रिंक पीना आम बात है. उस वक्त अगर अचानक किसी के हाथ से शीशे का गिलास छूट जाए और आप के परदे या कालीन पर कोल्डड्रिंक का दाग लग जाए तो घबराएं नहीं. नमक के घोल में कुछ देर के लिए कालीन या परदे के दाग लगे हिस्से भिगो दें. दाग छूट जाएगा.

आप के ओवन में चिकनाई जम गई हो तो 2 चम्मच नमक को पानी में मिलाएं और उस घोल से उस की सफाई करें. चिकनाई का नामोनिशान मिट जाएगा. इतना ही नहीं नमक के घोल से आप अपने लकड़ी के फर्नीचर को भी साफ कर सकती हैं.

इमली

इमली भी घर की सफाई के लिए एक बेहतरीन क्लीनर है. यदि आप इस में चुटकी भर नमक मिला दें, तो इस की सफाई करने की शक्ति और बढ़ जाती है. आप के घर में तांबे, स्टील, कौपर, पीतल के बरतन हैं, तो इमली उन्हें झट से साफ कर के नया सा बना देगी.

बरतनों को धोतेधोते किचन का सिंक भी चिपचिपा सा हो जाता है. उस की चिपचिपाहट मिटाने के लिए इमली में नमक डाल कर पेस्ट तैयार कर लें और फिर उस से सिंक की सफाई करें. इसी तरह अगर आप के घर पर चांदी के बरतन हैं और नमी के कारण वे काले पड़ गए हैं तो इमली से उन की सफाई कर लें. इमली आप के दोबारा पौलिश कराने के पैसे बचा लेगी.

पुरानी घड़ी या दरवाजों की कुंडियों को साफ करने के लिए भी इमली का गूदा मददगार है. जंग खाए धातु के सामान को भी आप इमली के गूदे से साफ कर सकती हैं. किचन की चिमनी को भी इमली के पानी से साफ किया जा सकता है.

बेकिंग सोडा और सिरका

आप घर में रखे बेकिंग सोडे और सिरके का इस्तेमाल भी घर के सामान को साफ करने के लिए कर सकती हैं. बेकिंग सोडा और सिरका किचन के सिंक, बाथरूम और कांच की खिड़कियों को साफ करने के लिए बेहतर विकल्प हैं. आप अगर सिंक में खाना फंस जाने से आने वाली बदबू से परेशान होती हैं तो उसे दूर करने के लिए बेकिंग सोडा और सिरके का मिश्रण तैयार करें और सिंक के चारों ओर छिड़क दें. 20 मिनट बाद सिंक को स्क्रबर से साफ कर लें. यदि पाइप में खाना फंस गया हो तो इस मिश्रण को पाइप में डाल कर रात भर के लिए छोड़ दें. पाइप में गरम पानी डालें. सुबह पाइप साफ हो जाएगा.

इसी तरह बेकिंग सोडे और सिरके का मिश्रण, टाइल्स और टौयलेट सीट पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है. बस कुछ देर के लिए इस मिश्रण को लगा कर छोड़ दें और बाद में पानी से साफ कर लें. बाथरूम में अनोखी चमक आ जाएगी. आप शौवर हैड भी इस मिश्रण से साफ कर सकती हैं. कई बार शौवर के छेद गंदगी से बंद हो जाते हैं. उन्हें साफ करने के लिए इस मिश्रण का इस्तेमाल करें.

फर्श और टाइल्स ही नहीं इस मिश्रण से आप जली कड़ाही, तवा और दूसरे जले बरतन भी साफ कर सकती हैं. इस के अलावा लगातार खाना बनाने की वजह से किचन का स्लैब एकदम काली हो जाती है. उस में चिकनाई जम जाती है, जिसे साफ करना काफी मुश्किल होता है. उस पर कुनकुने पानी में मिला हुआ सोडा डाल दीजिए और

10 मिनट के लिए छोड़ दीजिए. उस के बाद स्क्रबर से साफ कर लीजिए. आप बेकिंग सोडे से फ्रिज भी साफ कर सकती हैं.

टूथपेस्ट

टूथपेस्ट से अपने दांतों की सफाई तो आप रोज ही करती होंगी, लेकिन इस दीवाली उस से जरा घर की सफाई भी कर के देखें. अगर आप के घर में लैदर का सोफा है और उस में कोई दाग लग गया है, तो उसे साफ करने के लिए महंगा क्लीनर न खरीदें, बल्कि अपने बाथरूम में जाएं और अपना टूथपेस्ट ला कर सोफे पर लगे दाग पर लगाएं. फिर गीले कपड़े से साफ करें. दाग मिट जाएगा.

इस के अलावा अगर आप के घर की दीवारों पर बच्चों ने क्रियोंस रगड़ दिया हो और आप इस बार घर को पेंट कराने के मूड में न हों तो चिंता न करें. टूथपेस्ट को क्रियोंस पर लगाएं और गीले कपड़े से साफ कर दें.

टूथपेस्ट का इस्तेमाल आप चांदी के बरतन साफ करने के साथसाथ प्लास्टिक का सामान साफ करने में भी कर सकती हैं. टूथपेस्ट की एक और खासीयत यह भी है कि यह स्क्रैच के निशान भी छुड़ा देता है.

जरूरी टिप्स

– रोजमर्रा में इस्तेमाल होने वाली कुछ चीजें ऐसी हैं, जिन का उपयोग करने के बाद हम उन्हें व्यर्थ समझ कर फेंक देते हैं. लेकिन उन का फिर से उपयोग किया जा सकता है. कैसे, आइए जानें:

– कौकरोच की समस्या लगभग हर घर में होती है. उन्हें भगाने के लिए 2 बड़े चम्मच बोरिक पाउडर और 2 बड़े चम्मच गेहूं के आटे को दूध में मिला कर गूंध लें. फिर छोटीछोटी गोलियां बना कर जहांजहां कौकरोच हों वहां रख दें.

– किताबों के रैक पर कुछ सूखी नीम की पत्तियां रखें. इस से किताबें कीड़ों से सुरक्षित रहेंगी. चंदन की लकड़ी भी रखी जा सकती है.

– काली चींटियों को भगाने के लिए उस जगह थोड़ा आटा, शक्कर और हलदी मिला कर बुरक दें. चींटियां भाग जाएंगी.

– फूलों को ज्यादा दिनों तक तरोताजा बनाए रखने के लिए पानी में सैवनअप या सोडा मिला दें. अथवा थोड़ा सा नमक एवं शक्कर मिलाएं. इस पानी को रोज बदलती रहें. फूल खिलेखिले से रहेंगे.

– संतरे के सूखे छिलकों का पाउडर बना कर उस से कपड़े की अलमारी के किनारों पर रेखा खींच दें. कपड़ों में कीड़े नहीं लगेंगे.

– फर्नीचर में लगे दागधब्बों को नीबू के छिलके या जैतून के तेल से रगड़ कर साफ कर लें.

– घर में रखी पुरानी लोहे की अलमारी व स्टील के फर्नीचर को नमी से बचाने के लिए कैरोसिन को कपड़े में लगा कर उस से साफ करें. अलमारी और फर्नीचर में जंग नहीं लगेगा.

– अगर लोहे की अलमारी अपनी चमक खो चुकी है तो थोड़े से पानी में 1 चम्मच मीठा तेल मिलाएं. इस मिश्रण में कपड़ा डिप कर उस से अलमारी साफ कर लें. अलमारी की खोई चमक लौट आएगी.

– तारपीन के तेल में सिरका मिला कर उसे फर्नीचर पर लगाएं. इस से फर्नीचर में होने वाले जीवजंतुओं से छुटकारा मिलेगा.

– पुराने घर में अकसर आंगन में घासफूस उग आती है. जलाने पर यह कुछ समय बाद फिर उग आती है. इसे जड़ से मिटाने के लिए उस स्थान पर थोड़ा सा सिरका डाल दें. यह न केवल घास को दोबारा उगने से राकेगा, बल्कि कीड़ोंमकोड़ों का भी नाश कर देगा.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं