बाजार में मिलने वाली पाउडरनुमा रंगोली से आप ने कई बार रंगोली बनाई होगी, लेकिन इस बार कुछ नया ट्राई करें ताकि घर आए मेहमानों की नजर आप की

रंगोली पर ठहर जाए. आइए, जानें तरह-तरह की रंगोली बनाना:

कुंदन रंगोली: डिजाइनर कपड़ों की तरह अगर आप डिजाइनर रंगोली से अपने आंगन को सजाना चाहती हैं तो बाजार में उपलब्ध रैडीमेड कुंदन रंगोली से बढि़या विकल्प और कोई नहीं. चूंकि इसे बनाने के लिए रंगबिरंगे कुंदन इस्तेमाल किए जाते हैं, इसलिए यह देखने में काफी आकर्षक नजर आती है.

फ्लोटिंग रंगोली: पानी में तैरती रंगोली भी इन दिनों डिमांड में है, लेकिन घबराएं नहीं इसे आप को बनाने की जरूरत नहीं है. यह बाजार में रैडीमेड मिलती है. इसे घर ला कर पानी से भरे बाउल में बस डालना होता है. यह पानी में तैरने लगती है. मुख्यद्वार, आंगन के साथ ही ऐसी रंगोली टेबल डैकोरेशन के भी काम आती है. इस के लिए पानी से भरा बाउल टेबल पर रख कर उस में फ्लोटिंग रंगोली डाल दें.

स्टीकर रंगोली: अगर आप के पास रंगोली बनाने का समय नहीं है या आप को रंगोली बनानी नहीं आती है, तो चिंता करने की जरूरत नहीं है. आप स्टीकर रंगोली का चुनाव कर सकती हैं. इस के लिए ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं होती. बस जगह के अनुसार छोटीबड़ी जैसी चाहें वैसी रंगोली का स्टीकर खरीद कर घर ले जाएं और उसे मुख्यद्वार के सामने या आंगन में चिपका दें. दूसरी रंगोली जहां अगले दिन ही बिखर जाती है वहीं स्टीकर रंगोली कई महीनों तक ज्यों की त्यों रहती है.

चौक से बनी रंगोली: अगर आप की ड्राइंग अच्छी है तो आप फर्श पर चौक से भी रंगोली बना सकती हैं. इस के लिए अलगअलग रंग की चौक खरीदें और प्रयोग से पहले पानी में कुछ देर के लिए भिगो दें. फिर धीरेधीरे रंगोली बनाती जाएं. जैसेजैसे भारी चौक से बनी डिजाइन सूखेगी वैसेवैसे रंगोली का रंग और भी गहरा नजर आएगा.

ग्लास पेंटिंग रंगोली: ग्लास पर पेंटिंग ब्रश से बनाई गई रंगबिरंगी रंगोली भी काफी खूबसूरत नजर आती है. इन दिनों ग्लास पेंटिंग रंगोली काफी डिमांड में है. आप चाहें तो इसे अपनी पहली पसंद बना सकती हैं. बाजार में यह छोटी, बड़ी और मध्यम हर आकार और कई रंगों में मिलती है.

फूलों की रंगोली: मेहमानों का ध्यान आकर्षित करने के लिए रंगबिरंगे फूलों की रंगोली बनाई जा सकती है. इसे बनाने के लिए खासकर गुलाब, कमल, गेंदा, एस्टर के फूलों की पंखुडि़यों का इस्तेमाल किया जाता है. फूलों के साथ पत्तों का इस्तेमाल कर और भी आकर्षक बनाया जा सकता है. रंगों के साथ खुशबू भी फूलों की रंगोली की खासीयत है. इन दिनों पानी में तैरती फूलों की रंगोली भी काफी पसंद की जा रही है.

वुडन रंगोली: लकड़ी के बेस पर स्टोन, मोती, स्पार्कल आदि की सहायता से बनाई गई रंगोली पहली नजर में ही सब का मन मोह लेती है. बाजार में यह अलगअलग भागों (पत्ते अलग, फूल अलग) में रैडीमेड मिलती है. बस इसे घर ला कर सैट करने की जरूरत होती है. वुडन रंगोली वुडन फ्लोरिंग वाले कमरे में ज्यादा जंचती है. दीवाली के बाद इसे दीवार पर टांग कर वाल डैकोरेशन भी की जा सकती है.

अनाज की रंगोली: दाल, चावल, गेहूं, सूजी के अलावा आटे से भी रंगोली बनाई जा सकती है. इस के लिए अलगअलग रंग की साबूत दाल जैसे मूंग, मसूर, तुअर, चना, मटर का प्रयोग करें. इसी तरह चावल को हलदी से रंग कर या कुमकुम लगा कर पीला और लाल रंग दें और फिर चावल का इस्तेमाल करते हुए रंगोली बनाएं. बेसन, मैदा, गेहूं और चावल के आटे से भी रंगोली बनाई जा सकती है.

मिलीजुली रंगोली: चाहें तो फूल, अनाज और दीयों का प्रयोग कर के भी बेहद खूबसूरत रंगोली बना सकती हैं. इस के लिए पहले चौक की सहायता से जमीन पर बड़ी डिजाइन बना लें. अब इस के कुछ हिस्सों में फूलों की पंखुडि़यां, कुछ में पत्ते, कुछ में रंगे चावल तो कुछ में हरीपीली दालें डाल कर इसे सुंदर रूप दें. जब रंगोली तैयार हो जाए, तो उस पर जलते हुए कुछ दीए रख दें.