गृहशोभा विशेष

त्योहारों के समय घरों में रंग-रोगन का काम तो अधिकांश लोग कराते हैं और उसकी सुंदरता बढ़ाते हैं, यदि ये रंग आपकी मानसिक सेहत को सूट करते हुए हों तो कितना अच्छा हो. याद है आपको अपने बचपन का घर, वहां की नीली और सफेद दीवारें कैसे आज भी आपके दिलोदिमाग में बसी हैं. यादों के ऐसे ही रंगों से यदि घर की दीवारों को सजाया जाए तो उससे मानसिक सेहत बेहतर होती है. यदि यादों में बसा ऐसा कोई रंग नहीं हो तो फिर ऐसे रंगों का चुनाव करें, जो आपके मन को सुकून देने वाले हों.

जब लिविंग रूम की दीवारें करें स्वागत

रंगों के वॉर्म प्रकार के टोन जैसे लाल, पीला और नारंगी, मिट्टी के रंग के टोन जैसे भूरा लिविंग रूम के लिए बेहतर माने जाते हैं. क्योंकि ये रंग संवाद को प्रोत्साहित करने का काम करते हैं. ये लोगों को उस स्थान पर बैठकर बातें करने को प्रेरित करते हैं. ये रंग घर पर आने वाले लोगों को गर्मजोशी का अहसास कराते हैं और लोगों को जोड़ने का काम करते हैं.

बचपन का किचन

रंग विशेषज्ञों का कहना है कि किचन से हमारे बचपन की बहुत ही मीठी यादें जुड़ी होती हैं. यदि उन्हीं रंगों को दोबारा बड़े होने पर प्रयोग किया जाए तो उसका अर्थ और अधिक सार्थक होगा. मान लीजिए आप जब छोटी हों और आपके किचन की दीवारों का रंग नीला और सफेद हो तो ये दोनों ही रंग आपके परिवार के लिए बहुत अच्छे होंगे.

यदि रंगों को लेकर ऐसी कोई याद न हो तो फिर किचन के लिए लाल और पीले रंग सबसे सटीक होंगे. लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि यदि आपका वजन अधिक है तो लाल रंग और अधिक खाने को प्रेरित करता है. यदि आप डाइटिंग कर रही हैं तो फिर लाल रंग आपके किचन के लिए ठीक नहीं.

डाइनिंग रूम के रंग कुछ खास

यदि आपके डाइनिंग रूम की दीवारों का रंग लाल है तो इससे लोगों तक यह बात पहुंचेगी कि आप एक बेहतर कुक होंगी. लाल रंग की दीवारें मेहमानों की भूख को बढ़ाती है और साथ ही बातचीत का माहौल भी बेहतर होता है.

कूल बेडरूम का कलर हो कूल

बेडरूम ऐसी जगह होती है जहां इंसान आराम करता है. कूल कलर्स जैसे- नीला, हरा और लैवेंडर कलर्स बेहतर विकल्प हो सकते हैं. इन रंगों में शांति प्रदान करने का गुण होता है.

बाथरूम के वॉर्म कलर्स

बाथरूम के लिए चुनें वॉर्म कलर्स सफेद और वॉर्म कलर्स बाथरूम के लिए हमेशा ही बेहतर विकल्प माने जाते रहे हैं. क्योंकि ये रंग स्वच्छता और शुद्धता का संदेश देते हुए प्रतीत होते हैं. कई लोगों को नीले, हरे और फिरोजी रंग बाथरूम के लिए बेहतर जान पड़ते हैं. ये रंग स्वच्छता और ताजगी का अहसास कराते हैं. यदि आप किसी खास रंग के कपड़े नहीं पहनते हैं तो उस रंग से कभी भी बाथरूम को पेंट न कराएं.

यदि घर में हो वर्कआउट रूम

आपने भी यदि वर्कआउट के लिए घर पर अलग से एक रूम बनवाया है तो फिर उस कमरे की दीवारों का रंग भी कुछ खास होना चाहिए. इस कमरे के लिए लाल और नारंगी रंग का प्रयोग करने से आपको सक्रिय बने रहने की प्रेरणा मिलती है वैसे नीला और हरा रंग भी बेहतर विकल्प हो सकते हैं. पीला-हरा और नीला-हरा बेहतर हो सकता है.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं