घर का डेकोरेशन एक आर्ट है, काम नहीं. आप अपना घर सजाती हैं तो तारीफ आपकी ही होनी है. इसलिए अपने घर को शौंक से सजाएं. अपने इमैजिनेशन को ऊंची उड़ान दें लेकिन बस कछ आसान सी इन टिप्स को ध्यान में तरूर रखें.

विंटेज सामान

अपने किसी भी रूम में ज्यादा विंटेज सामान नहीं रखें वरना आपका घर म्यूजियम की तरह दिखने लगेगा. विंटेज को कंटेम्पररी के साथ मिक्स करें. इससे एक्लेक्टिक लुक मिलेगा.

पर्दे

पर्दे किसी भी साधारण कमरे को असाधारण लुक दे सकते हैं. इस बात का भी ध्यान रखें की पर्दे जमीन से ज्यादा ऊंचाई पर नहीं हों. इसके अलावा ये भी ध्यान रखें की पर्दे इतनी नीचे भी नहीं हों की जमीन पर पोंछा लगाएं. पर्दे आपके घर की दीवारों को ध्यान में रख कर खरीदें, अगर आपके घर के किसी कमरे की दीवारे गहरे रंग की हैं तो उन दिवारों के लिए डार्क कलर के पर्दे न लें.

रग्स

रग्स को टाइल्स या बिना ढकी हुई फ्लोर पर यूज करें. इससे लुक थोड़ा सॉफ्ट हो जाएगा. इन्हें कार्पेट पर रखना गलत है क्योंकि इस तरह कमरे की खूबसूरती बिगड़ती है.

नाप-तौल जरूरी

कमरे को डिजाइन करने के लिए हर आइटम नपा-तुला होना जरूरी है. इसलिए रूम का नाप ले लें. इंटीरियर के या फर्नीचर के स्टोर पर जब भी जाएं तो ये नाप किसी पेपर में लिखकर लेकर ही जाएं.

फर्नीचर

अपहोल्स्टरी वाला महंगा फर्नीचर कम्फर्ट और ड्यूरेबिलिटी के लिये अच्छे से जांच परख लें. एक बार घर आने के बाद ये लाइबिलिटी बन जाते हैं.

कैटलॉग से बचें

कैटलॉग में से कुछ नहीं लें ना ही बनवाएं. कैटलॉग में दिए आइटम फेक होते हैं. थोड़ा आर्टिस्टिक व्यू रखें और अलग-अलग जगह से चीजें उठाएं. इन्हें रूम में सजाएंगे तो स्पेस की खूबसूरती बढ़ेगी. मिक्सिंग ग्लास, वुड, मेटल आइटम आपके रूम को ऐस्थेटिकली एक चिक लुक देते हैं.

लाइटिंग पर ज्यादा ध्यान

ये गलत धारणा है कि ओवरहेड लाइटिंग जरूरी नहीं होती. अलग-अलग टेक्स्चर, कलर और साइज के लैम्प घर में पर्सनल और वॉर्म फ्लेवर एड करते हैं.

पिलो और कुशन

बेडरूम में कलरफुल पिलो रखकर जगह की ब्राइटनेस बढ़ाएं. वहीं लिविंग रूम में कलरफुल कुशन सजाएं. ओवरक्राऊड नहीं करें क्योंकि ज्यादा पिलो और कुशन आराम देने की जगह परेशानी बढ़ा सकते हैं.