गृहशोभा विशेष

पिछले साल पापा ने जब घर में पेंटपौलिश करवाया था तो दीपक ध्यान से सब देख रहा था. बनेबनाए पेंट के डब्बे, ब्रश और रेगमार, बस इन्हीं का तो कमाल है. फिर पापा के साथ हुई मजदूरों की बहस पर भी उस का ध्यान गया. मजदूर दीवारें पेंट कर शाम को धब्बे जमीन पर लगे ही छोड़ जाते, जिन्हें मम्मीपापा के साथ मिल कर दीपक को ही साफ करना पड़ता, तिस पर 3 कमरे पेंट करने में पूरा हफ्ता लगा दिया. सारा सामान बिखरा सो अलग.

सो दीपक ने इस बार सोच लिया था कि वह अपने छोटे भाई के साथ मिल कर स्वयं घर चमकाएगा और ऐसा हुआ भी. दीपक ने पापा से बात कर सामान मंगवा लिया और न केवल घर चमका दिया बल्कि फर्नीचर पर पौलिश कर उसे भी नया लुक दे दिया. पापा बच्चों की इस जिम्मेदारीपूर्ण कार्यप्रणाली को देख फूले न समाए.

चाहे तो हर किशोर दीपक की तरह अपने घर को पेंटपौलिश कर के चमका सकता है. बस, जरूरत है थोड़ी समझदारी और पेंटपौलिश सीखने की, जो आजकल नैट के जमाने में किशोर बखूबी सीख सकते हैं.

दीवारों पर पेंट

घर को चमकाने के लिए सब से जरूरी है दीवारों को रंगना. आप अपने घर के हर कमरे को मनचाहे तरीके से रंग सकते हैं, इस के लिए आप को जरूरत है पेंट की बालटी, ब्रश, रेगमार और मनवांछित रंगों की.

ऐसे रंगें दीवारें

घर की दीवारों को रंगने के लिए पहले उन्हें झाड़ूसे अच्छी तरह धूलमिट्टी हटा कर साफ कर लें. फिर रेगमार से दीवारों को रगड़ें. दीवारों से पुराने पेंट की पपड़ी हटा कर उन्हें प्लेन करें.

वालपुट्टी ले कर उस में प्लास्टर औफ पैरिस मिलाएं, इसे लुगदी जैसा बनाने के लिए इन में थोड़ा पानी मिलाएं, फिर सपाट प्लेटनुमा लोहे की पत्ती से इसे दीवारों पर हुए छेदों, ऊबड़खाबड़ जगहों, दरारों आदि में भरें व समतल करें. थोड़ी देर इसे सूखने दें व पुन: रेगमार से घिस कर एकसार कर समतल कर दें. अब दीवार पेंट के लिए तैयार है.

एक डब्बे में पेंट ले कर उस में मनचाहा कलर मिलाएं व मिक्स कर ब्रश की सहायता से पेंट दीवारों पर फैलाएं. इस प्रकार आप दीवारों पर मनचाहा रंग कर सकते हैं. याद रखें, दीवारों के साथसाथ छत को भी रंगना है लेकिन छत का कलर सफेद ही रखें तो बेहतर है. इस से अधिक प्रकाश नीचे को फैलता है और रोशनी अधिक होती है.

कुछ सावधानियां

– पेंट करते समय ध्यान रखें कि फर्श पर ज्यादा धब्बे न गिरें. इस से बचने के लिए फर्श पर पुराने अखबार बिछा सकते हैं, जिस से धब्बे उन्हीं पर पड़ेंगे और फर्श खराब नहीं होगा.

– अगर बिजली की फिटिंग दीवारों के ऊपर से है तो संभल कर पेंट करें.

– ब्रश के बजाय रोलिंग ब्रश का इस्तेमाल करें, इस से फिनिशिंग अच्छी आएगी.

– पेंट करने के बाद ब्रश डब्बे में ही न छोड़ें बल्कि धो कर साफ कर लें वरना सूखने पर इसे साफ करना व दोबारा इस्तेमाल में लाना मुश्किल होगा.

– दीवारों पर पेंट करने से पहले कमरा खाली कर लें व अलमारी, लकड़ी के पलंग या भारी सामान जिसे निकाल न पाएं, पर कपड़ा डाल दें ताकि पेंट के छींटे पड़ने से वे खराब न हों.

– पेंट करने से पहले हाथों में प्लास्टिक ग्लब्स व सिर पर कपड़ा बांध लें ताकि हाथ व बाल खराब न हों.

– घर के लिए प्लास्टिक पेंट अच्छा रहता है. इसे आसानी से धोया भी जा सकता है.

– पेंट सूखने के बाद सफाई करें व सामान वापस रख लें.

दरवाजों व खिड़कियों पर पेंट

घर के दरवाजे यदि लकड़ी के हैं तो उन पर पेंट करें लेकिन अगर उन पर पहले पौलिश हुई है तो पेंट न करें.

बनाबनाया पेंट बाजार में मिलता है, जो रंग पहले हुआ है वही लें और ब्रश की सहायता से दरवाजों, खिड़कियों, ग्रिलों, लोहे के दरवाजों पर पेंट करें. पेंट करने से पहले फर्श पर अखबार बिछा लेना अच्छा रहता है.

पेंट को सूखने में समय लगता है अत: दूसरा कोट करने से पहले इसे अच्छी तरह सुखा लें. पेंट करते समय ध्यान रखें कि खिड़कियों के शीशों पर पेंट न लगे. अगर थोड़ाबहुत लग भी जाए तो उसे उसी समय कपड़े से पोंछ लें.

फर्नीचर पौलिश

दीवारों, दरवाजों व खिड़कियों को चमकाने के बाद नंबर आता है फर्नीचर की साफ-सफाई का. आप अपने घर के फर्नीचर जैसे सोफा, पलंग, लकड़ी की अलमारी, सैंटर टेबल, कंप्यूटर टेबल आदि को घर पर ही पौलिश कर सकते हैं. इस के लिए सब से पहले यह ध्यान रखने की जरूरत है कि आप का फर्नीचर पुराना है या नया. अगर आप का फर्नीचर नया है तो धूलमिट्टी साफ कर सिर्फ कपड़ा मार कर चमकाया जा सकता है. पतले रेशमी कपड़े से या डस्टिंग ब्रश से इसे साफ करें. साथ ही यह भी ध्यान रखें कि अगर अलमारी पर पहले पेंट किया हुआ है तो दोबारा पेंट ही करें, पौलिश नहीं.

यदि फर्नीचर ज्यादा पुराना नहीं है तो आप बिना पौलिश के भी उसे चमका सकते हैं. इस के लिए निम्न तरीके अपनाएं :

– सब से पहले डस्टिंग ब्रश या पतले रेशमी कपड़े से फर्नीचर पर लगी धूलमिट्टी झाड़ लें.

– फिर औलिव औयल यानी जैतून का तेल व विनिगर (सिरका) मिला कर एक स्प्रे बोतल में भरें और फर्नीचर पर स्पे्र कर दें. थोड़ी देर बाद हलके हाथों से मुलायम कपड़े से पोंछें.

– अगर फर्नीचर पुराना है तो सब से पहले उस की टूटफूट को देखें. कहीं कील निकली है तो ठोंक दें. कब्जे आदि उखड़े हों तो ठीक कर लें. सनमाइका उखड़ रहा है तो उसे पीवीसी एडहैसिव की मदद से चिपका लें.

– अगर लकड़ी में कहीं गड्ढे बन गए हैं तो फैवीकोल में लकड़ी का महीन बुरादा मिला कर लुगदी बना लें व उस से इन गड्ढों को भरें. बाजार में लकड़ी भरने की पुट्टी भी मिलती है आप इस से भी इन्हें भर सकते हैं.

– रेगमार की सहायता से हलके हाथों से रगड़ कर सतह को एकसार करें. अब सतह पौलिश करने को तैयार है.

– बाजार से मैनिलेथेड स्प्रिट, थोड़ा सा लाखदाना व सुंदरस ले कर एक बोतल में डालें व बोतल धूप में रख दें. जब तीनों मिक्स हो जाएं तो रेशमी कपड़े से इस की पोटली बना कर लकड़ी पर फिरा दें. अगर कहीं रंगीन पौलिश करनी है तो इसी घोल में बाजार से कच्चा रंग ले कर मिला लें.

– इस पौलिश किए फर्नीचर को थोड़ी देर सूखने दें. सूखने पर साफ मुलायम कपड़े से पोंछ लें.

घर चमकाने के अन्य टिप्स

– अगर आप के घर के फर्श पर टाइल्स लगी हैं तो उन्हें टाइल क्लीनर से साफ करें. यह काम नियमित एक हफ्ते में वैसे भी कर सकते हैं.

– नौर्मल रंग से रंगी दीवारों की धूलमिट्टी कपड़े से साफ करें व सिर्फ पानी में कपड़ा भिगो कर दागधब्बे साफ करें, ज्यादा रगड़ें नहीं वरना रंग उतरने का डर रहता है.

– दीवारों पर अगर वालपेपर लगा है तो कुनकुने पानी में कपड़ा भिगो कर हलके हाथों से साफ करें.

– वाशबेसिन व टौयलेट को टौयलेट क्लीनर से चमकाएं.

– किचन में लगी टाइलों को टाइल क्लीनर से साफ करें व सिंक अगर स्टील की है तो विम आदि से साफ करें.

– यदि घर का फर्श मार्बल का है तो इसे पौलिश किया जा सकता है.

इस प्रकार जब आप अपने हाथ से घर को पेंट व फर्नीचर को पौलिश करेंगे तो न केवल आप का घर चमकेगा बल्कि आप का फर्नीचर भी सुंदर व नया लगेगा साथ ही मातापिता व घर में आने वाला हर मेहमान आप के इस कदम की तारीफ किए बिना नहीं रहेगा.    

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं