जाड़ों की कुनकुनी धूप आंगन में खिली हो और पूरा परिवार बैठ कर उस का आनंद ले रहा हो, सुबह के सूरज की मखमली किरणों के कमरे में आने पर खुशनुमा, ताजगी भरे वातावरण में नींद खुले, अपने सपनों के घर के बारे में कल्पना करते हुए हर किसी की इच्छा होती है कि खुला, हवादार, धूप वाला घर मिले. छोटे शहरों में तो फिर भी ये आकांक्षाएं साकार हो जाती हैं, लेकिन महानगरों में जीवन का विस्तार जितना बड़ा होता है, रहने की जगह उतनी ही सिमटीसिकुड़ी हुई होती है. बड़े शहरों में रहने की एक ही शर्त होती है कि कोई शर्त न रखो. यहां आवासीय समस्या इतनी गंभीर है कि सिर छिपाने को एक छत मिल जाए, इतना ही काफी होता है. ऐसे में धूप वाला घर मिले, यह जरूरी नहीं.

लेकिन जिस घर में धूप न आती हो, वहां रहना भी आसान नहीं है. जहां दिन में भी अंधकार छाया हो, ऐसे घर में रह कर तो कोई भी व्यक्ति अवसादग्रस्त हो सकता है. पर अगर ऐसे घर में रहना ही पड़े, तब क्या किया जाए? आइए जानें, कुछ ऐसे तरीके, जिन्हें अपना कर घर को रोशन बनाया जा सकता है.

पेंट हलके रंग का हो

इंटीरियर डैकोरेटर सुरभि चिकारा कहती हैं, ‘‘दीवारों के पेंट का रंग घर को एक विशिष्ट लुक प्रदान करता है. जिन घरों में धूप की कमी होती है, उन में हलके और ग्लौसी फिनिश वाले पेंट रोशनी को प्रतिबिंबित करते हुए अंधेरे का आभास नहीं होने देते. ऐसे घरों में सफेद, क्रीम, हलके नीले, गुलाबी, हरे रंग इस उद्देश्य के लिए बिलकुल फिट बैठते हैं. ये रंग खिड़कियों से आने वाले उजाले को पूरे कमरे में फैलाते हैं, जिस से घर के रोशन होने का एहसास होता है.’’

परदे पारदर्शी हों

मोटे कपड़े और गहरे रंग के परदे खिड़कियों से आने वाले प्रकाश को रोक देंगे. अत: बेहतर यही होगा कि परदे झीने फैब्रिक और हलके रंग जैसे पीला, सुनहरा, क्रीम के हों, जिन से प्रकाश छन कर भीतर आ सके.

ट्यूबलाइट अधिक होनी चाहिए

घर में धूप न आती हो, तो कमरे में सिर्फ एक लाइट होने से काम नहीं चलेगा. दीवारों पर लगी ट्यूबलाइटों के अलावा फ्लोर लैंप भी होने चाहिए, जिस से कि कमरों के कोने भी प्रकाशित हो सकें. यह ध्यान रखें कि लैंप शेड्स गहरे न हों, बल्कि सफेद या हलके रंग के हों जो रोशनी को सही तरह से पूरे कमरे में फैला सकें. इस के अलावा कोन आकार के लैंप शेड पढ़ने के काम के लिए ज्यादा ठीक रहते हैं, पर सारे कमरे को रोशन नहीं कर सकते हैं. ऐसे लैंप शेड जो बल्ब को पूरा ढक लेते हैं, ज्यादा रोशनी फैलाते हैं. अत: कमरे में इन का इस्तेमाल ही अधिक करें.

सही बल्ब चुनें

सुरभि रोशनी के लिए सही बल्ब के चुनाव की महत्ता पर जोर देती हैं. वे कहती हैं, ‘‘बहुत चुभती हुई रोशनी न रखें वरन बाजार में मिलने वाले सीएफएल बल्ब इस्तेमाल करें जोकि पावर बचाने के साथसाथ घर को प्राकृतिक रोशनी जैसा ग्लो देते हैं. इन्हें घर के अंधेरे कोनों में लगाया जाना चाहिए.’’

वे सलाह देती हैं कि फुल स्पैक्ट्रम लाइट बल्ब इस्तेमाल किए जाने चाहिए. इन बल्बों की विशेषता यह होती है कि ये नियोडाइमियम नामक रासायनिक पदार्थ से रंगे होते हैं और बिलकुल सूरज की रोशनी जैसा प्रकाश देते हैं.

आईने से रोशनी बढ़ाएं

आजकल दीवारों पर सजाने के लिए पेंटिंग्स के अलावा बड़े आईने लगाने का भी बहुत चलन है. हालांकि पेंटिंग्स की तरह बहुत सारे आईने नहीं लगा सकते, लेकिन एक आईना सजावट के साथसाथ कमरे की रोशनी को भी काफी बढ़ा सकता है. इस के लिए खिड़की के सामने वाली दीवार पर एक बड़ा आईना लगा दें. यह खिड़की से आ रही रोशनी को प्रतिबिंबित कर पूरे कमरे में प्रकाश भर देगा.

फर्नीचर हलके रंग का हो

गहरे रंग का फर्नीचर रोशनी कम होने का आभास देता है, इसलिए डार्क वुड के बजाय हलके रंग की लकड़ी का फर्नीचर लें.

घर को रोशन करने के कुछ और टिप्स

अलमारियों में भी बल्ब लगवाएं, जो खोलने पर जल उठें और आप को सामान निकालने में आसानी हो.

किचन काउंटर और फर्श सफेद या क्रीम मार्बल का रखें ताकि वह रोशनी को प्रतिबिंबित करे.

इसी तरह डाइनिंग टेबल और सैंटर टेबल कांच की रखें जिस से कि प्रकाश प्रतिबिंबित हो.

खिड़की के बजाय कांच का स्लाइडिंग दरवाजा भी लगवा सकते हैं, जिस से ज्यादा से ज्यादा रोशनी घर में आ सके.

यदि सब से ऊपरी मंजिल पर रहते हों और प्राइवेसी की समस्या नहीं है, तब स्काई लाइट लगवाना भी एक विकल्प हो सकता है.

सुबह उजाले में उठना चाहते हों तो आजकल टाइमर वाले बल्ब भी उपलब्ध हैं जिन पर आप अपने उठने के समय का टाइमर लगा सकते हैं. तब रोज वे उस निर्धारित समय पर अपनेआप जल उठेंगे और आप को धूप जैसा एहसास होगा.

सजावट की चीजें भी ऐसी हों, जो प्रकाश प्रतिबिंबित करें जैसे कांच अथवा क्रिस्टल के फूलदान या शोपीस.

बैडशीट और सोफा कवर भी सफेद या हलके रंगों के हों तो कमरा ज्यादा प्रकाशमय लगेगा.

आप के घर में धूप नहीं आती, तब भी आप को चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है. थोड़ी सी सूझबूझ से आप उसी घर को खुशनुमा और प्रकाशमय बना सकते हैं. बस, आप को अपनी ओर से प्रयास करना है. यकीन मानिए, आज के प्रगतिशील जमाने में अगर आप असली धूप नहीं तो उस से मिलतीजुलती नकली धूप ही सही, अपने घर ला सकते हैं और उस से अपने जीवन के अंधेरे को मिटा कर रोशनी से सराबोर कर सकते हैं.