गृहशोभा विशेष

दीवाली के नजदीक आते ही फिजाओं में अलगअलग पकवानों की सुगंध घुल जाती है. इस सुगंध को फिजाओं में घोलने में महत्त्वपूर्ण योगदान होता है किचन क्वीन यानी घर की महिलाओं का. परिवार और मेहमानों को घर के बने पकवान का स्वाद चखाने के लिए महिलाएं त्योहार के हफ्ते भर पहले से ही रसोई में जुट जाती हैं और मेहनत व स्नेह से बनाए गए पकवानों की तारीफ सुनने के लिए बेताब रहती हैं, लेकिन ये क्या?

‘मां प्लीज, मैं इतना औयली, नमकीन नहीं खा सकता.’

‘भाभीजी, मिठाई खिला कर मारना चाहती हैं क्या? मुझे डायबिटीज है.’

‘अरे सुनती हो, तुम्हारे गुलाबजामुन खा कर मेरा पेट खराब हो गया है, अब मत बनाना.’

तारीफ की जगह आलोचनाएं मिलते ही इतनी जद्दोजेहद से बने पकवान पल भर में फीके हो जाते हैं और बनाने वाली के चेहरे पर मायूसी छा जाती है. लेकिन अगर त्योहार पर स्वाद और सेहत दोनों का खयाल रखा जाए तो कम मेहनत में भी लोगों के दिलों को जीता जा सकता है. यहां हम आप को बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी रैसिपीज बनाने के तरीके जो न केवल ट्रैडिशनल मिठाइयों से जुदा हैं, बल्कि इन का स्वाद भी लाजवाब है. सेहत के लिए भी ये 100 फीसदी फायदेमंद हैं. इन रैसिपीज को ट्राई करें और बन जाएं इस दीवाली किचन क्वीन.

दीवाली पर गुलाबजामुन, काजूकतली, नारियल बरफी, बेसन के लड्डू तो आप ने खूब बनाए होंगे, लेकिन क्या आप ने कभी सोचा है कि ओटमील से भी लजीज डैजर्ट आइटम तैयार किया जा सकता है? शायद अब तक आप ने ओटमील का इस्तेमाल तबीयत के खराब होने पर किया होगा, लेकिन गुड़गांव स्थित होटल ड्यूसित देवराना के शैफ निशांत चौबे की मानें तो ओटमील से बहुत सारी रैसिपीज तैयार की जा सकती हैं और वे भी बेहद आसानी से. साथ ही ओटमील के लो कैलोरीज वाला होने और अधिक फाइबर मिलने का लाभ भी आप उठा सकते हैं. आइए जानते हैं ओटमील से बनी लजीज रैसिपी ओटमील मफिंस की विधि:

ओटमील मफिंस

सामग्री

1 कप ओटमील, 1 कप बटरमिल्क, 1 अंडा, 1/2 कप ब्राउन शुगर, 1/2 कप मक्खन बिना नमक का पिघला हुआ और ठंडा, 1 कप आटा, 1/2 छोटा चम्मच नमक, 1 छोटा चम्मच बेकिंग पाउडर, 1/2 छोटा चम्मच बेकिंग सोडा, 1/2 कप सूखी किशमिश.

विधि

एक बड़े बाउल में ओटमील और बटरमिल्क को मिला कर 1 घंटे के लिए रख दें. इस के बाद ओवन को 400 डिग्री तापमान पर गरम करें और 12 मफिन टिन्स में मक्खन की परत लगाएं. ओटमील के मिश्रण में अंडा, चीनी और मक्खन डालें और तब तक हिलाएं जब तक सामग्री अच्छे से मिल न जाए. अब एक दूसरा बड़ा बाउल लें. इस में आटा, नमक, बेकिंग पाउडर, बेकिंग सोडा व ओटमील मिश्रण डालें और अच्छे से मिलाएं. फिर इस मिश्रण में किशमिश डालें. अब इस मिश्रण को बराबर मात्रा में मफिन टिन्स में डालें और ओवन के मध्य में रख कर 20 मिनट तक बेक करें. बेक होने पर टेस्टर की सहायता से देखें कि क्या मफिंस अच्छी तरह बेक हो चुकी हैं, फिर सर्व करें.

महत्त्वपूर्ण टिप्स

यह भ्रम है कि स्वीट डिश का स्वाद बढ़ाने के लिए अधिक मात्रा में चीनी का प्रयोग हो. बल्कि चीनी सटीक मात्रा में होगी तभी डिश में स्वाद आएगा. चीनी अधिक होने पर स्वीट डिश में सिर्फ स्वीटनैस ही रह जाती है.

ओटमील मफिंस में चीनी के साथ नमक का भी प्रयोग किया गया है. नमक स्वीट डिश के फ्लेवर को इनहैंस करता है. सिर्फ ओटमील मफिंस ही नहीं, बल्कि किसी भी स्वीट डिश को बनाते वक्त उस में चुटकी भर नमक डालने से उस का स्वाद और भी लजीज हो जाता है.

ओटमील मफिंस में हलका सा नीबू रस डालने से इसे अधिक समय के लिए प्रिजर्व किया जा सकता है. साथ ही स्वीट डिश को आसानी से हजम करने में भी नीबू फायदेमंद है.

यदि आप रैसिपी बनाते वक्त नीबू से हिचक रही हैं, तो डिश को परोसते वक्त नीबू भी सर्व करें. ऊपर से नीबू रस का छिड़काव करने में डिश का स्वाद और भी बेहतरीन हो जाता है. पुडिंग तो सभी को बनानी आती है, लेकिन दीवाली जैसे त्योहार पर साधारण पुडिंग मेहमानों के आगे परोसना अपनी कमजोर पाककला को दिखाना है. लेकिन पुडिंग यदि चिया सीड्स से बनाई गई हो और एकदम अलहदा स्वाद से भरी हो तो मेहमाननवाजी करने में एक अलग सा आत्मविश्वास आता है. साथ ही यह अलग प्रकार की पुडिंग शरीर को ओमेगा 3 फैटी ऐसिड, फाइबर, ऐंटीऔक्सीडैंट्स और मिनरल्स भी प्रदान करती है. तो आइए जानिए चिया सीड पुडिंग बनाना:

*

चिया सीड पुडिंग

सामग्री

1 कप बादाम का दूध बिना मिठास वाला, 1 कप प्लेन ग्रीक दही, 6 बड़े चम्मच शुद्ध मेपल सिरप, 1 छोटा चम्मच शुद्ध वैनिला ऐक्सट्रैक्ट, 1/4 कप चिया बीज, 1/4 कप बादाम कटा और रोस्टेड, 1 कप स्ट्राबैरी कटी हुई, 1 कप ब्लूबेरी, 1 कप जामुन, सीसाल्ट स्वादानुसार.

विधि

एक मध्यम आकार के बाउल में बादाम का दूध, दही, 2 बड़े चम्मच मेपल सिरप, वैनिला ऐक्सट्रैक्ट और 1/8 चम्मच नमक डालें और अच्छी तरह ब्लैंड करें. अब इस मिश्रण को चिया सीड्स पर डालें और 30 मिनट के लिए अलग रख दें. सीड्स यदि एक जगह सैटल हो गए हों तो मिश्रण को थोड़ा सा हिला दें. अब इस मिश्रण को कवर करें और रात भर के लिए फ्रिज में रख दें. अब मिश्रित मुरब्बा बनाने के लिए स्ट्राबैरी, ब्लूबेरी व जामुन को चीनी की चाशनी में तब तक पकाएं जब तक वे अर्द्ध ठोस अवस्था में न पहुंच जाएं. अगले दिन एक मध्यम आकार के बाउल में बेरी के मुरब्बे में बचा हुआ मेपल सिरप डालें और अच्छे से मिलाएं. फिर इसी सामग्री में बादाम डाल कर मिलाएं. अब 4 गिलासों में पुडिंग को डालें और बेरी के मुरब्बे को गिलास में ऊपर की तरफ डाल कर सर्व करें.

महत्त्वपूर्ण टिप्स

चिया सीड्स पुडिंग बनाने के लिए चिया सीड्स को कुछ देर के लिए पानी में भिगो कर रखना होता है. लेकिन 1/2 घंटा से ज्यादा बीज को पानी में भिगो कर न रखें, क्योंकि इस से वे पानी में ही घुल जाएंगे.

बादाम के दूध का इस्तेमाल करने से पहले एक बार उसे उबाल लें. इस से दूध में मौजूद नुकसान पहुंचाने वाले सभी बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं. इस बात का भी ध्यान रखें कि दूध को ठंडा करने के बाद ही इस्तेमाल करें.

पुडिंग बनाने के बाद उसे कई हिस्सों में डिवाइड कर के फ्रिज में रखें ताकि जब भी आप को मेहमान के आगे डिश परोसनी हो तो आप 1 भाग उसे परोस सकें. इस से बाकी हिस्सा फ्रिज में ठंडा बना रहेगा.

आप चिया सीड्स पुडिंग को 3 से 4 दिनों तक प्रिजर्व कर के रख सकती हैं.

खिचड़ी का रिवाज तो कहीं नहीं देखा गया है, बल्कि जिस घर में त्योहार पर खिचड़ी परोसी जाए तो धर्म के नजरिए से इस से ज्यादा अशुभ कुछ और नहीं हो सकता. लेकिन अब इन खोखली बातों को नजरअंदाज कर खिचड़ी जैसी साधारण रैसिपी को एक नया फ्लेवर और कौंबिनेशन देने का वक्त आ गया है. शैफ निशांत चौबे कहते हैं कि जरूरी नहीं कि ट्रैडिशनल तरीके से बनी खिचड़ी को ही खिचड़ी कहा जाए. इस के साथ भी कई प्रयोग किए जा सकते हैं. खासतौर पर उस सामग्री के साथ, जिस से खिचड़ी तैयार की जाती है. जी खिचड़ी में अगर कुछ ऐसे इनग्रीडिएंट्स की जुगलबंदी कर दी जाए, जो खिचड़ी को अल्ट्रा मौडर्न बना दें, तो दीवाली क्या हर तीजत्योहार पर खिचड़ी को मेहमाननवाजी का हिस्सा बनाया जा सकता है. खासतौर पर यदि खिचड़ी वाइल्ड राइस विद टोफू ऐंड ऐस्पैरगस से तैयार की गई हो.

*

वाइल्ड राइस खिचड़ी विद टोफू ऐंड ऐस्पैरगस

सामग्री

500 ग्राम वाइल्ड राइस, 200 ग्राम अरहर की दाल, 200 ग्राम मूंग दाल, 20 ग्राम अदरक, 20 ग्राम लहसुन, 1 हरीमिर्च, 20 ग्राम हलदी पाउडर, 20 ग्राम धनिया पाउडर, 20 ग्राम जीरा पाउडर, 10 ग्राम घी, 100 ग्राम टोफू, 30 ग्राम ऐस्पैरगस, 10 ग्राम साबूत जीरा, गार्निशिंग के लिए थोड़ी सी धनियापत्ती, समुद्री नमक.

विधि

ठंडे पानी में रात भर के लिए वाइल्ड राइस को भिगो दें. सुबह उसे 1/2 घंटा पानी में उबालें. दालें ठंडे पानी में 30 मिनट के लिए भिगो कर रख दें. फिर उन्हें हलदी डाल कर उबालें. उन के मुलायम पड़ने पर उन्हें मिक्सी में ब्लैंड करें. अदरक, लहसुन और हरीमिर्च को बारीक काटें. टोफूज को घी, जीरा पाउडर, धनिया पाउडर, हलदी और समुद्री नमक से मैरिनेट करें. फिर एक पैन लें और उस में घी, साबूत जीरा, अदरक, लहसुन और मिर्च डालें. 10 मिनट तक इस सामग्री को भूनें. फिर इस मिश्रण में हलदी पाउडर, धनिया पाउडर और जीरा पाउडर डालें. ऊपर से नमक भी डालें. अब एक अलग पैन लें और उस में मैरिनेट किए गए टोफूज को तब तक फ्राई करें जब तक वे क्रिस्पी न हो जाएं. ऊपर से ऐस्पैरगस डालें और धनियापत्ती से गार्निशिंग करें. डिश परोसने के लिए तैयार है.

महत्त्वपूर्ण टिप्स

जिस पानी में रात भर चावल को भिगोएं उसी पानी से चावल को उबालें. दरअसल, चावल वाले पानी में स्टार्च आ जाता है, जिस में पोषक तत्त्व होते हैं.

यह खिचड़ी घुली हुई नहीं होती, क्योंकि वाइल्ड राइस थोड़े हार्ड होते हैं. इन को हलका सा चबा कर खाना होता है और चबा कर खाया गया खाना बहुत फायदेमंद होता है.

वाइल्ड राइस के स्थान पर इस रैसिपी में रैड राइस, ब्लैक राइस और ब्राउन राइस का भी इस्तेमाल किया जा सकता है. यदि आप इसे प्रिजर्व कर के खाना चाहती हैं तो दाल की प्यूरी को अलग और उबले हुए चावलों को अलग रखें. मेहमानों के आगे परोसने से पहले बस तड़का लगा दें.

आइसक्रीम खिलाना भी आम है, लेकिन मीठी ठंड से लिपटे इस त्योहार पर आइसक्रीम एक आइडियल पकवान में शामिल नहीं होती. फिर भी थोड़े प्रयोग से यही आइसक्रीम स्वाद और सेहत दोनों को बढ़ा देती है. इस के अलावा आइसक्रीम में मिठास की मौजूदगी भी आम है, लेकिन मिठास के साथ कड़वाहट भी घुल जाए तो स्वाद में यूनीकनैस अपनेआप ही आ जाती है. टरमरिक यानी हलदी जिस का स्वाद इतना डौमिनेटिंग होता है कि अलग से ही समझ में आता है. ऐसे में आइसक्रीम में इस का प्रयोग एक चुनौती ही है. लेकिन शैफ निशांत की मानें तो टरमरिक आइसक्रीम खाने वाले उस के स्वाद को कभी नहीं भूल पाएंगे. तो आइए जानते हैं, कैसे बनती है यह रैसिपी:

*

टरमरिक आइसक्रीम

सामग्री

200 ग्राम ताजा हलदी, 100 मि.ली. लो फैट क्रीम, 100 मि.ली. स्किम्ड मिल्क, 40 ग्राम चीनी, 100 ग्राम ताजा हलदी की पत्ती, संतरे का छिलका थोड़ा सा, समुद्री नमक.

विधि

हलदी रूट्स को अच्छी तरह साफ कर के काटें. फिर एक पैन लें. उस में कटे हलदी रूट्स के साथ दूध, क्रीम और चीनी डालें और इस मिश्रण को 35 मिनट तक धीमी आंच पर उबलने दें. फिर इस में संतरे का छिलका डालें और ठंडा होने दें. ऊपर से समुद्री नमक छिड़कें. फिर इस मिश्रण को ब्लैंड करें और 24 घंटे तक फ्रिज में रखें. फिर इसे समुद्री नमक और संतरे के छिलके के साथ परोसें.

महत्त्वपूर्ण टिप्स

मूमन आइसक्रीम का स्वाद मीठा होता है, लेकिन टरमरिक आइसक्रीम का स्वाद मीठा होने के साथ हलकी सी कड़वाहट भी लिए होता है.

आइसक्रीम किसी भी प्रकार की बीमारी में खाई जा सकती है, बल्कि यह फायदा भी करती है.

इसे हफ्ते भर फ्रिज में प्रिजर्व कर के रखा जा सकता है. 

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं