स्वार्थ से उठें ऊपर
स्वार्थ से उठें ऊपर

ईर्ष्या किस तरह आप के मन की शांति छीन सकती है, जान कर खुद को बदले बिना नहीं रह सकेंगे आप.

दांपत्य के 9 वचन
दांपत्य के 9 वचन

विवाह के धागे में वचनों के ये मोती पिरो कर तो देखिए, जीवन प्यार और खुशियों से सराबोर हो जाएगा.

शिथिल न पड़ जाएं यौन संबंध
शिथिल न पड़ जाएं यौन संबंध

सैक्स जैसे खुशनुमा विषय में जब घुटन अपनी जगह बनाने लगे, तो खुद में ये बदलाव जरूर लाएं.

न बनाएं लाइफ को फास्ट
न बनाएं लाइफ को फास्ट

हड़बड़ी में किए गए काम में गड़बड़ी की संभावना ज्यादा रहती है, इसलिए अपनी कार्यशैली में ये बदलाव जरूर लाएं.

विवाह में शर्तें उचित या अनुचित
विवाह में शर्तें उचित या अनुचित

रिश्तों की नींव प्यार और विश्वास पर टिकी होती है लेकिन जब वैवाहिक रिश्ते शर्तों पर बनते हैं तो उन की उम्र अधिक लंबी नहीं होती.