एक हैल्थ कंपनी के नए अध्ययन के अनुसार 10 में से 2 पुरुषों का कहना है कि जब उन से उन की पार्टनर के बारे में, उस की हैल्थ के बारे में पूछा जाता है या क्या सचमुच जी स्पौट होता है या पीएमएस के क्या कारण हैं, तो उन्हें इस बारे में कुछ भी पता नहीं होता है. पर चाहे आप स्त्री हों या पुरुष, हैल्थ और बौडी की बात हो तो आप को एकदूसरे के बारे में जानकारी होना जरूरी है. पेश है, पुरुषोंस्त्रियों के लिए कुछ ऐसी ही जानकारी:

पुरुषों के लिए

प्र. पैल्विक  फ्लोर मसल्स कहां होती हैं और वे क्या करती हैं?

उ. ये मांसपेशियां स्त्री की प्यूबिक बोन से उस की रीढ़ की हड्डी के सामने तक होती हैं. इन का काम है गर्भाशय, वैजाइना, पेट औैर ब्लैडर को सपोर्ट करना. गर्भावस्था, बच्चे का जन्म और मेनोपौज से ये मांसपेशियां कमजोर हो सकती हैं, जिस से कभीकभी सैक्सुअल प्लैजर कम हो सकता है.

प्र. क्या स्त्री की बै्रस्ट एक ही आकार की होती है?

उ. नहीं, रिसर्च बताती है कि एक स्तन हमेशा दूसरे से बड़ा होता है. यह अंतर बहुत ही मामूली होता है. पर किसी भी स्त्री के स्तन एकबराबर नहीं होते हैं.

प्र. पैरिमेनोपौज का क्या मतलब है?

उ. यह मेनोपौज शुरू होने से पहले की अवस्था है. यह 35 साल की उम्र से भी शुरू हो सकती है. इस समय स्त्री का हारमोन लैवल बहुत ऊपरनीचे होता है, जिस से अनिद्रा, मूड स्विंग्स औैर चिंता की शिकायत हो सकती है.

प्र. स्त्रियों की मृत्यु हृदयरोग से ज्यादा होती है या बै्रस्ट कैंसर से?

उ. हृदयरोग से ब्रैस्ट कैंसर की तुलना में ज्यादा महिलाओं की मृत्यु हो रही है.

प्र. पीएमएस से स्त्रियां चिड़चिड़ी क्यों हो जाती हैं?

उ. पीएमएस (प्रीमैंसट्रुअल सिंड्रोम) स्त्री के पीरियड से 7 दिन पहले शुरू हो सकता है. फीमेल हारमोन ऐस्ट्रोजन और फीलगुड ब्रेन कैमिकल सिरोटिन का स्तर कम होने से मूड खराब और चिड़चिड़ाहट होती है.

प्र. क्या एक स्त्री किसी भी समय गर्भवती हो सकती है?

उ. नहीं, हर महीने अपने पीरियड से 12 से 14 दिन पहले के 6 दिन उन के ओव्यूलेशन का समय होता है.

प्र. पुरुषों की तुलना में स्त्रियों को यूरिन इंफैक्शन ज्यादा क्यों होता है?

उ. ट्यूब यूरेथ्रा की बनावट स्त्रियों में पुरूषों की तुलना में छोटी होती है. इस से बैक्टीरिया आसानी से ब्लैडर तक पहुंच जाते हैं, जिस से इंफैक्शन होता है.

प्र. स्त्रियां पुरुषों जितनी शराब क्यों नहीं पी सकतीं?

उ. स्त्रियों में वह ऐंजाइम कम उत्पन्न होता है जो अलकोहल में उपस्थित इथेनौल को कम करता है. इसलिए पुरुषों जितनी मात्रा लेने पर स्त्रियों में ब्लड अल्कोहल लैवल बढ़ जाता है.

प्र. क्या जी स्पौट वास्तव में कुछ है?

उ. वैजाइना के अंदर सैक्सुअल प्लैजर के लिए इस जगह की बात की जाती है. अभी तक यह विवाद का विषय ही है. कुछ पूर्ण तथा स्पष्ट नहीं हुआ है.

स्त्रियों के लिए

प्र. क्या मैन फ्लू सच है?

उ. काफी सच होने की संभावना है. कैलिफोर्निया की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी की रिसर्च के अनुसार स्त्रियों को पुरुषों की तुलना में कोल्ड, फ्लू कम होते हैं, क्योंकि फीमेल हारमोन ऐस्ट्रोजन का हाई स्तर इन बीमारियों से उन्हें सुरक्षित रखता है.

प्र. इरैक्शन की समस्या किसी बीमारी का लक्षण हो सकती है?

उ. इरैक्टाइल डिस्फंक्शन हृदयरोग का प्रारंभिक लक्षण हो सकता है. ऐसा होने पर डाक्टर के पास जरूर जाएं.

प्र. क्या पुरुषों को पैल्विक फ्लोर ऐक्सरसाइज करनी चाहिए?

उ. हां, यह बहुत अच्छी रहेगी. यह पुरुषों में पैल्विक फ्लोर ब्लैडर औैर पाचनसंबंधी क्रियाओं को सपोर्ट करती है और स्त्रियों की तरह पुरुष भी इन महत्त्वपूर्ण मसल्स की कमजोरी से पीडि़त हो सकते हैं. इसलिए पुरुषों को भी पैल्विक फ्लोर को मजबूत करने वाले व्यायाम करते रहना चाहिए.

प्र. क्या पुरुषों को भी मेनोपौज होता है?

उ. करीब 50 साल की आयु में पुरुषों को भी ऐंड्रोफैज होता है. थकान और यौन संबंधों में रुचि कम होना, पुरुष हारमोन टेस्टोस्टेरौन का गिरता स्तर कारण माना जाता है.

प्र. क्या पुरुषों को भी स्तन कैंसर होता है?

उ. हां, पर बहुत कम. हर साल लगभग 350 पुरुषों को स्तन कैंसर होता है.

प्र. क्या पुरुष भी चरमसुख के विषय में झूठ बोलते हैं?

उ. हां, यूएस के एक अध्ययन के अनुसार लगभग एकतिहाई पुरुष अपने पार्टनर से चरमसुख को ले कर झूठ बोलते हैं. बहुत नशे में होना या सोने की बहुत इच्छा होना इस के कारण हैं.

प्र. डिमेंशिया का ज्यादा खतरा किसे है?

उ. स्त्रियों को ज्यादा खतरा है. अल्जाइमर्स सोसायटी की रिसर्च के अनुसार डिमेंशिया के मरीजों में दोतिहाई स्त्रियां है. यह शायद इसलिए, क्योंकि स्त्रियों की आयु अधिक होती है और डिमेंशिया होने का खतरा उम्र के साथ बढ़ता है और मेनोपौज के बाद ऐस्ट्रोजन का स्तर कम होने से मस्तिष्क को नुकसान पहुंचने का खतरा बढ़ जाता है.