आज के समय में पेंरेट्स अपने बच्चों की बिगडती आदतों और उनकी बातों को अनसुना कर देने की वजह से परेशान रहते हैं. अक्सर देखा गया है कि बच्चे किसी काम को ना करने की जिद करते हैं तो उनके पेरेंट्स उनपर दबाव डालते हैं और जबरदस्ती वह काम करवाते हैं, जिसके चलते धीरे-धीरे बच्चे पेरेंट्स की बातों को अनसुना करने लगते हैं.

ऐसे में पेरेंट्स को भी आराम से स्थिति को हैंडल करने की जरूरत होती हैं. इसलिए आज हम आप पेरेंट्स के लिए कुछ टिप्स लेकर आए हैं जिनकी मदद से आपके बच्चे आपकी बातों को मानने लगेंगे.

‘ना’ की जगह कहें ये

बच्चों को सीधा न सुनना बिल्कुल भी नहीं पसंद होता. उन्हें लगता है आप उनकी बात नहीं मानते. इसलिए अगर वह आपसे किसी चीज को लेने या फिर गेम खेलने को बोल रहे है तो उन्हे सीधा न करने की बजाय उनसे बोले पहले होमवर्क कर लें फिर जो मन आया करना. इससे वह खुश हो कर जल्दी अपना काम खत्म करेंगे.

parenting tips in hindi

बच्चे का ध्यान अपनी ओर खींचे

जब कभी बच्चा टीवी, वीडियो गेम्स देख रहा हो उसे इससे हटाने के लिए दूर से चिलाकर न रोके बल्कि उसके पास जाकर टीवी और वीडियो गेम्स की आावाज धीमी करके उसे प्यार से इसे बंद करने के बोलें. उनसे बात करने के लिए उनके सामने बैठ कर आंखों में आंखे डाल कर बात करें. इससे उनका ध्यान आपकी तरफ खींचा जाएंगा और वह आपकी बात भी सुनेगा.

कहानी के जरिए समझाएं

बच्चों को कहानी सुनना बहुत पसंद होता है. वे अक्सर अपने दादा-दादी से कहानी सुनाने को बोलते है. अगर आपका बच्चा भी पढ़ाई की अहमियत नहीं समझता तो उसे डांट कर नहीं कहानियों के जरिए इसका महत्व समझाएं. इससे वे बहुत जल्दी समझ जाएंगे.

parenting tips in hindi

हल्की सजा दें

हल्की का मतलब ये नहीं कि आप उन्हें डांटे बल्कि उन्हें बोले अगर तुमने कहा न माना तो तुम्हें यह चीज बिल्कुल भी नहीं मिलेंगी या फिर मैं तुम्हें फेवरट् डिश नहीं बना कर दूंगी. इससे उन्हें याद रहेगा आपने उन्हें कहना न मानने पर उनकी पसंद की चीज नहीं लेकर दी.

Tags:
COMMENT